मंगलवार , मई 17 2022 | 10:12:49 AM
Breaking News
Home / मनोरंजन / संस्कार भारती सिने टाकीज नामक मंच उपलब्ध कराने जा रहा है : अभिजीत दादा गोखले

संस्कार भारती सिने टाकीज नामक मंच उपलब्ध कराने जा रहा है : अभिजीत दादा गोखले

Follow us on:

मुंबई (मा.स.स.). संस्कार भारती देश की स्वाधीनता के अमृत महोत्सव के अवसर पर दो दिनी राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन करेगी जिसका उदघाटन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद करेंगे और उस अवसर पर अनेक सिनेमाई विभूतियाँ उपस्थित रहेंगी। सिनेमा कोई उत्सव या पुरस्कार देने का माध्यम मात्र नहीं बल्कि यह वैचारिक एवं शैक्षणिक  विमर्श का महत्वपूर्ण माध्यम है।  इसको “वूड” के मोह से मुक्त कराकर भारतीय सिनेमा पर चर्चा के लिए संस्कार भारती सिने -टाकीज नामक मंच उपलब्ध कराने जा रही है। स्वाधीनता संग्राम में फिल्मों की भूमिका को इस वर्ष विमर्श के लिए चुना गया है। हर वर्ष अलग -अलग विषय लेकर सिनेमा पर चर्चा की जाएगी।  यह जानकारी सोफिटेल होटल बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स में  संस्कार भारती के राष्ट्रीय संगठन मंत्री अभिजीत दादा गोखले ने प्रेस वार्ता में दी।

ग्यारह बार राष्ट्रीय पुरस्कार से विभूषित फिल्मकार पद्मभूषण जानू बरुआ ने इसे संस्कार भारती की बड़ी पहल बताते हुए कहा कि सभी फिल्मकारों को इसके समर्थन में आकर विमर्श में हिस्सा लेना चाहिए। स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव के अवसर पर ‘संस्कार भारती’, ‘अकादमी ऑफ़ थिएटर आर्ट्स’, मुंबई विश्वविद्यालय तथा इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र के सहयोग से 2 दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन कर रहा है।  दिनांक: 13 और 14 मई 2022 को मुंबई विश्विद्यालय के कलीना कैम्पस में होने वाले इस आयोजन की विशेष बातें-

अद्वितीय स्वतंत्रता संग्राम में भारतीय सिनेमा के महत्वपूर्ण योगदान को फिर से देखने और समझने के लिए एक संवाद। विभिन्न भाषाओं के सम्मानित फिल्म निर्माता, सिनेमा के छात्र, समीक्षक और फिल्म प्रेमी एक मंच पर। पूरे भारत भर से ३०० से अधिक डेलीगेट्स। भारतीय सिनेमा का सही स्वरूप का पूर्ण दर्शन।

इस आयोजन के संरक्षक सुभाष घई, पद्मभूषण जानू बरुआ, पद्मभूषण मोहन लाल, पद्मभूषण विक्टर बनर्जी, पद्मश्री भावना सोमैय्या एवं प्रसिद्ध लेखक विजयेन्द्र प्रसाद हैं।  इस आयोजन के मुख्य अतिथि के नाते संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी उपस्थित होंगे। सुप्रसिद्ध अभिनेत्री एवं सेंसर बोर्ड की पूर्व अध्यक्षा आशा पारेख विषेश अतिथि के नाते आयोजन का हिस्सा होगी। उद्घटान का बीज भाषण प्रसिद्ध निर्देशक चंद्रप्रकाश द्विवेदी के द्वारा दिया जाएगा। मुंबई विश्वविद्यालय के कुलपति सुहास पेडणेकर जी की अध्यक्षता में यह उद्घाटन समारंभ सम्पन्न होगा।

इस सेमिनार में पूरे देश के सिनेमा के मूर्धन्य विद्धवान शामिल होकर सिनेमा पर चर्चा करेंगे। इस सेमिनार में चर्चित गीतकार मनोज मुन्तशिर, गायिका दुर्गा जसराज, फ़िल्म निर्देशक ओम राउत, संगीतकार अनू मलिक, फ़िल्म निर्देशक भारत बाला, मराठी फ़िल्म के लोकप्रीय अभिनेता सुबोध भावे, निर्देशक परेश मोकाशी, फ़िल्म निर्देशक एवं इतिहासकार कमल स्वरूप, कन्नड़ सिनेमा के जाने माने निर्देशक एम के राघवेंद्र, फिल्ममेकर अक्षय कुमार परीजा, तमिल फ़िल्म निर्देशक वसंत साई, मलयालम सिनेमा के सफल फिल्मकार मेजर रवि, वरिष्ठ पत्रकार उदय निर्गुडकर, गुजराती सिनेमा के लोकप्रिय निर्देशक अभिषेक जैन तथा फ़िल्म हिस्टोरियन डॉ प्रदीप केन्चनूर चर्चा करेंगे।

समापन सत्र के विशेष अतिथि के रूप में मशहूर लेखक एवं सेंसर बोर्ड के वर्तमान अध्यक्ष प्रसून जोशी सम्मिल्लित होंगे, प्रज्ञा प्रवाह के अखिल भारतीय संयोजक नंदकुमार का मुख्य संबोधन होगा, प्रसिद्ध अभिनेता एवं संस्कार भारती के अखिल भारतीय उपाध्यक्ष नीतीश भारद्वाज समापन की अध्यक्षता करेंगे।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

रणवीर कपूर की फिल्म जयेशभाई जोरदार का पहले दिन नहीं दिखा असर

मुंबई (मा.स.स.). देश के ब्रांड बाजार में हिंदी सिनेमा का सबसे महंगा और सबसे ज्यादा …