बुधवार , मई 18 2022 | 10:02:21 PM
Breaking News
Home / राष्ट्रीय / पेटीएम पर लगा चीन को भारतीयों की जानकारी देने का आरोप

पेटीएम पर लगा चीन को भारतीयों की जानकारी देने का आरोप

Follow us on:

नई द‍िल्‍ली (मा.स.स.). पेटीएम के शेयर में ग‍िरावट, नए अकाउंट खोलने पर पाबंदी के बाद पेटीएम एक और मुस‍ीबत में फंसता नजर आ रहा है. ताजा अपडेट में पेटीएम पेमेंट्स बैंक का चाइनीज कंपन‍ियों के साथ डाटा शेयर‍िंग का मामला सामने आया है. ब्लूमबर्ग के सूत्रों के अनुसार भारतीय र‍िजर्व बैंक (आरबीआई) की तरफ से प‍िछले द‍िनों की गई सालाना जांच में पाया गया क‍ि कंपनी के सर्वर चाइना-बेस्ड फर्म के साथ अहम जानकारी शेयर कर रहे थे. इस फर्म की अप्रत्‍यक्ष रूप से पेटीएम पेमेंट्स बैंक में ह‍िस्‍सेदारी है.

पेटीएम पेमेंट्स बैंक और इसके फाउंडर व‍िजय शेयर शर्मा का ज्‍वाइंट वेंचर है. चीन की अलीबाबा ग्रुप होल्‍ड‍िंग कंपनी ल‍िम‍िटेड और इसकी सहयोगी जैक मा एंट ग्रुप कंपनी के पास पेटीएम के शेयर हैं. यह जानकारी पेटीएम की तरफ से सेबी को भी दी गई है. हालांक‍ि पेटीएम की तरफ से इस पूरे मामले का खंडन क‍िया गया है. 11 मार्च को आरबीआई ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर सख्‍ती करते हुए नए अकाउंट खोलने पर पाबंदी लगा दी थी. आरबीआई ने पेटीएम बैंक से आईटी स‍िस्‍टम का ऑड‍िट कराने के ल‍िए भी कहा था. हालांक‍ि इस पूरे मामले में पुराने ग्राहकों पर क‍िसी तरह की रोक नहीं लगाई गई थी.

इस मामले के सामने आने के बाद अब ब्लूमबर्ग ने सोमवार को सूत्रों के हवाले से दावा क‍िया है क‍ि पेटीएम पेमेंट्स बैंक से नए ग्राहकों के जुड़ने पर आरबीआई ने इसल‍िए पाबंदी लगा दी थी क्‍योंक‍ि कस्‍टमर के डाटा को चाइनजीज फर्म के साथ शेयर क‍िया जा रहा था. इस मसले पर पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने बयान जारी कर खबरों का खंडन किया है. कंपनी की तरफ से इसे बेबुन‍ियाद बताया गया है. पेटीएम की तरफ से कहा गया ‘चीनी कंपनियों को डाटा लीक होने का दावा करने वाली ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट झूठी और सनसनीखेज है.’

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

किसी को किस करना नहीं है यौन अपराध : बॉम्बे हाईकोर्ट

मुंबई (मा.स.स.). बॉम्बे हाईकोर्ट ने यौन उत्पीड़न के मामले की सुनवाई के दौरान कहा कि …