बुधवार , मई 18 2022 | 10:05:51 PM
Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / रूस ने यूक्रेन पर नाटो देशों पर हमला करने में सक्षम हाइपरसोनिक मिसाइल का किया प्रयोग

रूस ने यूक्रेन पर नाटो देशों पर हमला करने में सक्षम हाइपरसोनिक मिसाइल का किया प्रयोग

Follow us on:

कीव (मा.स.स.). अमेरिका समेत नाटो देशों की किलर मिसाइलों के बल पर रूसी सेना में भारी तबाही मचा रहे यूक्रेन पर अब पुतिन की सेना ने पहली बार ‘ब्रह्मास्‍त्र’ से भीषण हमला किया है। रूस ने ऐलान किया है कि उसने यूक्रेन में हाइपरसोनिक मिसाइल किंझल का इस्‍तेमाल करके पश्चिमी देशों की ओर से दिए गए हथियारों के गोदाम को तबाह कर दिया है। रूस ने जिस किंझल मिसाइल का इस्‍तेमाल यूक्रेन में किया है, उसका तोड़ अमेरिका समेत दुनिया के किसी भी देश के पास नहीं है।  रूस ने इन घातक मिसाइलों का इस्‍तेमाल ऐसे समय पर किया है, जब यूक्रेन की जंग में रूस के एक और जनरल एंद्रेई मोरदविचेव की लड़ाई के दौरान मौत हो गई। इस अमेरिका ने चेतावनी दी है कि रूस यूक्रेन में परमाणु हमला भी कर सकता है।

इस हाइपसोनिक मिसाइल में सेंसर और रेडॉर सीकर लगे हैं जो उसे जमीन से लेकर समुद्र तक में सटीक हमला करने की बेजोड़ ताकत देते हैं। आमतौर रूस कालिनग्रेड बेस पर मिग-31 के विमानों को तैनात नहीं करता है लेकिन यूक्रेन की जंग को देखते हुए इन विमानों को यहां भेजा गया है। सैन्‍य विशेषज्ञ रॉब ली के अनुसार किंझल मिसाइल को अगर कालिनग्राड से दागा जाता है तो यह पश्चिमी यूरोपीय देशों के ज्‍यादातर राजधानियों और तुर्की की राजधानी अंकारा को तबाह करने की ताकत रखती है। यही नहीं किंझल के नाटो देशों पर हमला करने में मात्र 7 से 10 मिनट लगेंगे। ऐसे में उन्‍हें इसे बर्बाद करने के लिए भी वक्‍त नहीं मिलेगा।

लगभग सभी मिसाइल गोला-बारूद और कुछ प्रकार के गोला-बारूद की खपत के कारण, सैन्य-राजनीतिक नेतृत्व ने रूसी हथियार उद्योग में काम करने वाली सभी कंपनियों को स्थानांतरित करने का फैसला किया है और ‘कैलिबर’ क्रूज मिसाइलों और गोला-बारूद का उत्पादन ‘टॉरनेडो’ मल्टीपल लॉन्च रॉकेट सिस्टम के लिए किया है। यूक्रेन के जनरल स्टाफ ने यह भी बताया कि रूसी कब्जे वाले बलों ने आंशिक रूप से बस्तियों पर कब्जा करने और यूक्रेन के पूर्व में डोनेट्स्क और पिवडेनोबुज्स्की परिचालन क्षेत्रों में मार्गों पर नियंत्रण स्थापित करने में कामयाबी हासिल की थी।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

मोदी ने समकक्ष शेर बहादुर के साथ नेपाल में रखी बौद्ध संस्कृति और विरासत केंद्र की आधारशिला

काठमांडू (मा.स.स.). प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को अपने नेपाली समकक्ष शेर बहादुर देउबा के …