रविवार, मई 19 2024 | 01:20:21 AM
Breaking News
Home / राष्ट्रीय / भारतीय वायु सेना ने सिंगापुर वायु सेना के साथ किया संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण- 2022

भारतीय वायु सेना ने सिंगापुर वायु सेना के साथ किया संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण- 2022

Follow us on:

नई दिल्ली (मा.स.स.). भारतीय वायु सेना (आईएएफ) और रॉयल सिंगापुर वायु सेना (आरएसएएफ) के बीच वार्षिक संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण (जेएमटी) का 11वां संस्करण 3 नवंबर 2022 को कलाईकुंडा स्थित वायु सेना स्टेशन में शुरू हुआ। इन दोनों वायु सेनाओं ने दो साल के अंतराल के बाद इस प्रशिक्षण को फिर से शुरू किया है। कोविड-19 महामारी के कारण पिछले दो वर्षों के दौरान प्रशिक्षण नहीं दिया जा सका था। जेएमटी के इस संस्करण को छह सप्ताह की अवधि में आयोजित किया जाएगा। इस अभ्यास का द्विपक्षीय चरण 9 से 18 नवंबर, 2022 तक आयोजित किया जाएगा और दोनों वायु सेनाएं उन्नत वायु युद्ध अभ्यास में शामिल होंगी।

जेएमटी- 2022 में आरएसएएफ एफ-16 विमान के साथ हिस्सा ले रही है। वहीं, आईएएफ एसयू-30 एमकेआई, जगुआर, मिग-29 और एलसीए तेजस विमानों को इस अभ्यास में उतारेगी। यह अभ्यास रक्षा सहयोग के क्षेत्र में भारत और सिंगापुर के बीच मजबूत और लंबे समय से चले आ रहे संबंधों को रेखांकित करता है। इसका उद्देश्य दोनों वायु सेनाओं के बीच पेशेवर संबंध को मजबूत करते हुए इसमें हिस्सा लेने वाले दल को मूल्यवान परिचालन ज्ञान, अनुभव और सर्वश्रेष्ठ अभ्यासों को साझा करने का अवसर प्रदान करना है।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

किसी पागल ने परमाणु बम लाहौर पर गिराया, तो ….. : मणिशंकर अय्यर

नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव की सगर्मियों के बीच कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने पाकिस्तान को लेकर …