रविवार , मई 16 2021 | 04:25:03 AM
Breaking News
Home / राज्य / दिल्ली / अरविंद केजरीवाल ने की सीबीएसई परीक्षाएं रद्द करने की अपील

अरविंद केजरीवाल ने की सीबीएसई परीक्षाएं रद्द करने की अपील

नई दिल्ली (मा.स.स.). दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि अगर राष्ट्रीय राजधानी को कोरोना का हॉटस्पॉट बनने से बचाना है तो केंद्रीय माध्यमिक परीक्षा बोर्ड (CBSE) की परीक्षाओं को रद्द करना होगा। उन्होंने केंद्र सरकार से 10वीं और 12वीं बोर्ड के एग्जाम लेने के फैसले को वापस लेने की अपील की। मुख्यमंत्री ने कहा कि लाखों परीक्षार्थियों और करीब 1 लाख शिक्षकों के परीक्षा में शामिल होने का मतलब है कि दिल्ली में कोरोना हॉटस्पॉट्स बन जाएंगे और फिर हालात को संभाल पाना नामुमकिन हो जाएगा।

केजरीवाल
ने कहा, “दिल्ली में 6 लाख बच्चे सीबीएसई के एग्जाम में बैठेंगे। 1 लाख शिक्षक परीक्षा लेंगे। इससे दिल्ली में कोरोना के हॉटस्पॉट्स बनेंगे। केंद्र सरकार से हाथ जोड़कर अपील है कि सीबीएसई के एग्जाम कैंसल किए जाएं।” उन्होंने परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा आयोजित करने की जगह दो विकल्प भी सुझाए। केजरीवाल ने कहा कि इंटरनल असेसमेंट या ऑनलाइन एग्जाम का विकल्प निकाला जा सकता है। इस साल बच्चों को इन्हीं तरीकों से अगली कक्षा में भेजने का फैसला होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा, “दुनिया के कई देशों के उदाहरण देख रहा था, उन्होंने दूसरी लहर में एग्जाम कैंसल कर दिए। हमारे देश में भी कई राज्यों ने बोर्ड एग्जाम कैंसल कर दिए।”

दिल्ली में कोविड मरीजों के इलाज की सुविधाओं पर बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कई अस्पतालों को पूरी तरह कोविड अस्पताल ही बना दिया गया है। उन्होंने कहा कि अभी अस्पतालों में कोविड मरीजों के लिए स्पेशल बेड की कमी नहीं है, लेकिन हालात तेजी से बदले तो दिक्कत हो सकती है। इसलिए उन्होंने उन मरीजों और उनके परिजनों से भी घर जाने की अपील की जिनकी हालत इलाज के बाद स्थिर हो गई है। उन्होंने कहा, “घर भेजकर हम पल्ला नहीं झाड़ रहे हैं। आप घर जाएंगे तो भी डॉक्टर आपके संपर्क में रहेंगे। आपका हाल-चाल लेते रहेंगे और स्थिति बिगड़ेगी तो दुबारा अस्पताल बुला लिए जाएंगे। अगर आप इस हालत में हैं कि घर में जाकर रह सकते हैं तो दूसरों के लिए हॉस्पिटल बेड खाली कर दें। उनकी भी जान बचानी है, उनका भी इलाज करना है।”

मुख्यमंत्री ने कोरोना की नई लहर को पहले से ज्यादा खतरनाक बताते हुए लोगों से कोरोना गाइडलाइंस का पालन करने की अपील की। उन्होंने कहा, “इस बार की कोरोना लहर बहुत ज्यादा खतरनाक है। इस लहर में युवा और बच्चे ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं। इस बार 65 प्रतिशत मरीज 45 साल से कम उम्र के है। मेरा युवाओं से निवेदन है कि जब भी आप घर से बाहर निकले कोविड दिशानिर्देशों का सख़्ती से पालन करे।” ध्यान रहे कि दिल्ली में लगातार तीसरे दिन 10 हजार से ज्यादा नए कोरोना केस सामने आए हैं। राजधानी में दिनभर में 11,491 नए कोरोना केस मिले जबकि 72 मरीजों ने दम तोड़ दिया। चिंता की बड़ी बात यह है कि यहां पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 12.44% तक पहुंच गया है। अभी दिल्ली में कुल 12,008 कोविड बेड हैं। शाम तक इनमें 5,068 बेड खाली थे।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

अब क्राइम ब्रांच करेगी खान चाचा रेस्टोरेंट कांड की जांच

नई दिल्ली (मा.स.स.). देश की राजधानी दिल्ली की लोधी कालोनी के रेस्टोरेंट-बार से 419 ऑक्सीजन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *