मंगलवार , मई 17 2022 | 09:06:53 AM
Breaking News
Home / विविध

विविध

विविध

आज का हास्य, परिहास और उपहास

30 साल से वकालत कर रहे वकील से एक व्यक्ति ने पूछा कि- घरजमाई की पत्नी अगर किसी और के साथ भाग गई तो घरजमाई  ससुराल में रह सकता है क्या? वकील साहब ने दुबारा लॉ कॉलेज में एडमिशन लिया है इस प्रश्न के जवाब के लिए…. 😂😂😂😜     …

Read More »

मातृभूमि समाचार अब news.google.com पर भी उपलब्ध

कानपुर (मा.स.स.). मातृभूमि समाचार प्रतिदिन नए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है. अब इसमें एक और नई उपलब्धि जुड़ गई है. अब मातृभूमि समाचार के पाठक हमारे समाचार news.google.com व गूगल ऐप पर भी पढ़ सकते हैं. ऐसा करने के लिए आपको बस निम्न लिंक पर क्लिक करके हमें फॉलो करना …

Read More »

वर चाहिए

यदि आप भी वर/ वधू खोज रहे हैं, तो हमें युवती/युवक की जानकारी अधिकतम 50 अक्षरों में [email protected] पर ईमेल कर सकते हैं। आपसे अनुरोध है कि विवाह संबंध स्थापित करने से पूर्व अपनी ओर से पूर्ण जानकारी कर लें। मातृभूमि समाचार विवाह से जुड़े विज्ञापन हेतु एक माह – …

Read More »

वधू चाहिए

यदि आप भी वर/ वधू खोज रहे हैं, तो हमें युवती/युवक की जानकारी अधिकतम 50 अक्षरों में [email protected] पर ईमेल कर सकते हैं। आपसे अनुरोध है कि विवाह संबंध स्थापित करने से पूर्व अपनी ओर से पूर्ण जानकारी कर लें। मातृभूमि समाचार विवाह से जुड़े विज्ञापन हेतु एक माह – …

Read More »

ऑडियो समाचार : राजनाथ सिंह ने पत्रकार वार्ता कर दी ऑस्ट्रेलिया के रक्षा मंत्री के साथ हुई द्विपक्षीय बैठक की जानकारी

मातृभूमि समाचार · Rajnath Singhs Media Statement After The Bilateral Meeting With The Defence Minister Of Australia मातृभूमि समाचार · Prime Minister Narendra Modis Remarks At The 13th BRICS Summit रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की उपस्थिति में मध्यम दूरी की एसएएम वायु रक्षा प्रणाली भारतीय सेना में हुई शामिल मातृभूमि …

Read More »

नवजात शिशु के शुभ व अशुभ योग, भाग-1 : जानें निशुल्क समाधान

– श्याम जी शुक्ल ज्योतिषाचार्य व वास्तु विशेषज्ञ मो० : +91-8808797111 ‘पायल’ विचारः- जातक के जन्म के समय यदि चंद्रमा लग्न में हो अथवा लग्न से छठे या ग्यारहवें भाव में हो तो बालक का जन्म ‘स्वर्ण-पाद’ (सोने का पायला) में कहना चाहिए। यदि दूसरे, पांचवें अथवा नवें भाव में …

Read More »

15 अगस्त 1947 से पहले का भारत – प्रथम संस्करण

15 अगस्त 1947 से पहले का भारत – प्रथम संस्करण     – सारांश कनौजिया  जब हम भारत की स्वतंत्रता के इतिहास की बात करते हैं, तो हमारा ध्यान अंग्रेजों की गुलामी के काल पर जा कर रूक जाता है। किन्तु भारत इससे पहले भी गुलाम रहा है। विभिन्न इस्लामिक …

Read More »