मंगलवार , मई 17 2022 | 10:41:26 AM
Breaking News
Home / राज्य / उत्तरप्रदेश / शिवपाल सिंह यादव ने भतीजे अखिलेश यादव को दी महाभारत की धमकी

शिवपाल सिंह यादव ने भतीजे अखिलेश यादव को दी महाभारत की धमकी

Follow us on:

लखनऊ (मा.स.स.). सपा विधान मंडल दल की बैठक में न बुलाए जाने से नाराज होकर लखनऊ से इटावा वापस लौटे प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव रविवार सुबह ही रवाना हो गए। इटावा में उन्होंने बहुत खास लोगों से ही मुलाकात की। बताया जा रहा है कि शिवपाल सिंह यादव दिल्ली के लिए रवाना हुए हैं।

उनके दिल्ली जाने की चर्चा से जिले में राजनीतिक सरगर्मियां बढ़ गईं हैं। प्रसपा से जुड़े कुछ लोगों का कहना है कि अध्यक्ष लखनऊ जाने की बात कहकर यहां से रवाना हुए हैं। प्रसपा अध्यक्ष और जसवंतनगर से विधायक शिवपाल सिंह यादव को लखनऊ में सपा विधान मंडल दल की बैठक में नहीं बुलाया गया था। वह बैठक के लिए लखनऊ में ही रुके हुए थे। बैठक में न बुलाए जाने से नाराज शिवपाल सिंह यादव इटावा के लिए रवाना हो गए थे।

शिवपाल यहां पर तंज कसा कि धर्म के युद्ध में युधिष्ठिर दुर्योधन की जगह शकुनी से जुआ खेलने लगे, यहीं खेल का परिणाम तय हो गया था, हार किसकी होनी है। वे ताखा ब्लॉक के उदयपुरकला में एक धार्मिक कार्यक्रम में लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वह चाहते थे कि सिरसागंज से भाजपा प्रत्याशी हरीओम यादव को भी जीत मिले। भाजपा के सिरसागंज से प्रत्याशी रहे हरीओम यादव के साथ मंच साझा करते हुए कहा कि भाजपा प्रत्याशी हरीओम यादव को भी जीतना चाहिए था वह अच्छे व्यक्ति हैं।

शिवपाल सिंह यादव ने इस दौरान कहा कि जब अपने और परायों में भेद नहीं पता होता है तब महाभारत होती है। धर्म और राजनीति दोनों में यह नीति लागू होती है। साइकिल चुनाव चिह्न से लड़ने वाले प्रत्याशियों में उनकी जीत सबसे बड़ी हुई है। उन्होंने कहा कि आज सपा विधायकों की बैठक का कोई बुलावा नहीं भेजा गया था। इसी कारण वह शामिल नहीं हुए। लखनऊ से आकर अपने शुभचिंतकों के कार्यक्रमों में शामिल हो रहे हैं। इस मौके पर पूर्व विधायक हरीओम यादव ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि ध्रुव यादव चीनी भी मौजूद रहे।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

हिन्दू पक्ष का दावा, ज्ञानवापी में मिले मूर्तियों के अवशेष

लखनऊ (मा.स.स.). वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद का दूसरे दिन का सर्वे का काम पूरा हो …