रविवार , अप्रेल 18 2021 | 01:40:43 PM
Breaking News
Home / राज्य / महाराष्ट्र / महाराष्ट्र में अप्रैल तक हो सकते हैं 3 लाख एक्टिव केस

महाराष्ट्र में अप्रैल तक हो सकते हैं 3 लाख एक्टिव केस

मुंबई (मा.स.स.). भारत में कोरोना वायरस के एक बार फिर रफ्तार पकड़ने का सबसे ज्यादा असर महाराष्ट्र पर दिख रहा है। यहां कोरोना ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए और निकट भविष्य में भी इससे राहत मिलती नहीं दिख रही है। अगर राज्य में मौजूदा दर से ही संक्रमण फैलता रहा तो अप्रैल के पहले हफ्ते तक ही अकेले महाराष्ट्र में कोरोना के 3 लाख सक्रिम मरीज होंगे। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य सचिव प्रदीव व्यास ने बताया कि राज्य में कोरोना वायरस के एक दिन में 25 हजार 833 नए मामले आए जिसके बाद सारे रिकॉर्ड टूट गए। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि अभी महाराष्ट्र कोरोना की दूसरी लहर का सामना कर रहा है।

फिलहाल महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 1 लाख 66 हजार 353 सक्रिय मामले हैं। पूरे भारत में कोरोना के 2 लाख 52 हजार 364 ऐक्टिव केस हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के जारी आंकड़े के मुताबिक, देशभर में आ रहे कोरोना वायरस के नए मामलों में महाराष्ट्र की हिस्सेदारी सबसे ज्यादा 63.21 प्रतिशत है। पहले महाराष्ट्र में कोविड-19 के रोजाना आने वाले नए मामलों ने 25 हजार का आंकड़ा पार नहीं किया था। 11 सितंबर 2020 को महाराष्ट्र में 24 हजार 886 मामले आए थे। कोरोना के सबसे ज्यादा ऐक्टिव केसों वाले देश के 10 जिलों में से 9 महाराष्ट्र के हैं। ये जिले हैं पुणे, नागपुर, मुंबई, ठाणे, नासिक, औरंगाबाद, जलगांव, नांदेड़ और अमरावती। इसके अलावा सिर्फ बेंगलुरु (शहरी) है जिला है जहां कोरोना के सबसे ज्यादा ऐक्टिव मामले हैं।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने डिविजनल कमिशनरों के साथ वर्चुअल बैठक की और उन्हें राज्य में जारी प्रतिबंधों को सख्ती से लागू करवाने को कहा। स्वास्थ्य सचिव प्रदीप व्यास ने कहा कि अगर रोजाना आने वाले मामलों में बढ़ोतरी होती रही तो राज्य में अप्रैल के पहले हफ्ते तक कोरोना वायरस के 3 लाख सक्रिय मामले रहेंगे। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि राज्य फिलहाल टीकाकरण की प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए काम कर रहा है। सरकारर का लक्ष्य हर दिन 3 लाख लोगों को टीका देने का है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राज्य में कोरोना की दूसरी लहर आ रही है लेकिन इससे घबराने की जरूरत नहीं है। राज्य में कोरोना के बढ़ते केसों में 95 प्रतिशत मरीज असिम्पटोमैटिक हैं। अभी तक राज्य के नागपुर शहर में पूर्ण लॉकडाउन लगा दिया गया है। लॉकडाउन की घोषणा 15 से 21 मार्च तक के लिए की गई है। इसके अलावा पुणे, लातूर सहित कई अन्य जिलों में नाइट कर्फ्यू जैसे सख्त प्रतिबंध लागू किए गए हैं।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

एनआईए ने पुलिस अधिकारी रियाज को सचिन वाझे की मदद करने के आरोप में किया गिरफ्तार

मुंबई (मा.स.स.). एंटीलिया केस और मनसूख हिरेम मौत मामले में एनआईए ने बड़ा एक्शन लिया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *