शुक्रवार , मई 20 2022 | 07:08:08 AM
Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / रूस की सेनाएं यूक्रेन के जिन इलाकों को छोड़ रही हैं, वहां दिख रहा है लाशों का ढेर

रूस की सेनाएं यूक्रेन के जिन इलाकों को छोड़ रही हैं, वहां दिख रहा है लाशों का ढेर

Follow us on:

कीव (मा.स.स.). राजधानी कीव का घेरा डालने के बावजूद कब्जा करने में नाकाम रही रूसी सेना की वापसी शुरू हो गई है। इसके बाद, पास स्थित बुचा नगर में सड़क पर सादे कपड़ों में 20 लोगों की लाशें पाई गई हैं। यूक्रेनी सेना अब तक 30 नगरों पर दोबारा कब्जा कर चुकी है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक इनमें से एक शव के हाथ बंधे हुए थे। राजधानी के उत्तर पश्चिम में भी आवासीय सड़क पर लोगों की लाशें मिली हैं। इनकी मौत की वजह साफ नहीं हो सकी है। इनमें से एक के सिर में बड़ा घाव दिखाई दिया। रूसी सेना की वापसी के बाद यूक्रेन ने बुचा को मुक्त घोषित कर दिया है।

दूसरी ओर, रूस ने मध्य यूक्रेन के दो शहरों पोल्तावा और क्रेमेनचुक पर हमला किया। पोल्तावा क्षेत्र के प्रशासकीय प्रमुख दिमित्री लुनिन ने बताया कि रूसी मिसाइलों ने अवसंरचना ढांचों और रिहाइशी इलाकों को निशाना बनाया। इन हमलों में मरने वालों की संख्या का अब तक पता नहीं चला है। शनिवार को ही लुहांस्क क्षेत्र के सिवरोदोनेस्क और रुबिझने शहरों में रूस ने हवाई हमले किए। मैडिटेरियन द्वीप देश माल्टा में पोप फ्रांसिस ने यूक्रेन युद्ध के मामले में पहली बार रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की अधिपति कहकर परोक्ष निंदा की। इस युद्ध को लेकर सर्वोच्च ईसाई धर्म गुरु का यह अब तक का सबसे कड़ा बयान है। उन्होंने कहा, यूरोप के पूर्व से युद्ध की काली छाया फैल रही है। दुर्भाग्य से कुछ अधिपति, राष्ट्रीय हितों के दावों के नाम पर संघर्षों को भड़का रहे हैं।

यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने लोगों को चेताया कि रूसी सेना जो इलाके छोड़ रही हैं, उनमें बारूदी सुरंगें बिछा रखी हैं। रूसी तेल डिपो पर हमले का आदेश देने के सवाल पर जेलेंस्की ने कहा कि वह कमांडर के तौर पर जो आदेश देते हैं, उस पर चर्चा नहीं करते।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

मोदी ने समकक्ष शेर बहादुर के साथ नेपाल में रखी बौद्ध संस्कृति और विरासत केंद्र की आधारशिला

काठमांडू (मा.स.स.). प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को अपने नेपाली समकक्ष शेर बहादुर देउबा के …