शनिवार , मई 21 2022 | 09:54:25 PM
Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / हम सिर्फ चाहते हैं कि भारत रूस पर यूक्रेन युद्ध रोकने का दबाव बनाए : अमेरिका

हम सिर्फ चाहते हैं कि भारत रूस पर यूक्रेन युद्ध रोकने का दबाव बनाए : अमेरिका

Follow us on:

वाशिंगटन (मा.स.स.). रूस-यूक्रेन युद्ध में भारत की भूमिका अहम होने वाली है. यूक्रेन, अमेरिका समेत सभी पश्चिमी देशों की निगाहें भारत पर आकर टिक गई है. रूस से भारत के नजदीकी रिश्ते को देखते हुए UN समेत सभी पश्चिमी देश भारत से युद्ध समाप्त कराने की अपील कर रहे हैं. अब तक रूस से दूर रहने की सलाह देने वाला अमेरिका ने भी रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव की भारत के दौरे के बीच अपील की है कि भारत अपने संबंधों का इस्तेमाल करते हुए रूस को यूक्रेन पर हमला करने से रोकने के लिए राजी करें.

गौरतलब है कि कई दौर की वार्ता के बाद भी पिछले कई दिनों से रूस लगातार यूक्रेन पर हमलावर है. इस दौरान यूक्रेन के कई शहर खंडहर में तब्दील हो चुके हैं. वहीं, हजारों लोगों की जानें भी जा चुकी है. दुनियाभर के देशों की आलोचना और प्रतिबंधों के बावजूद रूस झुकने को तैयार नहीं है. अमेरिकी प्रतिबंधों से नहीं झुकने वाले रूस के हमले रोकने के लिए अमेरिका ने रूस के मित्र देशों से संपर्क साधना शुरू कर दिया है. इसी कड़ी में अमेरिका ने भारत से भी अपील की है कि वे अपने संबंधों का इस्तेमाल करते हुए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को हमले रोकने के लिए राजी करे. गौरतलब है कि अमेरिका ने ये अपील ऐसे वक्त में है, जब रूसी विदेश मंत्री सर्गेई इवानोव भारत दौरे पर है.

विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि विभिन्न देशों के रूसी संघ के साथ अपने संबंध हैं. यह न सिर्फ इतिहास, बल्कि भूगोल का एक वास्तविक तथ्य है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यह कुछ ऐसा नहीं है जिसे हम बदलना चाहते हैं. हम क्या करना चाह रहे हैं, चाहे वह भारत हो या अन्य भागीदार और दुनिया भर के सहयोगी देश… ये सभी यूक्रेन पर रूस के इस अनुचित, अकारण और पूर्व नियोजित आक्रामकता के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करें और हिंसा को समाप्त करने के लिए भारत सहित सभी देश मास्को के साथ अपने संबंधों का लाभ उठाएं.

गौरतलब है कि भारत के रूस  से नजदीकी संबंध को देखते हुए यूक्रेन पर हमले रुकवाने की अपील करने वाला अमेरिका अब से पहले भारत को रूस से दूर रहने की चेतावनी देता आ रहा था. अमेरिका ने पिछले गुरुवार को आगाह किया था कि रूस के खिलाफ अमेरिकी प्रतिबंधों में गतिरोध पैदा करने वाले देशों को अंजाम भुगतने पड़ेंगे. साथ ही, यह भी कहा कि वह रूस से ऊर्जा एवं अन्य वस्तुओं का भारत के आयात में बढ़ोतरी को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं करेगा. अमेरिका के उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (Deputy NSA) दलीप सिंह ने मास्को और बीजिंग के बीच गहरी साझेदारी का जिक्र कर भारत को डराते हुए कहा था कि भारत को यह उम्मीद नहीं रखनी चाहिए कि अगर चीन वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) का उल्लंघन करता है तो रूस, भारत की रक्षा करने के लिए दौड़ा चला आएगा.

प्रतिबंधों से जूंझ रहे रूस ने इस बुरे वक्त में साथ देने के लिए न सिर्फ भारत का धन्यवाद दिया है, बल्कि खुलकर कहा है कि ‘भारत जो चाहता है हम सप्लाई करने को तैयार हैं’. गौरतलब है कि दुनिया की प्रमुख शक्तियों के उलट भारत ने अभी तक यूक्रेन पर आक्रमण के लिए रूस की आलोचना नहीं की है और न ही भारत ने रूसी आक्रमण की निंदा करने वाले प्रस्तावों पर संयुक्त राष्ट्र के मंचों पर मतदान में हिस्सा लिया. इसके साथ ही पिछले गुरुवार को यूक्रेन में मानवीय संकट को लेकर रूस द्वारा पेश प्रस्ताव पर मतदान के दौरान भी भारत गौर हाजिर रहा. इससे साफ जाहिर होता है कि भारत इस युद्ध में बिना किसी पक्ष का साथ दिए मामले को वार्ता के जरिए शांतिपूर्ण तरीके हल करने का पक्षधर है.

कई अन्य प्रमुख शक्तियों के विपरीत, भारत ने अभी तक यूक्रेन पर आक्रमण के लिए रूस की आलोचना नहीं की है और उसने रूसी आक्रमण की निंदा करने वाले प्रस्तावों पर संयुक्त राष्ट्र के मंचों पर मतदान में हिस्सा लेने से परहेज किया है. वहीं, पिछले बृहस्पतिवार को यूक्रेन में मानवीय संकट को लेकर रूस द्वारा पेश प्रस्ताव पर मतदान के दौरान भी भारत अनुपस्थित रहा. यह इस संघर्ष को लेकर भारत के निष्पक्ष रुख को प्रदर्शित करता है.

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

जेलेंस्की की गर्लफ्रेंड है पुतिन की बेटी कैटेरीना

मास्को (मा.स.स.). डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार व्लादिमीर पुतिन की बेटी कैटेरीना तिखोनोवा के …