शनिवार, जून 22 2024 | 08:21:00 AM
Home / राष्ट्रीय / रेल मार्गों पर देश भर के प्रमुख स्थलों को जोड़ने के लिए विशेष ट्रेनों की योजना की गयी

रेल मार्गों पर देश भर के प्रमुख स्थलों को जोड़ने के लिए विशेष ट्रेनों की योजना की गयी

Follow us on:

नई दिल्ली (मा.स.स.). त्योहार के इस मौसम में रेल यात्रियों की सुविधा और यात्रियों की अतिरिक्त भीड़ को कम करने के लिए भारतीय रेलवे इस साल छठ पूजा तक 179 विशेष ट्रेनों (जोड़े में) के 2269 फेरों का संचालन करेगा। दिल्ली-पटना, दिल्ली-भागलपुर, दिल्ली-मुजफ्फरपुर, दिल्ली-सहरसा आदि रेल मार्गों पर देश भर के प्रमुख स्थलों को जोड़ने के लिए इन विशेष ट्रेनों की योजना बनाई गई है।

अनारक्षित डिब्बों में यात्रियों के व्यवस्थित प्रवेश के लिए आरपीएफ कर्मियों की देखरेख में टर्मिनल स्टेशनों पर कतार बनाकर भीड़ नियंत्रण के उपाय सुनिश्चित किए जा रहे हैं। यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए प्रमुख स्टेशनों पर अतिरिक्त आरपीएफ कर्मियों को तैनात किया गया है। ट्रेनों के सुचारू संचालन को सुनिश्चित करने के लिए प्रमुख स्टेशनों पर अधिकारियों को आपातकालीन ड्यूटी पर तैनात किया गया है। ट्रेन सेवा के किसी भी प्रकार के व्यवधान को दूर करने के लिए प्राथमिकता के आधार पर कर्मचारियों को विभिन्न मंडलों में तैनात किया गया है।

प्लेटफॉर्म नंबर के साथ ट्रेनों के आगमन/प्रस्थान की बार-बार और समय पर घोषणा करने के उपाय किए गए हैं। “क्या मैं आपकी सहायता कर सकती हूँ” बूथ महत्वपूर्ण स्टेशनों पर चालू रखे गए हैं, जहां यात्रियों की उचित सहायता और मार्गदर्शन के लिए आरपीएफ कार्मिक और टीटीई की प्रतिनियुक्ति की जा रही है। जरूरत पड़ने पर प्रमुख स्टेशनों पर चिकित्सा दल उपलब्ध हैं। पैरामेडिकल टीम के साथ एम्बुलेंस भी उपलब्ध हैं।

सुरक्षा एवं सतर्कता विभाग के कर्मचारियों द्वारा किसी भी तरह के कदाचार – जैसे सीटों पर कब्ज़ा ज़माना, अधिक पैसे वसूलना और दलाली गतिविधि आदि पर नजर रखी जा रही है और कड़ी निगरानी की जा रही है। मंडल मुख्यालय द्वारा प्रतीक्षा कक्षों, विश्राम कक्षों, विशेष रूप से प्लेटफार्म और स्टेशनों पर साफ-सफाई बनाए रखने के निर्देश दिए गए हैं।

भारत : 1857 से 1957 (इतिहास पर एक दृष्टि) पुस्तक अपने घर/कार्यालय पर मंगाने के लिए आप निम्न लिंक पर क्लिक कर सकते हैं

https://vyaparapp.in/store/Pustaknama/15

https://www.meesho.com/hindi-paperback-history-books/p/2r4nct

इस पुस्तक को ई-बुक के रूप में खरीदने हेतु कृपया निम्न लिंक पर क्लिक करें –

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

सुभाष चन्द्र बोस

स्वतंत्रता पूर्व कांग्रेस के अधिवेशनों में अध्यक्ष का चुनाव होता था। ऐसे ही अधिवेशनों में …