बुधवार , दिसम्बर 08 2021 | 12:48:20 PM
Home / राज्य / उत्तरप्रदेश / अरविंद केजरीवाल हनुमान भक्ति के बाद अब करेंगे राम भक्ति, जायेंगे अयोध्या

अरविंद केजरीवाल हनुमान भक्ति के बाद अब करेंगे राम भक्ति, जायेंगे अयोध्या

नई दिल्ली (मा.स.स.). आम आदमी पार्टी (आप) संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिवाली से पहले अयोध्या जा रहे हैं। खुद को हनुमान भक्त बताने वाले केजरीवाल मंगलवार 26 अक्टूबर को अयोध्या जाकर राम लला के दर्शन करेंगे। हालांकि, राम मंदिर को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले वह कई बार इस पर सवाल भी उठा चुके हैं, जिसको लेकर उनकी काफी आलोचना भी हुई थी। इससे पहले, राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन पर उन्होंने देशवासियों को बधाई भी दी थी। केजरीवाल ने तब ट्वीट कर कहा था, ”भगवान राम का आशीर्वाद हम पर बना रहे। उनके आशीर्वाद से हमारे देश को भुखमरी, अशिक्षा और गरीबी से मुक्ति मिले और भारत दुनिया का सबसे शक्तिशाली राष्ट्र बने। आने वाले समय में भारत दुनिया को दिशा दे। जय श्रीराम! जय बजरंग बली!”

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 पास आते ही राजनेताओं के अयोध्‍या जाने का सिलसिला तेज हो गया है। इसी क्रम में दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी राम लला के दर्शन के लिए दिवाली से पहले 26 अक्टूबर को अयोध्‍या यात्रा पर जाएंगे। केजरीवाल की इस अयोध्या यात्रा को भी अब यूपी चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है। इसी साल मार्च महीने में दिल्ली विधानसभा में LG के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान केजरीवाल ने कहा था कि वह दिल्ली में रामराज्य की अवधारणा लागू करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अयोध्या में एक भव्य राम मंदिर बनने जा रहा है, जब भी यह मंदिर बनकर तैयार होगा वह दिल्ली के सभी बुजुर्गों को फ्री में अयोध्या में राम मंदिर दर्शन कराने लेकर जाएंगे।

केजरीवाल ने कहा कि मैं भगवान राम और हनुमान का भक्त हूं। हम जनता की सेवा के लिए रामराज्य की संकल्पना से प्रेरित होकर 10 सिद्धांतों का पालन करते आ रहे हैं। केजरीवाल ने कहा था कि प्रभु श्रीराम हम सबके अराध्य हैं। मैं व्यक्तिगत तौर पर हनुमान जी का भक्त हूं और हनुमान जी श्रीराम जी के भक्त हैं, इस नाते में दोनों का भक्त हूं। उन्होंने कहा था कि प्रभु श्रीराम अयोध्या के राजा थे, उनके शासनकाल में सब लोग सुखी थे, किसी को किसी प्रकार का दुख नहीं था, इसलिए उसे रामराज्य कहा गया। राम राज्य एक अवधारणा है। रामचंद्र जी भगवान थे, हम उनके सामने एक तुच्छ इंसान हैं। हम उनसे किसी भी प्रकार से तुलना नहीं कर सकते, लेकिन उनसे प्रेरणा लेकर अगर हम रामराज्य के रास्ते पर चलकर एक सार्थक कोशिश भी कर सकें तो हमारा जीवन धन्य हो जाएगा। राम राज्य की उसी अवधारणा को दिल्ली में साफ-सुथरी नीयत से लागू करने के लिए पिछले छह साल से हम प्रयासरत हैं।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

कानपुर के गौरवशाली इतिहास से बुंदेलखंड भी जुड़ा है : धर्मेंद्र प्रधान

कानपुर (मा.स.स.). पिछड़ा हुआ बुंदेलखंड भाजपा की सरकार में विकास की राह पर चल पड़ा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *