शनिवार , मई 21 2022 | 09:58:33 PM
Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / इमरान खान प्रधानमंत्री के रूप में नहीं ले सकेंगे कोई नया फैसला, जारी हुआ नोटिफिकेशन

इमरान खान प्रधानमंत्री के रूप में नहीं ले सकेंगे कोई नया फैसला, जारी हुआ नोटिफिकेशन

Follow us on:

इस्लामाबाद (मा.स.स.). पाकिस्तान सरकार ने रविवार को एक नोटिफिकेशन जारी करके बताया कि इमरान खान अब प्रधानमंत्री का पद नहीं है। इस नोटिफिकेशन पर एडिशनल सेक्रेटरी एजाज ए डार के साइन हैं। इस नोटिफिकेशन के मुताबिक, “पाकिस्तान के प्रेसिडेंट के नेशनल असेंबली भंग करने के बाद इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ पाकिस्तान के आर्टिकल 58(1) और आर्टिकल 48(1) के तहत मिस्टर इमरान अहमद खान नाजी को तत्काल प्रभाव से पाकिस्तान के पीएम पद से हटाया जाता है।” इस नोटिफिकेशन के बाद इमरान खान देश में कोई नया फैसला जारी नहीं कर सकते हैं।

पाकिस्तान का राजनीतिक संकट और गहरा गया जब संसद के डिप्टी स्पीकर ने नेशनल असेंबली भंग कर दिया और अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग नहीं हो पाई। संसद के डिप्टी स्पीकर इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के नेता हैं। रविवार को पाकिस्तान के पीएम इमरान खान के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग होनी थी, लेकिन पाकिस्तानी नेशनल असेंबली के डिप्टी स्पीकर कासिम खान सूरी ने विदेशी साजिश का आरोप लगाकर अविश्वास प्रस्ताव को खारिज कर दिया और सदन में वोटिंग नहीं होने दी। डिप्टी स्पीकर ने 25 अप्रैल तक संसद की कार्यवाही स्थिगति कर दी है। विपक्ष इसे संविधान का उल्लंघन बताते हुए इसका पुरजोर विरोध कर रहा है।

इमरान ने कहा कि मुल्क से जो इतनी बड़ी साजिश की जा रही थी वो आज फेल हो गई। उन्होंने कहा कि नेशनल असेंबली के स्पीकर ने जिस अविश्वास प्रस्ताव को खारिज किया है, वह एक बाहर से प्लान किया हुआ अविश्वास प्रस्ताव था। इसके कुछ ही मिनटों बाद ही सत्ताधारी दल के नेता ने चुनाव आयोग को नए सिरे से चुनाव कराने की सलाह दी। सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री फारुख हबीब ने कहा कि राष्ट्रपति अल्वी ने प्रधानमंत्री की सलाह पर नेशनल असेंबली को भंग कर दिया है। उन्होंने कहा कि 90 दिनों के भीतर चुनाव हो जाएंगे। चौधरी ने कहा कि मंत्रिमंडल भंग कर दिया गया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि संविधान के अनुच्छेद 224 के तहत प्रधानमंत्री अपनी जिम्मेदारियों को जारी रखेंगे, मंत्रिमंडल भंग कर दिया गया है।

विपक्ष को खान को सरकार से बाहर करने के लिए 342 में से 172 सदस्यों के समर्थन की जरूरत थी, जबकि उन्होंने दावा किया था कि उनके पास 177 सदस्यों का समर्थन है। खान 2018 में ‘नया पाकिस्तान’ बनाने के वादे के साथ सत्ता में आए थे और अब अपने राजनीतिक करियर के नाजुक मोड़ पर हैं क्योंकि उनकी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) पार्टी ने बहुमत खो दिया है। उनकी दो सहयोगी पार्टियों ने भी सरकार से समर्थन वापस ले लिया और विपक्ष के खेमे से हाथ मिला लिया है।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

जेलेंस्की की गर्लफ्रेंड है पुतिन की बेटी कैटेरीना

मास्को (मा.स.स.). डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार व्लादिमीर पुतिन की बेटी कैटेरीना तिखोनोवा के …