मंगलवार , मई 17 2022 | 09:00:26 AM
Breaking News
Home / राज्य / उत्तरप्रदेश / ग्रेटर नोएडा के शारदा विश्वविद्यालय में हिंदू विरोधी सवाल पूछे जाने पर बवाल, जानिए क्या है पूरा मामला

ग्रेटर नोएडा के शारदा विश्वविद्यालय में हिंदू विरोधी सवाल पूछे जाने पर बवाल, जानिए क्या है पूरा मामला

Follow us on:

लखनऊ (मा.स.स.). दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा स्थित शारदा विश्वविद्यालय फिर एक बार विवादों में फसता हुआ नजर आ रहा है. विश्वविद्यालय में चल रहे मिड सेमेस्टर परीक्षा के दौरान बीए पॉलिटिकल साइंस के प्रश्न पत्र को लेकर बवाल शुरु हो गया है. जोकि इस वक्त सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. प्रश्न पत्र में पूछे गये एक सवाल को लेकर ये कहा जा रहा है कि 5 मई 2022 को हुई परीक्षा के दौरान छात्रों से फासीवाद और हिंदुत्व के बीच समानताएं लिखने को कहा गया था.

कैसे शुरु हुआ विवाद
आपको बताते चलें कि विश्वविद्यालय में इस वक्त सत्र 2021-22 की मिड सेमेस्टर परीक्षा चल रही है, इस दौरान बीते गुरुवार को प्रश्न पत्र में पूछे गए एक सवाल को लेकर छात्रों ने हंगामा शुरु कर दिया. उसके बाद देखते ही देखते मामला सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर तक पहुच गया. ऐसे में लोगों ने मामले को आड़े हाथों लेते हुए #BanShardaUniversity ट्रेंड कराना शुरु कर दिया.

मुस्लिम शिक्षक के बनाया प्रश्न पत्र 
बीजेपी नेता विकास प्रीतम सिंह ने इस मामले को उठाते हुए अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट करते हुए लिखा कि ‘शारदा विश्वविद्यालय’ का कृत्य देखिए कि परीक्षा में छात्रों को ‘हिन्दुत्व’ को अनिवार्य रूप से फासीवाद और नाजीवाद के समकक्ष सिद्ध करने के लिए कहा जा रहा है. यह प्रश्न पत्र कथित रूप से किसी मुस्लिम शिक्षक द्वारा बनाया गया है.

विश्वविद्यालय प्रशासन ने क्या कहा?
इस पूरे प्रकरण पर विश्वविद्यालय के जनसम्‍पर्क अधिकारी डा. अजीत कुमार ने बताया कि परीक्षा का प्रश्न पत्र संबंधित विभाग के शिक्षक ही बनाते है. डा. कुमार ने कहा कि इस मामले के संबंध में विश्वविद्यालय द्वारा जांच के आदेश दे दिए गए है. फिलहाल प्रश्न पत्र का मामला तूल पकड़ता देख विश्वविद्यालय प्रशासन ने शिक्षक को निलंबित कर दिया है. आपको बता दें कि विश्वविद्यालय में इस तरह का यह पहला मामला नही है. इससे पहले भी कई सारे मामलों में विश्वविद्यालय पर सवाल खड़े होते रहे है.

यह भी पढ़ेंआजम खान की जमानत को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई इलाहाबाद हाई कोर्ट को फटकार

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

हिन्दू पक्ष का दावा, ज्ञानवापी में मिले मूर्तियों के अवशेष

लखनऊ (मा.स.स.). वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद का दूसरे दिन का सर्वे का काम पूरा हो …