शनिवार , मई 21 2022 | 10:02:01 PM
Breaking News
Home / राष्ट्रीय / कोई मुस्लिम महिला नहीं चाहती, उसका पति करे कई शादियां : हिमंत बिस्व सरमा

कोई मुस्लिम महिला नहीं चाहती, उसका पति करे कई शादियां : हिमंत बिस्व सरमा

Follow us on:

गुवाहाटी (मा.स.स.). समान नागरिक संहिता (यूसीसी) को लेकर देश में छिड़ी बहस के बीच असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा इस कानून को लागू करने की जरूरत बताई है। उन्होंने कहा कि हर कोई यूसीसी चाहता है। मुस्लिम महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए इस कानून को लागू करना आवश्यक है। यहां संवाददाताओं के साथ बातचीत में सरमा ने कहा, ‘कोई भी मुस्लिम महिला नहीं चाहती है कि उसका पति तीन अन्य पत्नियों को घर लाए। यूसीसी मेरा मुद्दा नहीं है, यह सभी मुस्लिम महिलाओं का मुद्दा है। अगर उन्हें न्याय देना है तो तीन तलाक को खत्म करने के बाद यूसीसी लाना होगा।’ मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि, एक उपसमिति की रिपोर्ट बनाई जाएगी और उसे जल्द पेश किया जाएगा। राज्य की सीमा मामले पर बात करते हुए हिंमता ने कहा कि उनकी बैठक अरुणाचल के सीएम के साथ होनी थी लेकिन कुछ कारणों के चलते ये नहीं हो पायी।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

टेरर फंडिंग मामले में यासीन मालिक दोषी करार, 25 मई को तय होगी सजा

नई दिल्ली (मा.स.स.). दिल्ली की एक विशेष एनआईए अदालत ने आतंकवादी यासीन मलिक को टेरर …