बुधवार , दिसम्बर 08 2021 | 01:25:54 PM
Home / राज्य / उत्तरप्रदेश / मालगाड़ी के पटरी से उतरने के कारण कई ट्रेनें निरस्त, कुछ के रूट बदले

मालगाड़ी के पटरी से उतरने के कारण कई ट्रेनें निरस्त, कुछ के रूट बदले

कानपुर (मा.स.स.). नई-दिल्ली हावड़ा रेलवे रूट पर शुक्रवार तड़के एक मालगाड़ी के 22 डिब्बे अचानक पटरी से उतर गए। इससे इस रूट पर ट्रेनों का संचालन ठप हो गया। अप और डाउन दोनों ट्रैक बाधित हो गए हैं। हावड़ा-राजधानी, कानपुर-शताब्दी समेत कई ट्रेनें रद कर दी गई हैं। कई गाड़ियों का रूट बदल दिया गया है। ट्रैक ठीक करने का काम किया जा रहा है। रेलवे ने उच्चस्तरीय जांच कराने के आदेश दिए हैं। हादसे के चलते टूंडला कानपुर के बीच चलने वाली सभी ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है।

दिल्ली से कानपुर की ओर आ रही खाली मालगाड़ी शुक्रवार तड़के करीब चार बजे अंबियापुर-रूरा स्टेशन के बीच बेपटरी हो गई। तेज आवाज के साथ मालगाड़ी के 22 डिब्बे पटरी से उतर गए। दुर्घटना के बाद सभी स्टेशनों को मैसेज दिया गया कि अप और डाउन की सभी ट्रेनें जहां-तहां रोक दी जाएं। कानपुर में हावड़ा-राजधानी, कानपुर-शताब्दी समेत सात ट्रेनें सुबह सवा पांच बजे से ही खड़ी हैं। मालगाड़ी अंबियापुर रेलवे स्टेशन के पास अचानक पटरी से उतर गई। लोको पायलट ने मालगाड़ी को रोकने का प्रयास किया तो मालगाड़ी के वैगन की आपस में टकरा गए। जिसमें 3 वैगन पास से गुजरी दिल्ली-हावड़ा रेल लाइन की पटरियों पर जा गिरे। वहीं, 5 वैगन दूसरी ओर तालाब में जा गिरे।

लोको पायलट व गार्ड ने तुरंत घटना की जानकारी कंट्रोल रूम को दी। हादसे की जानकारी होते ही नई दिल्ली-हावड़ा रेल रूट पर अप व डाउन लाइन पर ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया गया। वहीं, जीआरपी के साथ रेलवे स्टाफ और तकनीकी टीम रेलवे ट्रैक को ठीक करने में जुट गए हैं। डाउन लाइन पर मालगड़ी की बोगियां पटरी से उतरने के कारण झींझक स्टेशन पर दिल्ली से कानपुर की तरफ जा रही ऊंचाहार एक्सप्रेस सुबह 4 बजकर 9 मिनट पर झींझक स्टेशन पहुंची। ट्रेन 7 बजकर 35 मिनट तक स्टेशन पर खड़ी रही। बाद में ट्रेन को अप लाइन पर लाकर वापस इंजन जोड़कर इटावा भेजा गया।

बीते एक माह के अंदर इटावा में भी डीएफसी ट्रैक पर मालगाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हो चुकी है। डेडिकेटेड फ्रेट कारीडोर के तहत टुंडला से कानपुर भाऊपुर तक ट्रैक बिछाने का प्रथम चरण का कार्य पूरा होने पर मालगाड़ी का संचालन शुरू कराया गया था। इसके बाद से लगाता हादसों का सिलसिला जारी है। बीते दिनों इटावा में मालगाड़ी के डिरेल होने से ट्रैक उखड़ गया था और करीब एक सप्ताह तक ट्रैक पर संचालन बंद रहा था। यागराज मंडल के कानपुर टूंडला खंड के कानपुर देहात में अंबियापुर और रूरा स्टेशन के मध्य मालगाड़ी के वैगन पटरी से उतरने के चलते नई दिल्ली हावड़ा रेल रूट पर ट्रेन संचालन रोक दिया गया है। इसके चलते शताब्दी एक्सप्रेस समेत कई ट्रेनों पर असर पड़ा। कानपुर-दिल्ली शताब्दी को निरस्त कर दिया गया है, वहीं दूसरी वीआईपी ट्रेनों के रूट बदल दिए गए।

गाड़ी सं -2034 नई दिल्ली- कानपुर शताब्दी एक्सप्रेस आज नहीं चलेगी। कानपुर से ट्रेनों को वाया कासगंज निकलाने की तैयारी की जा रही है, वहीं इटावा से पहले दिल्ली से आ रही ट्रेनों को टुंडला से डायवर्ट किया जा रहा है। फिलहाल अभी रेलवे अधिकारी नहीं बता रहे हैं कि दिल्ली हावड़ा रेल रूट कबतक बहाल हो पाएगा। घटनास्थल पर डीआरएम भी पहुंच रहे हैं। उत्तर मध्य रेलवे के प्रयागराज मंडल के कानपुर टूंडला रेल मार्ग पर अंबियापुर और रूरा स्टेशन के मध्य मालगाड़ी के वैगन पटरी से उतरने के चलते नई दिल्ली हावड़ा रेल रूट पर ट्रेन संचालन रोक दिया गया है।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

कानपुर के गौरवशाली इतिहास से बुंदेलखंड भी जुड़ा है : धर्मेंद्र प्रधान

कानपुर (मा.स.स.). पिछड़ा हुआ बुंदेलखंड भाजपा की सरकार में विकास की राह पर चल पड़ा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *