मंगलवार , मई 18 2021 | 04:49:48 AM
Breaking News
Home / राज्य / उत्तरप्रदेश / उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव परिणाम – 2021

उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव परिणाम – 2021

अलीगढ़ जिला पंचायत सदस्य पदों की मतगणना 30 घंटे बाद भी पूरी नहीं हुई है। दोपहर दो बजे तक प्रशासनिक स्तर पर इसके नतीजे घोषित नहीं हुए हैं। सपा जिलाध्यक्ष गिरीश यादव ने आरोप लगाया है कि कुछ सीटों पर भाजपा प्रत्याशियों को जिताने के लिए परिणाम घोषित करने में अनावश्यक देरी की जा रही है। इससे किसी भी तरह की गड़बड़ी की आशंका बढ़ गई है। वहीं जिला निर्वाचन कार्यालय के सहायक निवार्चन अधिकारी कौशल कुमार का कहना था कि सभी 12 मतगणना स्थलों के आरओ एआरओ के माध्यम से परिणाम मिलने के बाद ही उसकी आधिकारिक घोषणा की जाएगी।

पथरा के मिठवल ब्लॉक क्षेत्र के ग्राम पंचायत बरगदवा के मतगणना में परिणाम आया तो सबकीं आंखें नम हो गईं। जीते हुए प्रत्याशी के पक्ष में जैसे जैसे मतपत्रों की संख्या बढ़ रही थी, वैसे ही समर्थक सिसक रहे थे। वजह ये थी कि जिस प्रत्याशी को जीत मिली, वे बीमारी के कारण चार दिन पहले ही दम तोड़ चुके थे। इस मौके पर जीतने और हारने वाले सभी लोगोंं के चेहरे लटक गए। मिठवल ब्लॉक क्षेत्र के ग्राम पंचायत बरगदवा के लिए प्रधान पद के प्रत्याशी रहे राजेश चौधरी उर्फ गुड्डू  की मौत मतगणना से चार दिन पहले ही हो गई। दो मई को मतगणना में जो परिणाम आया, उसमें प्रथम स्थान पर मृतक राजेश चौधरी का ही नाम सामने आया।

जौनपुर में पत्नी की जीत के लिए उन्होंने पूरी ताकत झोंक दी। दिन-रात चुनाव प्रचार में जुटे रहे। रूठों को मनाने और उनका समर्थन पाने के लिए क्या कुछ नहीं किया। जनता ने बड़ी जीत के रूप में आशीर्वाद भी दिया, लेकिन पत्नी के जीत की यह खुशी देखने से पहले ही उनकी सांस थम गई। मामला केराकत ब्लॉक के भौरा गांव का है।

पूर्व कैबिनेट मंत्री हाजी रियाज़ अहमद के बाद उनकी पुत्री पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष रुकैया आरिफ का भी निधन। बरेली के एक निजी अस्पताल में हुई मौत, कई दिन से ऑक्सीजन चल रहा था इलाज, प्लाज्मा की थी जरूरत, इस बार भी पंचायत चुनाव में जिला पंचायत सदस्य पद पर लड़ रही थी चुनाव।

बुलंदशहर में जिला पंचायत के 52 वार्ड के परिणाम अभी तक पूरी तरह से जारी नहीं किए जा सके हैं। स्थिति यह है कि सोमवार दोपहर डेढ़ बजे तक जिला पंचायत के केवल तीन वार्डों के परिणाम ही जारी किए गए हैं। जिला पंचायत चुनाव के रिटर्निंग ऑफिसर व सिटी मजिस्ट्रेट जगदंबा सिंह के मुताबिक अभी तक अरनिया प्रथम वार्ड 29 पर संदीप कुमार, अरनिया द्वितीय वार्ड 30 पर सवेश कुमारी उर्फ सर्वेश कुमारी और अरनिया तृतीय वार्ड 31 पर अंकित कुमार को विजयी घोषित किया गया है। जिसके बाद तीनों विजेता प्रत्याशियों को प्रमाण पत्र देने के लिए आरओ ने जिला कार्यालय बुलाया है।

