रविवार , मई 16 2021 | 05:09:34 AM
Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / अमेरिकी हवाई अड्डे के पास हुई गोलीबारी में 8 की मौत

अमेरिकी हवाई अड्डे के पास हुई गोलीबारी में 8 की मौत

वाशिंगटन (मा.स.स.). अमेरिका के इंडियानापोलिस हवाईअड्डे के पास फेडेक्स केंद्र के बाहर देर रात हुई गोलीबारी में एक बंदूकधारी ने आठ लोगों को मौत के घाट उतार दिया और कई लोगों को घायल कर दिया। मारे गए लोगों में 4 सिख समुदाय के लोग हैं। पुलिस ने बताया कि बाद में हमलावर ने खुद भी गोली मारकर जान दे दी। वैश्विक महामारी के दौरान कुछ हद तक शांत रहने के बाद अमेरिका में बड़े पैमाने पर होने वाली सामूहिक गोलीबारी की यह ताजा घटना है। भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इस घटना पर दुख जताया है।

पुलिस के मुताबिक सिख समुदाय के 4 लोग इस गोलीबारी में मारे गए हैं। इनमें तीन महिलाएं और एक पुरुष शामिल है। स्‍थानीय बिजनसमैन गुरिंदर सिंह खालसा ने इस बारे में जानकारी दी है। मारे गए भारतीयों की पहचान नहीं हो पाई लेकिन भारतीय मूल की एक लॉ स्‍टूडेंट ने बताया कि उनकी दादी अमरजीत कौर जोहल इस गोलीबारी में मारी गई हैं। देर रात को हुई गोलीबारी के बाद पांच लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस प्रवक्ता जेनी कुक ने बताया कि इनमें से एक की हालत गंभीर है। मौके पर दो अन्य लोगों को उपचार के बाद छोड़ दिया गया। फेडेक्स ने बताया कि मृतकों में कंपनी के कर्मचारी भी शामिल हैं। एक प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि वह इमारत के भीतर काम कर रहा था जब उसने एक के बाद एक कई गोलियां चलने की आवाज सुनी।

लेवी मिलर ने डब्ल्यूटीएचआर टीवी को बताया, ‘मैंने एक व्यक्ति को अपने हाथ में राइफल लेकर आते देखा और उसने कुछ बोलते हुए गोलीबारी करनी शुरू कर दी।’ उन्‍होंने कहा, ‘मैं छिपकर बैठ गया ताकि वह मुझे देख न पाए क्योंकि मुझे लगा कि अगर वह देख लेगा तो मुझे गोली मार देगा।’ इससे पहले, पिछले महीने, आठ लोगों को पूरे अटलांटा इलाके के मसाज केंद्रों पर गोली मारी गई थी और 10 लोगों की मौत कोलोराडो के सुपरमार्केट में हुई गोलीबारी में हुई थी।

अकेले इंडियानापोलिस में इस साल में यह गोलीबारी की तीसरी घटना है। जनवरी में एक गर्भवती महिला समेत पांच लोगों की जान चली गई थी और एक व्यक्ति पर मार्च में एक घर में बहस के दौरान तीन वयस्कों और एक बच्चे की हत्या और एक लड़की के अपहरण का आरोप है। पुलिस अब तक हमलावर की पहचान नहीं कर पाई है या यह नहीं बता पाई है कि वह केंद्र का कोई कर्मचारी था या नहीं। उन्होंने कहा है कि , ‘मौके से मिले साक्ष्यों के आधार पर प्रारंभिक जांच से’ लगता है कि हमलावर ने आत्महत्या की है।

कुक ने कहा, ‘हम इस घटना के सही कारणों का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं।’ इंडियानापोलिस पुलिस के क्रेग मैककार्ट ने एनबीसी टुडे को सुबह बताया कि अधिकारियों को अब भी बहुत कम पता है।’ एफबीआई की इंडियानापोलिस कार्यालय के एक प्रवक्ता क्रिस बावेंडर ने कहा कि वे जांच में पुलिस की मदद कर रहे हैं। कुछ कर्मचारियों के परिवार के लोग पास के होटल पर एकत्र होकर उनके बारे में जानने के लिए घंटों खड़े रहे जबकि कुछ के रिश्तेदारों का कहना था कि उन्हें कई घंटों तक अपने प्रियजनों के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली।

इंडियानापोलिस के मेयर जोग होगसेट ने इस बात पर खेद प्रकट किया कि शहर को ‘सामूहिक गोलीबारी की एक और दहला देने वाली घटना का सामना करना पड़ा, हिंसा का ऐसा कृत्य जिसने हमारे आठ पड़ोसियों की जान ले ली।’ गवर्नर एरिक होलकोम्ब ने कहा, ‘ऐसे समय में, न्याय और दुख जैसे शब्द कम पड़ जाते हैं।’ उन्होंने झंडों को 20 अप्रैल तक आधा झुकाने का आदेश दिया। वाइट हाउस ने कहा कि राष्ट्रपति जो बाइडन को गोलीबारी की घटना के ब्यौरे दिए जाएंगे और कहा कि सलाहकार शहर के मेयर और कानून प्रवर्तन अधिकारियों के साथ संपर्क में हैं।

भारतीय मूल के एक व्यक्ति परमिंदर सिंह ने ‘डब्ल्यूटीटीवी’ को बताया कि उनकी भतीजी अपनी कार में चालक सीट पर बैठी थी तभी गोलीबारी शुरू हो गई। उन्होंने बताया कि उसके बाएं हाथ में गोली लगी और वह अभी अस्पताल में है व ठीक है। इस बीच भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने गोलीबारी की घटना पर दुख जताया है और कहा कि मारे गए लोगों में सिख समुदाय के लोग शामिल हैं। उन्‍होंने कहा कि शिकागो में स्थित भारतीय वाणिज्‍य दूतावास सभी के साथ संपर्क में है। सभी पीड़‍ितों को हरसंभव सहायता दी जाएगी।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

चीन, पाकिस्तान को आर्थिक कॉरिडोर के लिए नहीं दे रहा 6 अरब डॉलर

इस्लामाबाद (मा.स.स.). भारत के तमाम विरोध के बावजूद गुलाम कश्मीर में बनाए जा रहे चीन-पाकिस्तान …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *