गुरुवार , अक्टूबर 28 2021 | 04:34:25 PM
Breaking News
Home / अन्य समाचार / कोरोना को देखते हुए उठी बोर्ड की परीक्षाओं को रद्द करने की मांग

कोरोना को देखते हुए उठी बोर्ड की परीक्षाओं को रद्द करने की मांग

नई दिल्ली (मा.स.स.). देश में कोरोना महामारी तेजी से पैर पसार रही है। देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते केस के कारण बोर्ड परीक्षाएं स्थगित करने की मांग उठने लगी हैं। इसके लिए ट्विटर पर #cancleboardexams2021 ट्रेंड चलाया जा रहा है। कई यूजर्स 10वीं और 12वीं के स्टूडेंटस को प्रमोट करने और बिना परीक्षा के ही पास करने की भी मांग कर रहे हैं। ऐसे में छत्तीसगढ़ सरकार ने 15 अप्रैल से शुरू होने वाली 10वीं बोर्ड की परीक्षा को स्थगित करने का फैसला लिया है। इससे पहले पंजाब सरकार ने भी अपने यहां बोर्ड परीक्षा स्थगित किया है। वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मांग की है कि सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं या तो रद कर जाएं या फिर उन्हें कोविड-19 के हालात को देखते हुए इस तरह कराया जाए।

छत्तीसगढ़ में कोरोना से हाहाकार मचा हुआ है। रायपुर और दुर्ग में लॉकडाउन है। हर दिन यहां नौ हजार से ज्यादा मरीज मिल रहे हैं। इसके साथ ही मृतकों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। अब सीएमओ ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर की तरफ से राज्य में कोरोना के बढ़ते संक्रमण और कई जिलों में लॉकडाउन की स्थिति को ध्यान में रखते हुए कक्षा 10वीं की दिनांक 15 अप्रैल 2021 से प्रारंभ होने वाली बोर्ड परीक्षा स्थगित कर दी गई है। इससे लाखों को छात्रों को बड़ा झटका लगा है।

पहले कयास लगाए जा रहे थे कि कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच ये परीक्षाएं ऑनलाइन ली जाएंगी, लेकिन बोर्ड ने साफ कर दिया है कि परीक्षाएं ऑनलाइन नहीं होगी। सभी को सशरीर परीक्षा केंद्र पर उपस्थित होना होगा। अब बोर्ड परीक्षा के लिए छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल फिर से नई तारीख जारी करेगी। वहीं, संक्रमण को देखते हुए बच्चों के अभिभावक भी लगातार यह मांग कर रहे थे कि परीक्षा स्थगित कर दी जाए। अब भूपेश सरकार ने अभिभावकों की मांग मान ली है। उसके बाद सभी लोगों ने राहत की सांस ली है।

पंजाब में कोरोना के चलते बोर्ड परीक्षा की तारीखों में भी बदलाव किया गया। यहां बोर्ड परीक्षाएं पहले 22 मार्च से 9 अप्रैल के बीच होने वाली थी। लेकिन, अब नए आदेश के अनुसार, अब कक्षा 10वीं की परीक्षाएं 4 मई से 24 मई के बीच होगी और कक्षा 12वीं की परीक्षाएं 20 अप्रैल से 24 मई के बीच आयोजित की जाएंगी। कोरोना के केस बढ़ने के कारण मध्य प्रदेश में भी बोर्ड परीक्षाओं पर तलवार लटकने लगी है। यहां बोर्ड परीक्षाएं 30 अप्रैल से शुरू होनी हैं। लेकिन इस फैसला 12 अप्रैल को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में होगा।

सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं भी 4 मई से शुरू होने वाली हैं, जिसे टालने की मांग भी उठने लगी है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए तमाम छात्र ट्विटर पर कैंसिल बोर्ड एग्जाम 2021, कैंसिल आवर सीबीएसई बोर्ड एग्जाम 2021 का ट्रेंड चला रहे हैं और इसे केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को टैग कर रहे हैं। फिलहाल बोर्ड ने परीक्षा शेड्यूल को बदलने या टालने को लेकर कोई फैसला नहीं किया है। बोर्ड ने छात्रों की परेशानी और तनाव को समझते हुए आश्वासन दिया है कि परीक्षाएं कोविड नियमों के साथ सुरक्षित वातावरण में आयोजित करवाई जाएंगी।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने देश में कोरोना के मौजूदा हालात पर कहा कि सीबीएसई छात्रों को बोर्ड की परीक्षा में शामिल होने के लिए दबाव डालकर गैरजिम्मेदाराना रवैया अपना रही है। साथ ही उन्होंने इन परीक्षाओं को या तो रद करने या फिर ऑनलाइन कराने की मांग की है। प्रियंका ने शुक्रवार को ट्वीट करके कहा कि देश में सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं या तो रद कर जाएं या फिर उन्हें कोविड-19 के हालात को देखते हुए इस तरह कराया जाए कि बच्चों को परीक्षा केंद्रों तक न जाना पड़े। उन्होंने कहा कि मौजूदा परिस्थितियों में सीबीएसई जैसे बोर्डों को छात्रों को परीक्षा देने के लिए बाध्य करना बेहद गैरजिम्मेदाराना है। बोर्ड की परीक्षाएं या तो रद कराई जाएं, या बाद में कराई जाएं या फिर इस तरह व्यवस्थित की जाएं कि बच्चों को भीड़भाड़ वाले परीक्षा केंद्रों में न जाना पड़े।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

पुस्तक समीक्षा : संभावना जगाता सार्थक काव्य संकलन ‘सृजन सरोवर’

  कृति  ‘सृजन सरोवर‘ प्रधान संपादक: सुरेंद्र कुमार सैनी  प्रकाशक : नवसृजन साहित्यिक संस्था रुड़की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *