बुधवार , दिसम्बर 08 2021 | 12:05:32 PM
Home / अंतर्राष्ट्रीय / भारत – तालिबान मुलाकात के बाद आईएसआई चीफ और पाकिस्तानी विदेश मंत्री काबुल पहुंचे

भारत – तालिबान मुलाकात के बाद आईएसआई चीफ और पाकिस्तानी विदेश मंत्री काबुल पहुंचे

काबुल (मा.स.स.). अफगानिस्तान में बंदूक के दम पर काबिज हुए तालिबान के साथ दोस्ती को मजबूत करने के लिए पाकिस्तान बेचैन दिख रहा है। मॉस्को फॉर्मेट में भारत के साथ तालिबान नेताओं की मुलाकात के अगले ही दिन पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी काबुल पहुंच गए हैं। इस दौरे पर उनके साथ पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज हामिद भी पहुंचे हैं। पाकिस्तान को छोड़कर आम तौर पर ऐसा बहुत कम ही देखा जाता है कि किसी देश की विदेश नीति में वहां की सेना से जुड़े लोग इतना एक्टिव भूमिका निभाते हैं।

अफगानिस्तान में बंदूक के दम पर काबिज हुए तालिबान के साथ दोस्ती को मजबूत करने के लिए पाकिस्तान बेचैन दिख रहा है। मॉस्को फॉर्मेट में भारत के साथ तालिबान नेताओं की मुलाकात के अगले ही दिन पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी काबुल पहुंच गए हैं। इस दौरे पर उनके साथ पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज हामिद भी पहुंचे हैं। पाकिस्तान को छोड़कर आम तौर पर ऐसा बहुत कम ही देखा जाता है कि किसी देश की विदेश नीति में वहां की सेना से जुड़े लोग इतना एक्टिव भूमिका निभाते हैं।

पाकिस्तानी विदेश कार्यालय ने बयान जारी कर बताया है कि एकदिवसीय यात्रा के दौरान कुरैशी अफगानिस्तान के कार्यवाहक विदेश मंत्री आमिर खान मुत्ताकी के साथ बातचीत करेंगे। वे काबुल में तालिबान की अंतरिम सरकार के शीर्ष नेतृत्व से भी मुलाकात करेंगे। वह अन्य अफगान गणमान्य व्यक्तियों से भी मिलेंगे। इस बातचीत में पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच संबंधों के संपूर्ण स्पेक्ट्रम को शामिल किया जाएगा। यह भी बताया गया है कि पाक विदेश मंत्री क्षेत्रीय शांति और स्थिरता के मुद्दों पर पाकिस्तान के दृष्टिकोण को साझा करेंगे।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री की यात्रा रूस की राजधानी मॉस्को में अफगानिस्तान पर जारी वार्ता के बीच हो रही है। मॉस्को फॉर्मेट नाम की इस वार्ता में भारत, चीन, पाकिस्तान के अलावा दुनिया के 10 देश शामिल हैं। तालिबान ने एक दिन पहले ही दावा किया था का उसने मॉस्को फॉर्मेट के इतर भारत के प्रतिनिधियों के साथ मुलाकात की है। तालिबान के प्रवक्ता जबिउल्लाह मुजाहिज ने कहा था कि भारत ने अफगानिस्तान को मानवीय सहायता देने की पेशकश की है।

पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बावजा विश्व समुदाय से अफगानिस्तान के लिए मदद मांग रहे हैं। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अफगानिस्तान में चल रहे मानवीय संकट को रोकने के लिए एकजुट होने का आग्रह किया, जहां अब तालिबान का शासन है। जनरल बाजवा ने कहा कि मानवीय संकट से बचने के लिए अफगानिस्तान पर वैश्विक तालमेल की जरूरत है।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

तलाक की धमकी दे डॉक्टर ने हनीमून पर किया पत्नी का खतना, दर्द से तड़प उठी महिला

अंतरराष्ट्रीय डेस्क (मा.स.स.). जर्मनी के एक स्त्री रोग विशेषज्ञ पर अपनी पत्नी का खतना करने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *