मंगलवार , जुलाई 27 2021 | 06:09:56 AM
Breaking News
Home / राज्य / पश्चिम बंगाल / ममता बनर्जी बताये किसकी अनुमति से हुई फोन टैपिंग : अमित शाह

ममता बनर्जी बताये किसकी अनुमति से हुई फोन टैपिंग : अमित शाह

कोलकाता (मा.स.स.). पश्चिम बंगाल और असम में पहले फेज की वोटिंग शनिवार को होने के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान शाह ने भाजपा सांसद मुकुल रॉय का ऑडियो लीक होने को लेकर बिना नाम लिए ममता सरकार पर निशाना साधा।उन्होंने कहा कि दो भाजपा नेता फोन पर अधिकारियों के ट्रांसफर की बात पर चर्चा कर रहे थे। यह मांग तो हमने लिखित में की है। इसमें कोई राज नहीं है। फोन टैप करने वाले के नाम सार्वजनिक किए जाने चाहिए। किस अधिकार के तहत फोन टैप किए गए। इसके लिए किसने सूचना दी, किसने परमिशन दी। लोकतांत्रिक प्रक्रिया में फोन टैपिंग क्यों? वो भी तब जब आचार संहिता लागू हो।

बता दें कि TMC ने शनिवार को भाजपा नेता मुकुल रॉय और शिशिर बाजोरिया का एक ऑडियो जारी कर चुनाव आयोग से साठगांठ का आरोप लगाया था। अमित शाह ने कहा कि असम और बंगाल इस चुनाव से पहले चुनावी हिंसा के लिए पहचाने जाने वाले प्रदेश थे। दोनों जगह पहले चरण में शांतिपूर्ण मतदान हुआ। ये आने वाले समय के लिए शुभ संकेत हैं। शाह ने दावा किया कि बंगाल में भाजपा पहले चरण की 30 में से 26 सीटें जीतेगी। शाह ने कहा कि बंगाल में हमारा वोट भी बढ़ेगा और हमारी सीटों पर जीत का अंतर भी बढ़ेगा। वहीं, असम में 47 में से 37 सीटों पर भाजपा को जीत मिलेगी।

शाह ने कहा कि बंगाल में 200 और असम में पहले से ज्यादा सीटें लाकर सरकार बनाएंगे। प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में असम में जो विकास हुआ है, वहां की हमारी सरकार ने जिस प्रकार से अभूतपूर्व विकास किया है, इसको बड़ा जन समर्थन मिल रहा है। डबल इंजन सरकार का कॉन्सेप्ट असम की जनता को भाजपा के आचरण से समझ में आया है। शाह ने ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि बंगाल में तुष्टिकरण, घुसपैठ, भ्रष्टाचार का बोलबाला था। कोरोना के खिलाफ लड़ाई, अंफान में लापरवाही, महिला सुरक्षा जैसे मुद्दों से जनता ममता सरकार से निराश हुई।

बंगाल में जिस प्रकार का घोर निराशा और हताशा का माहौल था। 27 साल के कम्युनिस्ट शासन के बाद बंगाल के लोगों को आशा थी कि दीदी एक नई शुरुआत लेकर आएंगी। मगर दल का चिन्ह और नाम बदल गया, लेकिन बंगाल वहीं का वहीं रहा बल्कि और गिरावट आई। मोदी जी के नेतृत्व में हमने जो सोनार बांग्ला का संदेश दिया है, उससे जनता में उम्मीद की अलख जगी है। गृह मंत्री ने कहा, ‘नंदीग्राम की जनता से कहना चाहता हूं कि बंगाल में परिवर्तन उनके हाथ में ही है। ऐसे तो पूरे प्रदेश में परिवर्तन की जरूरत है, लेकिन अगर नंदीग्राम की जनता खुद ठान ले तो परिवर्तन अपने आप हो जाएगा।’ TMC की ओर से गड़बड़ी के आरोप पर शाह ने कहा कि यह सब उनकी हार के संकेत हैं। उनकी शिकायत यह नहीं है कि गड़बड़ी हुई है। उनकी शिकायत है कि वे गड़बड़ी नहीं कर पा रहे हैं।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जब शाह से पूछा गया कि आप कल अहमदाबाद में थे और बताया जा रहा है कि वहां आपकी शरद पवार और प्रफुल्ल पटेल से मुलाकात भी हुई है। इस पर शाह ने जवाब दिया कि ये सब चीजें सार्वजनिक नहीं होती हैं। पश्चिम बंगाल और असम की कुल 77 सीटों पर शनिवार को पहले फेज की वोटिंग हुई थी। इनमें बंगाल की 30 और असम की 47 सीटें शामिल हैं। इलेक्शन कमीशन के मुताबिक बंगाल में 79.79% और असम में 72.14% वोटिंग हुई।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

अब मुकुल रॉय टीएमसी में बनेंगे राष्ट्रीय उपाध्यक्ष

कोलकाता (मा.स.स.). पश्चिम बंगाल में हाल ही बीजेपी छोड़कर तृणमूल कांग्रेस पार्टी ज्वाइन करने वाले …

One comment

  1. You made some decent points there. I looked on the internet for the subject and found most persons will go along with with your blog.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *