बुधवार , दिसम्बर 08 2021 | 01:08:02 PM
Home / राज्य / उत्तरप्रदेश / जिला अदालत में वकील की गोली मार कर हत्या, हत्यारा आराम से निकला

जिला अदालत में वकील की गोली मार कर हत्या, हत्यारा आराम से निकला

लखनऊ (मा.स.स.). उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में दिनदहाड़े कोर्ट के अंदर वकील की गोली मारकर हत्या कर दी गई। वह थाना सदर बाजार स्थित तीसरी मंजिल में बने ACJM ऑफिस गए थे। आरोपी ने वकील को पीछे से सिर में गोली मारी। इसके बाद वह तमंचा मौके पर छोड़कर भाग निकला। बाद में डीएम और एसपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि जमीन विवाद को लेकर वकील की हत्या किए जाने की आशंका है। वैसे, हर पहलू पर जांच की जा रही है।

सोमवार को यह वारदात करीब 11 बजकर 45 मिनट पर हुई। वकील भूपेंद्र प्रताप सिंह (60) कोर्ट की तीसरी मंजिल में ACJM ऑफिस की ओर जा रहे थे, तभी किसी ने तमंचे से उन पर फायर कर दिया। गोली सिर के पिछले हिस्से में लगी। मौके पर ही उनकी मौत हो गई। उधर, कोर्ट परिसर में वकील की हत्‍या को लेकर वकीलों में काफी गुस्सा है। वकील प्रदर्शन और सड़क पर जाम लगाकर अपने गुस्‍से का इजहार कर रहे हैं। वकील भूपेंद्र प्रताप 3 भाइयों में सबसे छोटे थे। बड़े भाई योगेंद्र प्रताप हैं, मंझले भाई महेन्द्र प्रताप हैं। योगेंद्र ने हत्या की तहरीर दी है। इसमें उन्होंने चौक कोतवाली क्षेत्र के एक ही परिवार के तीन लोगों पर आरोप लगाया है। उनका कहना है कि छोटे भाई भूपेंद्र प्रताप का इन लोगों के साथ संपत्ति को लेकर मुकदमा चल रहा था।

जिस वक्त वारदात हुई, उस वक्त ऑफिस में कोई मौजूद नहीं था, इसलिए काफी देर तक किसी को कुछ पता नहीं चल सका। बाद में एक क्लर्क वहां पहुंचा, तो भूपेंद्र सिंह जमीन पर पड़े हुए थे और उनके सिर से खून निकल रहा था। सूचना मिलते ही SP एस आनंद, DM इंद्र विक्रम सिंह मौके पर पहुंचे। पुलिस अब कोर्ट के CCTV फुटेज खंगाल रही है। कोर्ट परिसर में तमंचे के साथ दाखिल होने पर सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े हो रहे हैं। पुलिस का कहना है कि CCTV फुटेज से स्पष्ट हो सकेगा कि चूक कहां हुई। इससे यह भी पता चल सकेगा कि आरोपी बाहर का है या कोर्ट परिसर का ही है। उसका कितने दिनों से यहां आना-जाना था, इसकी भी जांच की जा रही है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और बसपा अध्‍यक्ष मायावती ने योगी सरकार पर सवाल खड़े किए हैं। प्रियंका गांधी ने एक ट्वीट करते हुए कहा है कि यूपी में अपराध पर कोई लगाम नहीं है। वहीं, मायावती ने कहा कि यह वारदात भाजपा सरकार में कानून-व्यवस्था की स्थिति और इस बारे में सरकारी दावों की पोल खोलती है। कोर्ट परिसर में घुसकर तमंचे ले जाना और फिर तीसरी मंजिल में जाकर वकील की हत्या कर देना सुरक्षा व्यवस्था पर बड़े सवाल खड़े कर रहा है। हालांकि एसपी एस आनंद ने इस संबंध में कुछ कहने से इनकार किया है। उनका कहना है कि हर एंगल पर जांच की जा रही है। संपत्ति विवाद को लेकर तहरीर मिली है। सीसीटवी फुटेज को खंगाला जा रहा है। जल्द ही सुराग हाथ लगेंगे।

वारदात के बाद फोरेंसिक टीम और डॉग स्क्वॉयड को बुलाया गया। घटनास्थल से साक्ष्य जुटाए गए हैं। तमंचे से फिंगर प्रिंट भी ले लिए गए हैं। तीसरी मंजिल में आने-जाने वाले लोगों के फुट प्रिंट भी मिलान किए जाने की बात कही जा रही है। साथ ही, इनसे पुलिस पूछताछ भी करेगी।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

कानपुर के गौरवशाली इतिहास से बुंदेलखंड भी जुड़ा है : धर्मेंद्र प्रधान

कानपुर (मा.स.स.). पिछड़ा हुआ बुंदेलखंड भाजपा की सरकार में विकास की राह पर चल पड़ा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *