रविवार , मई 16 2021 | 04:43:29 AM
Breaking News
Home / राज्य / गुजरात / डॉक्टर मां की मौत के कुछ ही घंटे बाद काम पर लौटे

डॉक्टर मां की मौत के कुछ ही घंटे बाद काम पर लौटे

अहमदाबाद (मा.स.स.). ऊपर भगवान और नीचे डॉक्‍टर। बचपन से हमें डॉक्‍टर्स की अहम‍ियत इसी तरह समझाई गई है। कोरोना वायरस महामारी के बीच किस तरह से डॉक्‍टर्स और हेल्‍थ वर्कर्स अपनी जिम्‍मेदारी निभा रहे हैं, उसकी एक बानगी गुजरात से सामने आई है। अपनी मां के निधन के कुछ घंटों बाद ही, दो डॉक्‍टर्स फिर से लोगों की जिंदगियां बचाने में लग गए। उन दो में से एक डॉक्‍टर का कहना है कि उनकी मां कहा करती थी कि इससे बड़ी कोई ड्यूटी नहीं।

डॉ शिल्‍पा पटेल राज्‍य के सरकारी SSG अस्‍पताल के एनॉटमी डिपार्टमेंट में एसोसिएट प्रफेसर हैं। गुरुवार दोपहर साढ़े तीन बजे कोविड-19 आईसीयू में भर्ती उनकी मां ने करीब हफ्ते भर जंग लड़ने के बाद दम तोड़ दिया। 77 साल की कांता अम्‍बालाल पटेल का अंतिम संस्‍कार होने के बाद, डॉक्‍टर ने एक बार फिर से अपनी PPE किट पहनी और काम पर लौट आईं।

डॉ राहुल परमार ने भी अपनी मां कांता परमार (67) को खोया है। कांता ने गांधीनगर में उम्र की वजह से होने वाली परेशानियों के चलते गुरुवार को दम तोड़ा। डॉ राहुल कोविड मैनेजमेंट के नोडल ऑफिसर हैं और केंद्रीय गुजरात के सबसे बड़े अस्‍पताल में डेड बॉडी डिस्‍पोजल टीम का हिस्‍सा भी हैं। उन्‍होंने मां का अंतिम संस्‍कार करने के बाद शुक्रवार को ड्यूटी जॉइन कर ली। परमार ने कहा, “यह प्राकृतिक मौत थी। मैंने परिवार संग अंतिम संस्‍कार पूरा किया और वडोदरा लौट आया।”

गुजरात उन राज्‍यो में से एक है जहां कोविड-19 के मामले बढ़ रहे हैं। पिछले 24 घंटे के दौरान वहां कोरोना वायरस के 9,541 नए मामले सामने आए हैं। राज्य में अब तक संक्रमित हुए मरीजों की संख्या बढ़कर 3,94,229 हो गई है। गुजरात में अब तक 3,33,564 मरीज ठीक हो चुके हैं जो कुल मरीजों का 84.61 प्रतिशत है। राज्‍य में 55,398 मरीजों का इलाज चल रहा है जिनमें से 304 वेंटिलेटर पर हैं।

97 लोगों की मौत दर्ज की गई। महामारी से सबसे अधिक 26 मौत सूरत में हुईं जबकि अहमदाबाद में 25, राजकोट में 10, वड़ोदरा में आठ, सुरेंद्रनगर में छह लोगों की जान गई। बाकी लोगों की मौत अन्य जिलों में हुई। राज्य में महामारी से मरने वालों की संख्या बढ़कर 3,783 हो गई है।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

पति आरिफ खान के दहेज उत्पीड़न से परेशान होकर आयशा ने की आत्महत्या

अहमदाबाद (मा.स.स.). आयशा ने सुसाइड करने से पहले एक इमोशनल वीडियो बनाया, जिसमें वे परिवार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *