मंगलवार , मई 18 2021 | 04:30:31 AM
Breaking News
Home / राज्य / जम्मू और कश्मीर / सुरक्षाबलों ने सिर्फ 3 दिन में मारे 12 आतंकवादी, एक नाबालिग दहशतगर्द भी

सुरक्षाबलों ने सिर्फ 3 दिन में मारे 12 आतंकवादी, एक नाबालिग दहशतगर्द भी

जम्मू (मा.स.स.). कश्मीर में आतंकवादियों के खिलाफ शनिवार से शुरू किया गया सुरक्षाबलों का अभियान अखिरकार समाप्त हो गया। जिला शोपियां के चित्रीगाम व जिला अनंतनाग के बिजबिहाड़ा इलाकों में गत शनिवार से जारी मुठभेड़ आज रविवार को पांच आतंकियों की मौत के साथ समाप्त हो गई। सुरक्षाबलों ने जिला शोपियां में तीन जबकि बिजबिहाड़ा में दो आतंकवादियों को मार गिराया। शोपियां में मारे गए तीन आतंकवादियों में 14 वर्षीय आतंकी के अलावा अलबदर का जिला कमांडर भी शामिल था।

आइजीपी विजय कुमार ने बताया कि बिजबिहाड़ा में मारे गए दोनों आतंकियों ने ही गत दिनों टेरिटोरियल आर्मी के जवान मोहम्मद सलीम अखून को शहीद किया था। दो दिनों के भीतर ही सुरक्षाबलों ने उनकी शहादत का बदला ले लिया। मारे गए आतंकवादियों के शवों व उनसे बरामद हथियारों को अपने कब्जे में लेने के बाद सुरक्षाबलों ने दोनों ऑपरेशन के समाप्त होने की घोषणा की। पिछले तीन दिनों की बात करें तो कश्मीर घाटी में आतंकवाद के खिलाफ अभियान चला रहे सुरक्षाबलों ने अब तक 12 आतंकियों को मार गिराया है।

वहीं आइजीपी कश्मीर विजय कुमार ने शोपियां में तीन और अनंतनाग मुठभेड़ में एक आतंकी के मारे जाने की पुष्टि करते हुए जम्मू-कश्मीर पुलिस व सुरक्षाबलों को इस सफलता के लिए बधाई दी है। उन्होंने यह भी कहा कि आतंकियों को बार-बार आत्मसमर्पण करने के लिए कहा गया। उन्हें मनाने के लिए उनके परिजनों की मदद भी ली गई परंतु वे नहीं माने। लिहाजा उन्हें मार गिराया गया। शोपियां के चित्रीगाम कलां मुठभेड़ के शुरू होने के एक घंटे के भीतर ही एक आतंकवादी को मार गिराया गया था। दो अन्य आतंकी भी सुरक्षाबलों के घेरे में थे।

अंधेरा होने की वजह से आसपास रहने वाले लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ को सुबह होने तक टालने का निर्णय लिया। इस बीच सुरक्षा घेरे को और मजबूत कर दिया गया। सुरक्षाबलों को पता चला कि घेराबंदी में फंसे हुए आतंकियों में एक 14 साल का आतंकी फैसल गुलजार गनई भी है। यह लड़का कुछ ही दिन पहले घर से भाग कर आतंकियों से जा मिला था। सुरक्षाबलों ने तुरंत उसके परिजनों को बुलाया और उसे साथियों सहित आत्मसमर्पण करने के लिए कहा। सैन्य सूत्रों का कहना है कि पहले तो फैसल आत्मसमर्पण करने के लिए तैयार हुआ परंतु उसके साथ मौजूद अलबदर कमांडर आसिफ शेख ने उसे ऐसा करने से रोक दिया।

आज तड़के एक बार फिर सुरक्षाबलों ने फैसल के परिजनों को उसे आत्मसमर्पण करने के लिए मनाने का मौका दिया परंतु इस बार फैसल ने ही इससे इंकार कर दिया। दोनों ओर से जारी गोलीबारी के बीच सुरक्षाबलों ने दोनों आतंकियों को ढेर कर दिया। मारे गए तीनों आतंकियों की पहचान अलबदर का जिला कमांडर आसिफ अहमद गनी निवासी चित्रीग्राम कलन शोपियां, 14 वर्षीय आतंकी फैसल गुलजार गनी निवासी चित्रीगाम कलन और उबैद अहमद निवासी गनोवपोरा शोपियां के रूप में हुई है। हालांकि अधिकारिक तौर पर पुलिस ने मारे गए आतंकियों की पहचान जाहिर नहीं की है।

मुठभेड़ स्थल से भारी मात्रा में हथियार व गोलाबारूद भी बरामद हुआ है। इलाके में सुरक्षाबलों का सर्च ऑपरेशन जारी है। प्रशासन ने एहतियात के तौर पर शोपियां में मोबाइल इंटरनेट सेवा पर कुछ देर के लिए रोक लगा दी है। बीते तीन दिनों के दौरान दक्षिण कश्मीर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच चार मुठभेड़ हुई हैं। इनमें अब तक 12 आतंकी मारे गए हैं। इससे पूर्व जान मोहल्ला शोेपियां में वीरवार की शाम से शुक्रवार सुबह तक चली मुठभेड़ में पांच आतंकी मारे गए जबकि नौबुग त्राल में शुक्रवार को हुई मुठभेड़ में दो, जबकि शोपियां में तीन व अनंतनाग में 2 आतंकियों को मार गिराया गया है।

दिलबाग सिंह ने भी 72 घंटे के भीतर चार अलग-अलग मुठभेड़ों में 12 आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि करते हुए कहा कि ये आतंकी अंसार गजवत-उल-हिंद (एजीयूएच), अल-बद्र, लश्कर-ए-तैयबा व द रजिस्टेंस फ्रंट के थे। शोपियां से मिली जानकारी के अनुसार, चित्रीगाम इलाके में गत शाम का सुरक्षाबलों ने एक विशेष सूचना के आधार पर तलाशी अभियान चलाया। यह इलाका जिला कुलगाम के हडीपोरा के साथ सटा हुआ है। तलाशी लेते हुए जवान जब गांव के बाहरी छोर पर एक बाग के पास पहुंचे तो वहां छिपे आतंकियों ने उन पर फायरिंग कर दी। जवानों ने भी खुद को बचाते हुए जवाबी फायर किया और फिर मुठभेड़ शुरु हो गई। दो जवान भी जख्मी हुए हैं और उन्हे उपचार के लिए सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

वहीं दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के बिजबेहाड़ा क्षेत्र के सेमथान गांव में भी मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने 2आतंकियों को मार गिराया। सुरक्षाबलों ने बताया कि छिपे हुए आतंकियों को बार-बार आत्मसमर्पण करने के लिए कहा गया परंतु वे नहीं माने। अभियान में जम्मू-कश्मीर पुलिस की एसओजी, सेना की 03 आरआर और सीआरपीएफ के जवान शामिल थे। यहां भी एहतियात के तौर पर इंटरनेट सेवा बंद की गई है। आपको बता दें कि इस वर्ष अब तक सुरक्षाबलों ने घाटी में 36 आतंकवादियों को मार गिराया है। इनमें ज्यादातर शोपियां जिले के हैं।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी सफलता, सिर्फ 24 घंटे में मार गिराए 7 आतंकवादी

जम्मू (मा.स.स.). जम्मू-कश्मीर के दो-दो इलाकों, त्राल और शोपियां में आतंकियों और सुरक्षाबलों की बीच …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *