मंगलवार , मई 17 2022 | 09:07:46 AM
Breaking News
Home / राज्य / उत्तरप्रदेश / उ.प्र. पुलिस ने अतिक्रमणकारी दुकानदारों को दी बुलडोजर चलाने की चेतावनी

उ.प्र. पुलिस ने अतिक्रमणकारी दुकानदारों को दी बुलडोजर चलाने की चेतावनी

Follow us on:

लखनऊ (मा.स.स.). उत्तर प्रदेश में 2.0 बीजेपी सरकार बनने के बाद फिर एक बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बुलडोजर अपने काम पर वापस आ गया. बाबा के बुलडोजर का इस्तेमाल पहले तो बड़े अपराधियों,अवैध सम्पतियों के कब्जे हटाने के लिए लाया जाता था. लेकिन अब औऱया पुलिस इस बुलडोजर को दुकानदारों के लिए साथ लेकर चल रही है जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है.

चुनाव से पहले ही बुलडोजर का क्रेज लोगों पर सिर चढ़ कर बोलने लगा था. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अलग पहचान देने के लिए अलग नाम भी दिया था और लोगों की जुबान पर एक ही नारा था “कि यूपी में तो आएंगे फिर से बुलडोजर बाबा ही” जिससे पहले से अपराधियों के दिल में दहशत पैदा होने लगी थी. लेकिन औऱया पुलिस का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. जिसमें एसपी अभिषेक वर्मा के आदेश पर बिधुना कोतवाल साहब अपनी पुलिस टीम के साथ नगर पंचायत का बुलडोजर लेकर घूम रहे हैं.

यह बुलडोजर किसी अपराधी या अवैध सम्पत्ति गिराने के लिए नहीं बल्कि उन दुकानदारों के लिए है जो दुकान के बाहर अवैध तरीके से अतिक्रमण फैलाए हुए हैं. बिधूना कोतवाली के कोतवाल साहब यह भी कह रहे हैं कि बुलडोजर की चाबी मेरे पास नहीं है. जब चलेगा तो चलता ही रहेगा.वहीं दुकानदारों ने पुलिस के इस रूप को देखते हुए चंद मिनटों में अपनी अपनी दुकानों से सड़कों पर किए अतिक्रमण को हटाया. पुलिस ने करीब 35 दुकानदारों पर कार्रवाई भी की.

पुलिस के इस वीडियो के वायरल होने पर चर्चा का विषय तो बना ही हुआ है साथ ही उन दुकानदारों के लिए भी डर का माहौल बन गया है जो सड़कों तक अवैध तरीके से दुकान का सामना लगाकर सजाते हैं जिससे सड़कों पर जाम का सामना लोगों को भी करना पड़ता था. बीजेपी की दोबारा सरकार बनने के बाद और फिर एक बार योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद ऐसा पहली बार देखने को मिला जहां पुलिस भी अब बुलडोजर को साथ लेकर घूम रही है.

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

हिन्दू पक्ष का दावा, ज्ञानवापी में मिले मूर्तियों के अवशेष

लखनऊ (मा.स.स.). वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद का दूसरे दिन का सर्वे का काम पूरा हो …