गोरखपुर में वार्ड नंबर 19 से भाजपा प्रत्याशी व पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष साधना सिंह ने 7210 मतों के अंतर से चुनाव जीत लिया है। वह भाजपा विधायक फतेहबहादुर सिंह की पत्नी हैं। इस बार भी जिला पंचायत अध्यक्ष की प्रबल दावेदार बताई जा रही हैं।

औरैया जिले में सहार द्वितीय से बसपा समर्थित जिला पंचायत सदस्य अंकुल यादव 6681 मत पाकर जीते। भाजपा समर्थित प्रत्याशी गिर्जाशंकर राजपूत को 5230 वोट मिले।

बांदा में जिला पंचायत सदस्य वार्ड नंबर-30 बिसंडा चतुर्थ से बसपा समर्थित प्रत्याशी शिवकरण दिनकर 5629 मत पाकर जीते। उन्होंने निकटतम सपा समर्थित पुष्पा दिवाकर को 1369 मतों से हराया।

सहारनपुर जिला पंचायत सदस्य पदों पर भाजपा के कई प्रत्याशी जीत की तरफ बढ़ रहे हैं। इनमें वार्ड 1, 2, 3, 4, 19, 25, 28, 29, 31, 33, 35 और वार्ड 44 पर भाजपा के प्रत्याशी आगे चल रहे हैं। कांग्रेस के प्रत्याशी 9 सीटों पर आगे चल रहे हैं, जिनमें वार्ड 7, 8, 10, 16, 22, 23 और वार्ड 39 पर बढ़त बनाए हुए हैं।

कुशीनगर पंचायत चुनाव के मतगणना कार्य के दूसरे दिन पडरौना ब्लॉक में निर्वाचित हुए कई उम्मीदवारों को जीत के बाद प्रमाण पत्र समय से नहीं मिलने पर उम्मीदवारों ने मतगणना स्थल पर ही बवाल काटा। इस दौरान मौजूद पुलिस के जवानों ने उम्मीदवारों को गणना स्थल के बाहर किया। इस दौरान मठिया रायपुर के निर्वाचित प्रत्याशी देवेंद्र गुप्ता, शामपुर हतवा से सुमन देवी के अलावा जिला पंचायत सदस्य के निर्वाचित घोषित प्रत्याशी हीरा समेत कई लोग शामिल रहे।

कानपुर के सरसौल विकास खंड क्षेत्र में जिला पंचायत की चार सीटों के परिणाम घोषित हो गए हैं। सिकठिया से भाजपा समर्थित कमलेश निषाद ने निर्दलीय अखिलेश सिंह को हराया। सरसौल से सपा समर्थित मीना वर्मा ने भाजपा की सरोजनी देवी को हराया। नर्वल सीट में सपा के मनोज यादव विजयी रहे। पाली भोगीपुर में भाजपा के रवि राज वर्मा जीते।

बांदा जिले में बिसंडा ब्लॉक के वार्ड नंबर-28 से जिला पंचायत सदस्य कमलेश साहू विजयी घोषित। प्रतिद्वंदी प्रत्याशी पीसी पटेल को 300 मतों से हराया।

गजरौला के गांव नौनेर में दो प्रत्याशियों के बीच हार जीत का फैसला पर्ची के माध्यम से हुआ। नोडल अधिकारी संजय बंसल ने पर्ची डालकर एक बालिका से उसे उठवाया। इसमे अंशु जीत गईं।

आगरा जिले में 27 घंटे से जारी मतगणना के बाद सोमवार सुबह 11 बजे तक 458 ग्राम प्रधान, 714 क्षेत्र पंचायत सदस्य एवं 168 ग्राम सदस्य समेत कुल 1340 पदों का परिणाम घोषित हो चुका है। जिले के 15 ब्लॉक में कुल 2417 पदों के लिए मतगणना हो रही है। 1077 पदों का परिणाम आना अभी शेष है। 27 घंटे से जारी मतगणना के बाद जिला पंचायत के 51 वार्ड में किसी सदस्य का परिणाम घोषित नहीं हो सका है।

