बुधवार , मई 18 2022 | 09:29:53 PM
Breaking News
Home / राज्य / उत्तरप्रदेश / योगी आदित्यनाथ 100 दिन में लायेंगे 10 लाख करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव

योगी आदित्यनाथ 100 दिन में लायेंगे 10 लाख करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव

Follow us on:

लखनऊ (मा.स.स.). उत्तर प्रदेश के विकास का एजेंडा तय करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने औद्योगिक निवेश को बढ़ावा देने के लिए एक बार फिर बड़ी छलांग लगाने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके तहत अगले सौ दिनों में एक भव्य ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी का आयोजन लखनऊ में किया जाएगा। इस ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में उद्योग जगत के सभी प्रमुख औद्योगिक घरानों के मुखिया मौजूद रहेंगे। इस आयोजन के जरिए 10 लाख करोड़ रुपए के औद्योगिक निवेश को यूपी में लाने की कवायद शुरू होगी।

राज्य में औद्योगिक निवेश के इस सिलसिले को बढ़ाने में अब सौ दिनों में होने वाली ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी अहम भूमिका निभाएगी। इसके जरिए प्रदेश में करीब 10 लाख करोड़ के निवेश को आकर्षित करने की शुरुआत होगी। संकल्प पत्र में इस लक्ष्य को रखा गया है। इसलिए ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी का आयोजन भव्य तरीके से आयोजित करने के लिए उच्च स्तर पर तैयारियां शुरू हो गई है। उद्योग जगत के नामी लोगों को इस आयोजन में आमंत्रित कर यूपी में बने औद्योगिक निवेश के माहौल को और बेहतर किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश में औद्योगिक निवेश के जरिए रोजगार के अधिक्तम अवसर उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रयास कर रहे हैं। इससे पहले योगी सरकार 1.0 में मुख्यमंत्री योगी ने नई औद्योगिक नीति बनाने के निर्देश देने के साथ ही 21 और 22 फरवरी 2018 को इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन लखनऊ में करने का फैसला किया था। इसके बाद योगी सरकार के पहले कार्यकाल में देश के जाने-माने उद्योगपतियों ने समिट में हिस्सा लिया। इसमें 4.65 लाख करोड़ रुपये के 1,065 एमओयू साइन हुए थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में हुए इस आयोजन में पहली बार राज्य में बड़े पैमाने पर इंफ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में एमओयू इस समिट में साइन हुए थे। इस समिट के दौरान यूपी में औद्योगिक निवेश को बढ़ावा देने के लिए पॉलिसी के जरिए सरकार ने पूरा रोडमैप तैयार किया था। तब हर जिले के पारंपरिक उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए योगी सरकार ने वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रॉडक्ट योजना को भी बढ़ावा दिया था। इस इन्वेस्टर्स समिट के बाद सरकार ने 28 जुलाई को यूपी में औद्योगिक निवेश को बढ़ावा देने के लिए ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी का आयोजन किया गया। मुकेश अंबानी, गौतम अडानी, कुमार मंगलम बिड़ला जैसे बड़े नामी उद्योगपति इसमें शामिल हुआ थे। इस ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में 60 हजार करोड़ रुपये से अधिक के प्रस्ताव यूपी में स्थापित करने के समझौते हुए थे।

आदित्यनाथ की पहल पर हुए इनवेस्टर समिट और ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी से बीते पांच साल में यूपी में औद्योगिक निवेश की तस्वीर बदली है। औद्योगिक विकास विभाग के अधिकारियों के अनुसार इंवेस्टर समिट में देश विदेश के बड़े निवेशकों ने 4.65 लाख करोड़ के 1,045 निवेश प्रस्ताव सरकार को सौंपे थे। जिसमें से 215 निवेशकों ने 51,240.25 करोड़ रुपए का निवेश कर अपने उद्यम स्थापित कर दिए हैं। जबकि 130 निवेशक 37,478.63 करोड़ रुपए का निवेश कर अपना उद्यम स्थापित कर रहे हैं और 449 निवेशक 86,842.89 का निवेश कर अपना उद्यम स्थापित करने की कार्रवाई कर रहे हैं।

कोरोना संकट के दौरान भी राज्य में 96 निवेशकों ने 66,000 करोड़ रुपए का निवेश यूपी में करने की पहल की। यहीं नहीं यूपी के डिफेंस कारिडोर में 50 हजार करोड़ रुपए के होने वाले निवेश से पांच लाख लोगों के रोजगार पाने के अवसर बने। अब डिफेंस कारिडोर के चलते लखनऊ में ब्रह्मोस मिसाइल बनेगी और अलीगढ़ नोड में 1,245 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश हो रहा है।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

योगी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में आजम खान को बताया आदतन अपराधी

लखनऊ (मा.स.स.). उत्तर प्रदेश सरकार ने सपा के सीनियर नेता आजम खान को भूमाफिया बताते …