शुक्रवार , सितम्बर 30 2022 | 03:55:08 PM
Breaking News
Home / राज्य / पूर्वोत्तर भारत / नारायण राणे ने पूर्वोत्तर क्षेत्र में एमएसएमई को बढ़ावा देने के लिए पोर्टल का किया उद्घाटन

नारायण राणे ने पूर्वोत्तर क्षेत्र में एमएसएमई को बढ़ावा देने के लिए पोर्टल का किया उद्घाटन

Follow us on:

गुवाहाटी (मा.स.स.). केंद्रीय एमएसएमई मंत्री नारायण राणे ने राष्ट्रीय एमएसएमई बोर्ड (एनबीएमएसएमई) की आज यहां आयोजित 18वीं बैठक की अध्यक्षता की। इस अवसर पर एमएसएमई राज्य मंत्री भानु प्रताप सिंह वर्मा ने भी शिरकत की। राणे ने पूर्वोत्तर क्षेत्र (एनईआर) और सिक्किम में एमएसएमई को बढ़ावा देने की योजना के लिए पोर्टल का उद्घाटन किया। मंत्री ने उद्यम और एनसीएस पोर्टलों को जोडने का शुभारंभ किया, जिसकी घोषणा बजट 2022 में की गई थी। उद्यम पंजीकरण पोर्टल के संबंध में एमएसएमई मंत्रालय और सामान्य सेवा केंद्र के बीच एक समझौता ज्ञापन पर भी हस्ताक्षर किए गए।

बोर्ड की बैठक के दौरान 23 मार्च, 2022 को आयोजित राष्ट्रीय एमएसएमई बोर्ड की 17वीं बैठक के लिखित ब्यौरे की पुष्टि की गई। एक्शन टेकन रिपोर्ट में यह देखा गया कि 17वीं बैठक की सभी सिफारिशों को एमएसएमई मंत्रालय द्वारा ध्यान में लिया गया था और संबंधित मुद्दों के उचित समाधान के लिए उचित कार्रवाई की गई है। बैठक की अध्यक्षता करते हुए नारायण राणे ने आश्वासन दिया कि बैठक के दौरान सदस्यों द्वारा दिए गए सभी मूल्यवान सुझावों पर उचित विचार किया जाएगा। उन्होंने सकल घरेलू उत्पाद, निर्यात और रोजगार में एमएसएमई क्षेत्र के योगदान पर प्रकाश डाला।

उन्होंने सूक्ष्म और लघु उद्यमों को विलंबित भुगतान के मुद्दे को हल करने की आवश्यकता पर बल दिया। केंद्रीय मंत्री ने क्षेत्र में एमएसएमई के प्रचार और विकास के लिए एनईआर और सिक्किम से संबंधित पोर्टल के शुभारंभ की सराहना की। उन्होंने राष्ट्रीय कैरियर सेवा (एनसीएस) के साथ उद्यम पोर्टल को जोड़ने का विशेष रूप से उल्लेख किया, जो एमएसएमई क्षेत्र के लिए एनसीएस के रोजगार योग्य जनशक्ति डेटाबेस तक पहुंच के अवसर के रूप में है। एमएसएमई मंत्रालय और कॉमन सर्विस सेंटर के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर का उल्लेख करते हुए, राणे ने कहा कि यह दूरदराज के क्षेत्रों में रहने वाले उद्यमों के लिए सलाह और सहायता का विस्तार करेगा और उन्हें सरकारी योजनाओं और प्राथमिकता क्षेत्र के ऋण का लाभ उठाने में मदद करेगा।

बैठक में केंद्र और राज्य सरकारों के वरिष्ठ अधिकारी, विभिन्न उद्योग संघों के पदाधिकारी और अन्य प्रतिनिधि भी शामिल हुए। राष्ट्रीय हिंदी दिवस के अवसर पर केंद्रीय एमएसएमई मंत्री ने सभी प्रतिभागियों को बधाई दी

भारत : 1857 से 1957 (इतिहास पर एक दृष्टि) पुस्तक अपने घर/कार्यालय पर मंगाने के लिए आप निम्न लिंक पर क्लिक कर सकते हैं

https://vyaparapp.in/store/Pustaknama/15

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

राजनाथ ने भूस्खलन में मारे गए सशस्त्र बलों के जवानों के परिवार को किया सम्मानित

इम्फाल (मा.स.स.). रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मणिपुर के तुपुल में हाल ही में हुए …