बुधवार , अक्टूबर 20 2021 | 02:43:26 AM
Breaking News
Home / राज्य / गुजरात / आतंक से नहीं कुच सकते आस्था : नरेन्द्र मोदी

आतंक से नहीं कुच सकते आस्था : नरेन्द्र मोदी

अहमदाबाद (मा.स.स.). प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के सोमनाथ मंदिर में कई नए प्रोजेक्ट्स का उद्घाटन और शिलान्यास किया. इसमें सोमनाथ प्रदर्शन गैलरी, समुद्र दर्शन पथ और मंदिर से जुड़े कई अन्य प्रोजेक्ट शामिल हैं. इस कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने पार्वती मंदिर का शिलान्यास भी किया. यह मंदिर 30 करोड़ रुपये की लागत से बनेगा. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज मैं लौह पुरुष सरदार पटेल जी के चरणों में भी नमन करता हूं जिन्होंने भारत के प्राचीन गौरव को पुनर्जीवित करने की इच्छाशक्ति दिखाई. सरदार साहब, सोमनाथ मंदिर को स्वतंत्र भारत की स्वतंत्र भावना से जुड़ा हुआ मानते थे.

पीएम मोदी ने आगे कहा कि आज मुझे समुद्र दर्शन पथ, सोमनाथ प्रदर्शन गैलरी और जीर्णोद्धार के बाद नए स्वरूप में जूना सोमनाथ मंदिर के लोकार्पण का सौभाग्य मिला है. साथ ही आज पार्वती माता मंदिर का शिलान्यास भी हुआ है. उन्होंने कहा कि आज मैं लोकमाता अहिल्याबाई होल्कर को भी प्रणाम करता हूं जिन्होंने विश्वनाथ से लेकर सोमनाथ तक, कितने ही मंदिरों का जीर्णोद्धार कराया. प्राचीनता और आधुनिकता का जो संगम उनके जीवन में था, आज देश उसे अपना आदर्श मानकर आगे बढ़ रहा है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस मंदिर को सैकड़ों सालों के इतिहास में कितनी ही बार तोड़ा गया, यहां की मूर्तियों को खंडित किया गया, इसका अस्तित्व मिटाने की हर कोशिश की गई. लेकिन इसे जितनी भी बार गिराया गया, ये उतनी ही बार उठ खड़ा हुआ. ये शिव ही हैं जो विनाश में भी विकास का बीज अंकुरित करते हैं, संहार में भी सृजन को जन्म देते हैं इसलिए शिव अविनाशी हैं, अव्यक्त हैं और अनादि हैं. पीएम मोदी ने कहा कि शिव में हमारी आस्था हमें समय की सीमाओं से परे हमारे अस्तित्व का बोध कराती है, हमें समय की चुनौतियों से जूझने की शक्ति देती है. जो तोड़ने वाली शक्तियां हैं, जो आतंक के बलबूते साम्राज्य खड़ा करने वाली सोच है, वो किसी कालखंड में कुछ समय के लिए भले हावी हो जाए लेकिन, उसका अस्तित्व कभी स्थाई नहीं होता, वो ज्यादा दिनों तक मानवता को दबाकर नहीं रख सकती.

उन्होंने आगे कहा कि हमारी सोच होनी चाहिए इतिहास से सीखकर वर्तमान को सुधारने की, एक नया भविष्य बनाने की. इसलिए जब मैं ‘भारत जोड़ो आंदोलन’ की बात करता हूं तो उसका भाव केवल भौगोलिक या वैचारिक जुड़ाव तक सीमित नहीं है. ये भविष्य के भारत के निर्माण के लिए हमें हमारे अतीत से जोड़ने का भी संकल्प है. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पश्चिम में सोमनाथ और नागेश्वर से लेकर पूरब में बैद्यनाथ तक, उत्तर में बाबा केदारनाथ से लेकर दक्षिण में भारत के अंतिम छोर पर विराजमान श्री रामेश्वरम तक, ये 12 ज्योतिर्लिंग पूरे भारत को आपस में पिरोने का काम करते हैं.

नरेंद्र मोदी ने कहा कि इसी तरह हमारे चार धामों की व्यवस्था, हमारे शक्तिपीठों की संकल्पना, हमारे अलग-अलग कोनों में अलग-अलग तीर्थों की स्थापना, हमारी आस्था की ये रूपरेखा वास्तव में ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ की भावना की ही अभिव्यक्ति है. उन्होंने आगे कहा कि ये ऐसा स्थल है जिसे हजारों साल पहले हमारे ऋषियों ने ज्ञान का क्षेत्र बताया था. जो आज भी पूरे विश्व के सामने आह्वान कर रहा है कि सत्य को असत्य से हराया नहीं जा सकता, आस्था को आतंक से कुचला नहीं जा सकता.

मोदी ने कहा कि पर्यटन के जरिए आज देश सामान्य मानवीय को न केवल जोड़ रहा है, बल्कि खुद भी आगे बढ़ रहा है. इसी का परिणाम है कि 2013 में देश Travel & Tourism Competitiveness Index में जहां 65वें स्थान पर था, वहीं 2019 में 34वें स्थान पर आ गया. इस मौके पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि आज हम एक बहुत महवत्पूर्ण कार्यक्रम में अलग-अलग जगह से जुड़े हैं. राज्य सरकार के माध्यम से भी विकास किया गया है. इसके विकास का नक्शा पीएम नरेंद्र मोदी ने 2010 में ही तैयार किया था. उन्होंने आगे कहा कि सोमनाथ देश के गिने चुने मंदिरों में से एक बन जाएगा जो स्वच्छ है और ट्रस्ट की ओर से इसकी व्यस्था की जा रही है. सोमनाथ के दर्शन और हर आरती के दर्शन दुनियाभर में डिजिटल माध्यम से किए जा सकेंगे.

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

गुजरात में भी भाजपा ने बदला अपना मुख्यमंत्री, विजय रुपाणी ने दिया त्यागपत्र

अहमदाबाद (मा.स.स.). सुबह जब गुजरात के मुख्यमंत्री पीएम के साथ वर्चुअल कार्यक्रम में शामिल हो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *