मंगलवार , मई 17 2022 | 09:32:07 AM
Breaking News
Home / राष्ट्रीय / मैसेज भेज कर मांगी वित्तीय मदद, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के नाम से फर्जी व्हाट्सऐप अकाउंट

मैसेज भेज कर मांगी वित्तीय मदद, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के नाम से फर्जी व्हाट्सऐप अकाउंट

Follow us on:

मैसेज भेज कर मांगी वित्तीय मदद, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के नाम से फर्जी व्हाट्सऐप अकाउंट

रजनीश कु. सक्सेना 

नई दिल्ली (मा.स.स.). विश्व के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश भारत की संसद के लोकसभा सदन के सभापति ओम बिरला के नाम से फर्जी व्हाट्सऐप अकाउंट बनाने का मामला सामने आया है. जानकारी के मुताबिक ओम बिरला के नाम से एक व्हाट्सऐप अकाउंट बनाया गया है और उस अकाउंट से सांसदो व अन्य लोगों को मैसेज भेजकर वित्तीय सहायता मांगी जा रही है. यह जानकारी लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने ट्वीट कर दी है. जिसमें कहा गया है कि कुछ लोगों ने मेरी प्रोफाइल फोटो के साथ मेरे नाम से फर्जी व्हाट्सऐप अकाउंट बनाया है और 7862092008, 9480918183, 9439073870 मोबाइल नंबरों से मैसेज भेज रहे है. मामले की सूचना संबंधित अधिकारियों को दे दी गई है. कृपया इन नंबरों से आने वाले कॉल अथवा संदेशों को अनदेखा करे और इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दे.

ओडिशा पुलिस ने उजागर किया मामला

यह मामला ओडिशा पुलिस द्वारा उजागर किया गया. इस मामले के चलते राज्य में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. घटना के बारे में जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार किए गये तीनों लोग ने पहले से चालू सिम कार्डों को इस्तेमाल किया और ओम बिरला की सार्वजनिक फोटो लेकर फर्जी व्हाट्सऐप अकाउंट बनाये.

दिल्ली पुलिस ने किया था अलर्ट

वहीं दिल्ली पुलिस के हवाले से यह जानकारी दी जा रही है कि उन्होंने ओडिशा अपराध शाखा को उन फोन नंबरों के बारे में अलर्ट किया था. अपराधियों ने लोकसभा की वेबसाइट से कई सांसदों का मोबाइल नंबर निकाला और उन्हें ओम बिरला के फर्जी व्हाट्सऐप अकाउंट से पैसे मांगने के लिए मैसेज किया.

उपराष्ट्रपति के नाम से भी बनाया गया व्हाट्सऐप अकाउंट

कुछ दिन पहले उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू के नाम से एक व्यक्ति ने कई लोगों को संदेश भेजकर वित्तीय मदद मांगी थी. इस मामले में लोगों ने उपराष्ट्रपति सचिवालय को सूचित किया था कि मोबाइल नंबर 9439073183 से व्हाट्सऐप संदेश भेजे जा रहे है. इसमें उपराष्ट्रपति सचिवालय की तरफ से यह साफ किया गया था कि इस तरह के फर्जी संदेश यदि आपके पास आते है तो इसकी जानकारी उपराष्ट्रपति सचिवालय और अपने नजदीकी पुलिस स्टेशन को जरुर दे.

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

राजीव कुमार होंगे देश के नए मुख्य चुनाव आयुक्त

नई दिल्ली (मा.स.स.). राजीव कुमार को मुख्य चुनाव आयुक्त नियुक्त किया गया है। वे 15 …