मंगलवार , मई 17 2022 | 10:59:40 AM
Breaking News
Home / राज्य / उत्तरप्रदेश / सीएम योगी की शान में मुनव्वर राना ने पढ़े कसीदे, लिखा…मेरी ख्वाहिश है कि मैं फिर से फरिश्ता हो जाऊँ

सीएम योगी की शान में मुनव्वर राना ने पढ़े कसीदे, लिखा…मेरी ख्वाहिश है कि मैं फिर से फरिश्ता हो जाऊँ

Follow us on:

लखनऊ (मा.स.स.). कभी अवार्ड वापसी तो कभी अपने बयानों की वजह से चर्चा में रहने वाले शायर मुनव्वर राना आज कल खूब सोशल मीडिया पर छाये हुए है. शायद आपको याद होगा ये वही मुनव्वर राना है, जिन्होंने कहा था कि अगर 2022 में दोबारा भारतीय जनता पार्टी की सरकार उत्तर प्रदेश आई तो मैं प्रदेश छोड़ कर चला जाऊगा. लेकिन आज कल मुनव्वर राना सोशल मीडिया के जरिए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते नही थक रहे है. गुरुवार को मुनव्वर राना मे सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर पर योगी आदित्यनाथ के साथ उनकी मां सावित्री देवी की एक फोटों पोस्ट की. जिसके कैप्सन में राना ने लिखा कि “मेरी ख़्वाहिश है कि मैं फिर से फ़रिश्ता हो जाऊँ.”

सोशल मीडिया पर फोटो वायरल
आपकों बताते चलें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तीन दिन के दौरे पर बीते बुधवार को उत्तराखंड पहुचें थे. जहां योगी ने मां सावित्री देवी सहित परिवार के अन्य सदस्यों के साथ मुलाकात की थी. योगी आदित्यनाथ के मुलाकात का फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ. जिसके चलते देशभर से लोगों ने अपनी प्रतिक्रया व्यक्त की. इसी कड़ी में मुनव्वर राना ने गुरुवार को अपने ट्विटर हैडल पर योगी और उनकी मां की फोटो शेयर करते हुए अपनी प्रतिक्रिया दी है.

मां के लिए मुनव्वर राना का दर्द
उन्होंने आगे लिखा कि “माँ से इस तरह लिपट जाऊँ कि बच्चा हो जाऊं.” बताते चलें कि मुनव्वर राना काफी कम बोलते है लेकिन जब भी किसी मुद्दे पर बात करते है तो बेबाक तरीके से अपनी बात को रखते है. फिर चाहें वह मुद्दा किसी भी धर्म या मजहब से क्यों न जुड़ा हो. इसके अलावा राना ने कहा कि मुझे मां से मोहब्बत करने वाले लोग अच्छे लगते हैं. क्योंकि मेरी मां नहीं है, लेकिन जिसके पास भी मां होगी वह अपनी मां से मिलता होगा. मैं उसी मां को अपनी मां मान लेता हूं.

यह भी पढ़ेंदिल्ली में दिहाड़ी मजदूर भी कर सकेंगे डीटीसी की बसों में फ्री यात्रा

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

हिन्दू पक्ष का दावा, ज्ञानवापी में मिले मूर्तियों के अवशेष

लखनऊ (मा.स.स.). वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद का दूसरे दिन का सर्वे का काम पूरा हो …