बुधवार , अक्टूबर 27 2021 | 01:15:30 PM
Breaking News
Home / राज्य / राजस्थान / हमारी संस्कृति और संस्कारों में सेवा का भावः ओम बिरला

हमारी संस्कृति और संस्कारों में सेवा का भावः ओम बिरला

कोटा (मा.स.स.). लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि भारती की संस्कृति और संस्कारों में सेवा का भाव है। देश में सेवा का एक समृद्ध और गौरवशाली इतिहास रहा है। मानव की सेवा को भारतीय समाज ने सदैव प्राथमिकता दी है। वे अखिल राजस्थान गुजराती समाज, समर्पण सेवा समिति और गायत्री परिवार ट्रस्ट की ओर से आयोजित समाज सेवा संस्थाओं के सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे।

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान सेवा के अद्भुत आयाम तय करने वाली संस्थाओं और व्यक्तियों का सम्मान करते हुए लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने कहा कि कोरोना, प्राकृतिक आपदा या किसी भी चुनौती के सामने कोटा के लोग और यहां की संस्थाएं मानव सेवा के क्षेत्र में अग्रणी रहती हैं। सामूहिकता के साथ सबके प्रयासों से ही हम हर संकट का मुकाबला करते हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना के समय में सरकार अपना काम कर ही रही थी। लेकिन समाजों ने भी सामूहिकता की भावना से सरकार को मदद पहुंचाने का काम किया। इसी कारण इतनी बड़ी चुनौती और आपदा से लड़ पाए। एक ओर जहां विकसित देश जहां सुदृढ़ चिकित्सा इंफ्रास्ट्रक्चर था, वे भी कोरोना के सामने चरमरा गए, वहीं दूसरी ओर भौगौलिक चुनौतियों और बड़ी जनसंख्या के बावजूद समाजों की सहायता से ही भारत कोरोना को बेहतर प्रबंधन करने में सफल रहा।

कार्यक्रम में  संबोधित करते हुए केंद्रीय दूरसंचार राज्य मंत्री देबू सिंह चौहान ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की जमकर सराहना की। स्पीकर ओम बिरला की अध्यक्षता में लोकसभा का यह काल इतिहास में स्वर्ण काल के रूप में याद किया जाएगा। लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने सभा के संचालन में जो नवाचार किए हैं और सदस्यों के सशक्तिकरण के जो प्रयास किए हैं, वह अनुकरणीय हैं।

कोटा दक्षिण विधायक संदीप शर्मा, गरोठ (मध्यप्रदेश) विधायक देवीलाल ने भी अपने विचार रखे। कार्यक्रम में मेडिकल कॉलेज प्रशासन, डा नीलेश जैन, डा आरपी मीना, शांति कुंज, कोटा व्यापार महासंघ, एसएसआई एसोसिएशन, एलेन कॅरियर इंस्टीट्यूट, कृषि विश्वविद्यालय, राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय, जनरल मर्चेंट एसोसिएशन, आर्य समाज, मानव कल्याण समिति सहित करीब 50 संस्थाओं का सम्मान किया गया।

इससे पूर्व सुबह केवट-कहार समाज ने लोकसभा अध्यक्ष बिरला का उनके कैंप कार्यालय में अभिनंदन किया। इस अवसर पर समाज के लोगों को संबोधित करते हुए स्पीकर बिरला ने कहा कि केवट-कहार समाज मेहनतकश समाज है जिसने अपने परिश्रम से समाज में अपना एक प्रतिष्ठित स्थान बनाया है। चुनौतियों और कठिनाइयों के बावजूद कहार-केवट समाज सेवा के क्षेत्र में अग्रणी रहा है तथा सुख-दुख में लोगों का साथ दिया है। उन्होंने आश्वस्त किया कि समाज के विद्यार्थी कोटा में आकर शिक्षा प्राप्त कर सकें इसके लिए वे समाज के भवन में भी सहयोग करेंगे। इससे पूर्व समाज के हरिनंद कहार ने कहा कि लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने सदैव केवट-कहार समाज का साथ दिया है। अध्यक्ष राजेश केवट के नेतृत्व में अभिनंदन किया।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

हमारा भारत, हमारी शान पुस्तक का हुआ लोकार्पण

जयपुर (मा.स.स.). हिन्दी दिवस पर राजकीय सार्वजनिक मण्डल पुस्तकालय कोटा के द्वारा हिन्दी दिवस पर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *