Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / ब्राजील के राष्ट्रपति ने दी पत्रकार को घूसा मारने की धमकी

ब्राजील के राष्ट्रपति ने दी पत्रकार को घूसा मारने की धमकी

अंतर्राष्ट्रीय डेस्क (मा.स.स.). कोरोना काल में अपने बयानों को लेकर विवाद में रहने वाले ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो एक बार फिर से अपने विवादास्पद बयान को लेकर चर्चा में हैं। ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो ने एक पत्रकार को सबके सामने पंच मारकर मुंह तोड़ने की धमकी दे दी। दरअसल, पत्रकार ने बस उनसे एक योजना से जुड़े भ्रष्टाचार में उनकी पत्नी के लिंक के होने के दावों के बारे में सवाल किया था।

‘ओ ग्लोबो’ के रिपोर्टर के सवाल का जवाब देते हुए राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो ने कहा, ‘मैं तुम्हारे मुंह पर घूंसे मारना चाहता हूं।’ हैरानी की बात है कि ब्राजील के राष्ट्रपति ने सबके सामने रिपोर्टर को ऐसा कहा। दरअसल, रिपोर्टर एक समूह का हिस्सा था, जो ब्राजीलिया में मेट्रोपॉलिटन कैथेड्रल में अपनी नियमित यात्रा के बाद जायर बोलसोनारो से मिला था।राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो के इस धमकी से वहां मौजूद अन्य पत्रकारों ने उनके खिलाफ विरोध-प्रदर्शन करना शुरू कर दिया, मगर जायर बोलसोनारो ने उनके विरोध-प्रदर्शन को अनदेखा कर वहां बिना कुछ बोले निकल गए।

दरअसल, ओ ग्लोबो के पत्रकार ने मैग्जीन क्रूजो में छपी एक खबर के आधार पर राष्ट्रपति से सवाल किया था। मैग्जीन में जो खबर छपी थी, उसमें ब्राजील की फर्स्ट लेडी मिशेल जायर बोलसोनारो और एक रिटायर्ड पुलिस अफसर फैब्रिकियो क्यूरीज के लिंक को लेकर सवाल खड़े हैं। बता दें कि फैब्रिकियो क्यूरिज फिलहाल राष्ट्रपति के दोस्त हैं और उनके बेटे फ्लावियो बोलसोनारो के पूर्व सलाहकार रह चुके हैं, जो कि वर्तमान में सीनेटर हैं।

ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो ने कहा था कि कोरोना वायरस से कुछ लोग मरेंगे, निश्चत तौर पर कुछ लोग मरेंगे, यही जीवन है। आप सड़क दुर्घटना की वजह से कार फैक्ट्री को बंद नहीं कर सकते।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

धार्मिक कट्टरता का आरोप लगा जर्मनी ने मुस्लिम महिला को नागरिकता देने से किया इनकार

बर्लिन (मा.स.स.). जर्मनी में एक शरणार्थी मुस्लिम व्यक्ति ने महिला अधिकारी से धार्मिक आधार पर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *