मंगलवार , नवम्बर 30 2021 | 05:58:02 AM
Home / राज्य / उत्तराखंड / डॉ. सुजाता का नाम इण्डिया बुक ऑफ रिकार्ड व इटरनेशनल बुक ऑफ रिकार्ड में हुआ शामिल

डॉ. सुजाता का नाम इण्डिया बुक ऑफ रिकार्ड व इटरनेशनल बुक ऑफ रिकार्ड में हुआ शामिल

देहरादून (मा.स.स.). और्थोपीडिक, स्पाइन एवं मैटरनिटी सेन्टर, देहरादून की राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ. सुजाता संजय द्वारा पिछले दस वर्षों में 109 से अधिक स्वास्थ्य परामर्श लैक्चर व व्याख्यान दे चुकी है। जिनमें कि बारह हजार चार सौ से अधिक महिलाओं व छात्राओं ने भाग लिया। कोरोना काल मेे इनके द्वारा चार वैबिनारों का आयोजन किया गया जिसमें सोलह सौ से अधिक नर्सिस एवं पैरामेडिकल स्टॉक ने स्वास्थ्य जानकारी पा्रप्त की। इस कीर्तिमान को इण्डिया बुक ऑफ़ रिकार्ड व इटरनेशनल बुक ऑफ़ रिकार्ड में शामिल किया गया है। उन्होनें बताया कि स्वास्थ्य के प्रति जागरूक कर महिलाओं एवं आम तनता को स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता लाना है क्योंकि एक स्वस्थ महिला ही स्वस्थ समाज एवं राष्ट्र का निर्माण कर सकती है।

इतना ही नहीं डाॅ सुजाता संजय द्वारा 150 से भी अधिक रेडियो कार्यक्रम में भाग लिया है इनका मुख्य उद्देश्य उत्तराखंड के पहाडी क्षेत्रों में महिलाओं को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक कराना हैै। उनका यह कीर्तिमान इंडिया बुक ऑफ़ रिकार्डस में भी सम्मिलित हो चुका है। वर्ष 2018 में विश्व की प्रथम ब्रेल लिपि महिला दर्पण स्वास्थ्य पुस्तक लिखी गई है। विशेष तौर से दृष्टिबाधित महिलाओं के कल्याण हेतु समर्पित डाॅ0 सुजाता संजय द्वारा रचित पुस्तक का विमोचन उत्तराखण्ड की माननीय राज्यपाल, श्रीमती बेबी रानी मौर्या द्वारा किया गया। इस पुस्तक को ‘‘इंडिया बुक आॅफ रिकार्ड व इंटरनेशनल बुक आॅफ रिकार्ड’’ में दर्ज है।

इसके बाद इनके द्वारा ‘‘महिला दर्पण’’ पुस्तक का डिजिटल ऑडियो स्वरूप भी निकाला गया है। जिसमें उन्होंने बताया कि जो महिलाऐं दृष्टिहीन होने के बाद पढी-लिखी नहीं है और अपने शारीरिक स्वास्थ्य को नहीं देख सकती है उनके स्वास्थ्य को मध्य नजर रखते हुए मेरे मन में ख्याल आया कि उन महिलाओं को ऑडियो के माध्यम से सुनकर अपने उम्र के साथ होने वाले शारीरिक परिवर्तन एवं कठिनाइयों को समझें। इस ओडियो किताब को सुनकर महिलाऐं अपने शरीर में होने वाली गंभीर समस्याओं एवं बिमारियों के बारे में सुन सकती है जो कि उन्हें उपचार कराने में मददगार होगी।

यह आडियो संस्करण विश्व की पहली हिन्दी ओडियो स्वास्थ्य पुस्तक है। इस ‘‘महिला दर्पण’’ पुस्तक का ओडियो संस्करण का विमोचन मार्च 2019 में भारत सरकार के केन्द्रीय मानव संसाधन विकास एवं शिक्षा मंत्री ‘‘डाॅ. रमेश पोखरियाल निंशक’’ के कर कमलों द्वारा किया गया। इनके द्वारा रचित ऑडियो पुस्तक को इंटरनेशनल बुक आॅफ रिकार्ड, बेस्ट ऑफ़ इंडिया रिकार्ड में भी शामिल किया गया हैै। डाॅ. सुजाता संजय ने बताया कि हमारे राज्य की महिलाओं की स्वास्थ्य स्थिति को ठीक करने के लिए वर्ष 2010 में निःशुल्क स्वास्थ्य परामर्श शिविर करने का ध्येय किया। इनके द्वारा 9 साल की अवधि में 275 से भी अधिक निःशुल्क स्वास्थ्य परामर्श शिविरों द्वारा 7800 से भी अधिक मरीजों को स्वास्थ्य लाभ दिया गया।

वर्ष 2012 में डाॅ. सुजाता संजय उत्तराखंड की प्रथम एवं एकमात्र स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञा जिन्होंने गुर्दा प्रत्यारोपित गर्भवती महिला का सफल ऑपरेशन कर नवजात शिशु को जीवन प्रदान किय जिसको की इंडिया बुक ऑफ़ रिकार्डस ने सराहा और इस कार्य के लिए अपनी बुक आई.बी.आर. में इनका नाम दर्ज किया। डाॅ. सुजाता संजय का चयन महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार द्वारा देश की 100 वीमेन ऑफ़ अचीवर्स के लिये चुना गया था। जिन्हें भारत के महामहिम राष्ट्रपति द्वारा वर्ष 2016 में सम्मानित किया जा चुका है। यह सम्मान उन्हें निःस्वार्थ चिकित्सा एवं समाज सेवा के लिए दिया गया। इनके निःस्वार्थ भाव से समाज की सेवा के कार्यो को हमेशा ही सराहा गया हैे।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

हिंदी एवं स्वच्छता पखवाड़े के अंतर्गत आयोजित कार्यक्रमों में भाग लेने वाले बच्चे हुए सम्मानित

रुड़की (मा.स.स.). एक सितंबर से चल रही स्वच्छता पखवाड़ा कार्यक्रमों की श्रंखला आज केंद्रीय विद्यालय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *