बुधवार , मई 18 2022 | 09:45:25 PM
Breaking News
Home / राज्य / महाराष्ट्र / राणा दंपति ने वापस ली मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने की योजना

राणा दंपति ने वापस ली मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने की योजना

Follow us on:

मुंबई (मा.स.स.). महाराष्ट्र में मनसे चीफ राज ठाकरे द्वारा शुरू किए गए हनुमान चालीसा विवाद में अब निर्दलीय सांसद नवनीत राणा भी कूद गईं हैं और यह लड़ाई अब उद्धव ठाकरे के घर मातोश्री तक पहुंच गई है. दरअसल, अमरावती से सांसद नवनीत राणा ने आज मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करने का ऐलान किया था. उनके इस ऐलान के बाद महाराष्ट्र में सियासी पारा एक बार फिर बढ़ गया है.

इस ऐलान के बाद सांसद नवनीत राणा को मुंबई पुलिस ने एक नोटिस भी भेजा. इस नोटिस में सीएम उद्धव ठाकरे के घर के बाहर हनुमान चालीसा के पाठ से मनाही की गई है. मुंबई पुलिस ने यह साफ किया है कि अगर रवि राणा या नवनीत राणा अपने घर से बाहर निकलने की कोशिश करेंगे तो उन्हें बाहर नहीं जाने दिया जाएगा. अगर उन्होंने जोर-जबरदस्ती की तो पुलिस रवाई करेगी. बता दें कि नवनीत राना ने आज सुबह 9 बजे मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पाठ शुरू करने का ऐलान किया था. वहीं इस विवाद के बाद खतरे को देखते हुए केंद्र सरकार ने नवनीत राणा को Y कैटेगरी की सुरक्षा प्रदान की है.

इस दौरान पुलिस और शिवसैनिकों के बीच धक्का-मुक्की भी हुई. शिवसैनिकों ने राणा के घर के बाहर लगे बैरियर तोड़ दिए और घर में घुसने की कोशिश की. शिवसैनिकों ने कहा कि हम अमरावती का कचरा साफ करने आए हैं. घर के बाहर हुए हंगामे के बाद नवनीत राणा ने सोशल मीडिया में एक वीडियो पोस्ट किया है. उन्होंने कहा- अगर ये बालासाहेब के शिवसैनिक होते तो हमें मातोश्री जाने की अनुमति मिल जाती. हमारे घर पर हमला हो रहा है, शिवसैनिकों ने गुंडागर्दी की है. पुलिस ने उन्हें रोकने का प्रयास नहीं किया है. कुछ हुआ तो इसके जिम्मेदार मुख्यमंत्री होंगे.

आंदोलनकारी निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा शनिवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बांद्रा स्थित निजी आवास तक मार्च निकालने वाले थे, लेकिन उन्होंने इसे अचानक वापस ले लिया है. विधायक राणा ने दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कल (रविवार, 24 अप्रैल) के मुंबई दौरे के मद्देनजर आंदोलन वापस लिया जा रहा है ताकि किसी भी तरह की कानून-व्यवस्था की स्थिति पैदा न हो. दोनों ने दावा किया कि वे महा विकास अघाड़ी या शिवसेना द्वारा किसी भी तरह के दबाव या डर में नहीं हैं, लेकिन पीएम की मुंबई यात्रा के सम्मान में अपनी योजनाओं को छोड़ रहे हैं.

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

सचिन वझे ने एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा से 45 लाख में करवाई थी मनसुख की हत्या

मुंबई (मा.स.स.). राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने मनसुख हिरेन हत्या मामले में पूर्व एनकाउंटर स्‍पेशलिस्‍ट …