Breaking News
Home / खेल / आईपीएल 2020 : केदार जाधव ने बिना छक्का लगाये खेली 59 गेंदे, तोड़ा अनचाहा रिकॉर्ड

आईपीएल 2020 : केदार जाधव ने बिना छक्का लगाये खेली 59 गेंदे, तोड़ा अनचाहा रिकॉर्ड

खेल डेस्क (मा.स.स.). चेन्नई सुपर किंग्स के बल्लेबाज़ केदार जाधव अबू धाबी में कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ खेले गए अपनी पारी के चलते आलोचनाओं के शिकार बने हुए हैं. हाई प्रेशर वाली स्थिति में 12 गेंदों पर 7 रन बनाने वाले जाधव ने भी मैच के बाद अपने नाम एक अनचाहा रिकॉर्ड हासिल कर लिया. जाधव ने बिना छक्का लगाए अब इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2020 में सबसे ज्यादा गेंदों (59) का सामना किया. उन्होंने इस सीजन में सीएसके के लिए सभी छह मैच खेले, लेकिन एक भी सिक्सर नहीं लगा पाए हैं.

इस सूची में जाधव के बाद किंग्स इलेवन पंजाब के बल्लेबाज ग्लेन मैक्सवेल हैं. विस्फोटक ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर ने 56 गेंदों का सामना किया है और अभी तक एक भी छक्का नहीं लगाया है. सनराइजर्स हैदराबाद के केन विलियमसन ने बिना छक्के लगाए 54 गेंदें खेली हैं, जबकि कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान दिनेश कार्तिक ने 48 गेंद खेलकर अभी तक एक भी छक्का नहीं लगाया है.

टीम इंडिया के पूर्व कैप्टन सहवाग ने इस हार के बाद चेन्नई की आलोचना करते हुए तंज कसा कि टीम के खिलाड़ी फ्रेंचाइजी को सरकारी नौकरी की तरह मान रहे हैं. सहवाग ने कहा, “इस लक्ष्य का पीछा किया जाना चाहिए था, लेकिन केदार जाधव और रवींद्र जडेजा द्वारा खेली गई डॉट बॉल ने मदद नहीं की. मेरे ख्याल से चेन्नई सुपर किंग्स के कुछ बल्लेबाज सीएसके को सरकारी नौकरी समझते हैं. चाहे आप प्रदर्शन करें या न करें, उन्हें पता है कि वैसे भी उनका वेतन मिलेगा.” बता दें कि चेन्नई ने आईपीएल नीलामी में जाधव को 7 करोड़ से ज्यादा रुपये में खरीदा है.

41 वर्षीय पूर्व क्रिकेटर ने बल्ले से खराब प्रदर्शन के लिए जाधव को निशाने पर लिया जिन्होंने उन्होंने 12 गेंदों पर केवल 7 रन बनाए. अपनी फेसबुक सीरीज ‘वीरू की बैठक’ में सहवाग ने कहा कि मैन ऑफ द मैच के असली हकदार केदार जाधव हैं. उन्होंने कहा कि केदार जाधव रन करना तो दूर, वो भागना भी नहीं चाहते थे. हालांकि, जाधव का बचाव सीएसके के कोच स्टीफेम फ्लेमिंग ने किया. फ्लेमिंग ने कहा कि जाधव को ऊपर बल्लेबाजी के लिए इसलिए भेजा गया क्योंकि उन्हें लगा कि वह स्पिनरों को हिट करने में सक्षम होंगे. उन्होंने कहा, “उस समय हमने सोचा था कि केदार स्पिनर को अच्छी तरह से खेल सकते हैं और हावी हो सकते हैं. जबकि जडेजा की भूमिका मैच खत्म करने की थी.”

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

चोट के कारण ऑस्ट्रेलिया दौरे से बाहर हुए रोहित, इशांत और भुवनेश्वर

नई दिल्ली (मा.स.स.). करीब 9 महीने के लंबे अंतराल के बाद भारतीय क्रिकेट टीम जब …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *