शुक्रवार , मई 20 2022 | 07:30:18 AM
Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / मैं रूस गया, तो अमेरिका नाराज हो गया, लेकिन भारत खरीद रहा है तेल : इमरान खान

मैं रूस गया, तो अमेरिका नाराज हो गया, लेकिन भारत खरीद रहा है तेल : इमरान खान

Follow us on:

इस्लामाबाद (मा.स.स.). कुर्सी बचाने की भरपूर मशक्कत कर रहे इमरान खान ने अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग के चंद दिन पहले भारत की दिल खोलकर तारीफ की है। एक रैली में इमरान ने रूस-यूक्रेन जंग का जिक्र करते हुए भारत की फॉरेन पॉलिसी को बेखौफ बताया। कहा- हमारा पड़ोसी मुल्क है भारत। आज मैं उसकी दाद देता हूं। उसकी डिप्लोमैसी आजाद है। अमेरिका और पश्चिमी देशों ने रूस पर तमाम पाबंदियां लगाई हैं, लेकिन भारत बेखौफ होकर उससे तेल खरीद रहा है।

मलकान शहर में एक रैली में भाषण के दौरान इमरान ने कहा- आज मैं हमारे पड़ोसी मुल्क भारत की दाद देना चाहता हूं। उन्होंने हमेशा अपनी फॉरेन पॉलिसी आजाद रखी। आज हिंदुस्तान उनके साथ (अमेरिका और पश्चिमी देश) मिला हुआ है, उनका आपस में अलायंस है। QUAD में भारत ने अमेरिका के साथ अलायंस कर रखा है। इसके बावजूद भारत कहता है कि वो न्यूट्रल है। रूस पर दुनिया ने पाबंदियां लगा रखी हैं, लेकिन भारत उससे तेल खरीद रहा है। क्योंकि, इंडिया की पॉलिसी अपने लोगों और अपने अवाम के लिए है।

इस रैली में इमरान ने एक बार फिर विपक्षी नेताओं को चोर और डाकू करार दिया और उनके करप्शन के कई मामले गिना दिए। हालांकि, अपनी सरकार की नाकामी, महंगाई, बेरोजगारी और हिंसा पर एक शब्द भी नहीं बोले। कहा- विपक्ष के नेता शहबाज शरीफ बूट पॉलिश (फौज का नाम नहीं लिया) में माहिर है और जब भी मौका मिल जाता है तो वो यही करते हैं। इमरान ने एक बार फिर नवाज शरीफ, आसिफ अली जरदारी और मौलाना फजल-उर-रहमान को चोर, डाकू और लुटेरा करार दिया। कहा- ये लोग 25 साल से मुल्क को लूट रहे थे और मैंने रोका तो मेरे खिलाफ साजिश कर रहे हैं।

इमरान ने इशारों ही इशारों में ये भी कहा कि पश्चिमी देश और अमेरिका उनके खिलाफ साजिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा- पिछले दिनों यूरोपीय यूनियन के नेताओं ने मुझ पर दबाव डाला कि मैं यूक्रेन पर हमले के लिए रूस की निंदा करूं। ये भी कहा गया कि रूस का दौरा कैंसल करूं। मैं इनकी बात मानने को तैयार नहीं था। मेरा सवाल बहुत सीधा है। क्या ये मुल्क पाकिस्तान को अपना गुलाम समझते हैं। भारत के बारे में तो वो कुछ नहीं कहते। वहां उनकी हिम्मत क्यों नहीं होती।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

मोदी ने समकक्ष शेर बहादुर के साथ नेपाल में रखी बौद्ध संस्कृति और विरासत केंद्र की आधारशिला

काठमांडू (मा.स.स.). प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को अपने नेपाली समकक्ष शेर बहादुर देउबा के …