औरैया जिले में सदस्य जिला पंचायत अजीतमल द्वतीय से भाजपा प्रत्याशी विश्वप्रताप सिंह उर्फ सोनू सेंगर 6285 मत पाकर विजयी हुए। दूसरे स्थान पर बसपा के अमरजीत को मिले 5647 मत।

हापुड़ के हाफिजपुर थाना क्षेत्र के मुरशेदपुर गांव में विजयी जुलूस निकालने पर हंगामा हो गया। जीते हुए प्रधान जहीर ने विजय जुलूस निकाला। यह विजयी जुलूस हारे हुए प्रत्याशी के घर के सामने निकाला। दोनों पक्षों में जमकर मारपीट हुई। पुलिस ने 15 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है। 7 लोग गिरफ़्तार किए गए हैं।

वाराणसी जिला पंचायत में भाजपा का खाता खुल गया है। जिले का पहला परिणाम घोषित हो गया है। चोलापुर ब्लाक के सेक्टर नंबर 2 से जिला पंचायत सदस्य पद पर भाजपा प्रत्याशी अंजनी नंदन पांडेय जीत गए हैं। निकटतम प्रतिद्वंदी दिलावर सिंह यादव को 1151 वोटों से हरा दिया है।

मैनपुरी के घिरोर ब्लॉक के वार्ड संख्या 18 से जिला पंचायत सदस्य पद की प्रत्याशी सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की भतीजी संध्या यादव चुनाव हार गई हैं। उन्हें प्रमोद कुमार ने हराया। संध्या यादव को 5998 वोट मिले। वहीं प्रमोद कुमार को 7905 वोट मिले। इस सीट पर कुल सात प्रत्याशी मैदान में थे। संध्या यादव भाजपा समर्थित प्रत्याशी हैं।

हापुड़ जिले के सिंभावली ब्लॉक के गांव बदरखा में प्रधान प्रत्याशी तहसीना और अम्बार को बराबर वोट मिले हैं। दोनों को 813-813 वोट मिले हैं। अब दोनों के बीच ड्रा होगा।

बस्ती जिले के बनकटी में मतगणना का निरीक्षण करने पहुंची जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने भीड़ देखकर कड़ी नाराजगी जताई है। शारीरिक दूरी का पालन ना होते देख पुलिस ने भी लोगों पर लाठियां भांजी और मतगणना स्थल से खदेड़ कर दूर भगाया। एसपी आशीष श्रीवास्तव ने स्थानीय पुलिस को निर्देशित किया कि मतगणना स्थल के पास बेवजह लोगों की भीड़ जमा होने पाए और शारिरिक दूरी का पालन कराया जाए।

गोरखपुर के बड़हलगंज में कर्मचारियों की कमी के चलते ढाई घंटे से मतगणना प्रभावित है। वहीं, कानपुर नगर में शिवराजपुर के नदिया बुजुर्ग ब्लॉक से आदर्श मिश्रा ग्राम प्रधान बन गए हैं। आदर्श को 1101 वोट मिले हैं। जबकि दूसरे नंबर पर रहे नहर सिंह को 625 वोट मिले हैं।

कानपुर: बिधनू ब्लाक में किन्नर काजल किरन ने ग्राम प्रधान के पद पर जीत की दर्ज। शहर में राजनीति करने के दौरान काजल किरन नौबस्ता पशुपति नगर वार्ड 48 से पार्षद रह चुकी है।

कानपुर नगर : पंचायत चुनाव के नर्वल ब्लॉक से पहला चुनाव परिणाम आया है। यहां पर सेन पश्चिम पारा ग्राम पंचायत से किन्नर काजल किरण ने प्रधान पद पर जीत दर्ज की है।

कानपुर : बिकरू में 25 साल के बाद उदय हुआ नया सूरज, प्रधान पद पर मधु ने जीत हासिल की।

कानपुर देहात: मलासा विकासखंड ग्राम पंचायत पचलख प्रधान पद के प्रत्याशी श्री नारायन 596 मत पाकर विजयी हुए।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

उ.प्र. सरकार ने एक सप्ताह और बढ़ाया लॉकडाउन

लखनऊ (मा.स.स.). उत्तर प्रदेश में पूर्व से जारी कोरोना लॉकडाउन को 17 मई तक बढ़ा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *