रविवार , मई 16 2021 | 05:48:16 AM
Breaking News
Home / दक्षिण भारत : ऑक्सीजन पहुंचने में कुछ मिनटों की देरी से गई 11 कोरोना मरीजों की जान

दक्षिण भारत : ऑक्सीजन पहुंचने में कुछ मिनटों की देरी से गई 11 कोरोना मरीजों की जान

अमरावती (मा.स.स.). आंध्र प्रदेश के तिरुपति में स्थित रुइया सरकारी अस्पताल में ऑक्सिजन की कमी के चलते 11 कोरोना मरीजों की मौत हो गई है। जिला कलेक्टर हरिनारायण ने इस घटना की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि रात में ICU में ऑक्सिजन की सप्लाई में दिक्कत की वजह से 11 कोरोना मरीजों की मौत हो गई। आंध्र प्रदेश के सीएम जगन मोहन रेड्डी ने इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं। बताया जा रहा है कि ऑक्सिजन का एक टैंकर आना था जो समय पर नहीं पहुंच सका और ऑक्सिजन की कमी हो गई।

घटना के बाद चित्तूर के जिला कलेक्टर हरि नारायण, जॉइंट कलेक्टर और म्यूनिसिपल कमिश्नर ने अस्पताल का दौरा किया। चित्तूर के जिला कलेक्टर हरिनारायण ने बताया कि ऑक्सिजन सिलेंडर को दोबारा लोड करने में 5 मिनट का समय लगा जिससे ऑक्सिजन आपूर्ति कम होने से मरीजों की मौत हो गई। उन्होंने कहा कि ऑक्सिजन की आपूर्ति 5 मिनट के भीतर ही बहाल हो गई और अब सब सामान्य हो गया है। समय पर ऐक्शन की वजह से हम अधिक मरीजों की मौत रोक सके। लगभग 30 डॉक्टरों को मरीजों की देखरेख करने के लिए तुरंत आईसीयू में भेजा गया।

11 मरीजों की मौत की जानकारी जब सीएम जगन मोहन रेड्डी को मिली तो उन्होंने इस पर दुख व्यक्त किया। जिला कलेक्टर से बात करने के बाद उन्होंने घटना की जांच करने का आदेश दिया। इसके साथ ही उन्होंने यह सुनिश्चित करने के लिए भी कहा कि भविष्य में ऐसी घटना दोबारा न हो। वहीं, टीडीपी नेता लोकेश नारा ने घटना से जुड़ा एक कथित वीडियो ट्विटर पर पोस्ट करते हुए राज्य सरकार पर सवाल उठाए और इसे ‘हत्या’ बता दिया।

आंध्र प्रदेश में भी कोरोना की वजह से स्थिति बेहद खराब है। बीते 24 घंटे के दौरान राज्य में कोरोना के 14,986 नए मामले सामने आए और 84 लोगों की मौत हुई है। आंध्र प्रदेश में अबतक कोरोना के पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 13,02,589 हो गई है जिसमें 1,89,367 ऐक्टिव केस हैं। राज्य में कोरोना से अबतक 8,791 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।