मंगलवार , नवम्बर 29 2022 | 03:59:16 AM
Breaking News
Home / राज्य / झारखण्ड / हेमंत सोरेन सरकार को अच्छा नहीं लगा उपद्रवियों के पोस्टर लगाना

हेमंत सोरेन सरकार को अच्छा नहीं लगा उपद्रवियों के पोस्टर लगाना

Follow us on:

रांची (मा.स.स.). पिछले शुक्रवार रांची में हिंसा हुई थी. इसको रोकने के लिए पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी, जिसमें दो उपद्रवियों की मौत हो गई थी. पुलिस ने प्रदेश के राज्यपाल रमेश बैस के कहने पर उपद्रवियों के पोस्टर भी शहर के विभिन्न स्थानों पर लगा दिए थे. इससे जहां एक ओर हिंसा करने वालों के बीच डर का माहौल बना था, तो दूसरी ओर इस हिंसक भीड़ का समर्थन करने वालों के निशाने पर झारखण्ड सरकार आ गई थी. यही कारण था कि पोस्टर लगाने के थोड़ी देर बाद ही पुलिस ने इन्हें हटा भी लिया.

बताया गया कि पोस्टर में कुछ गड़बड़ थी, सही करके दुबारा लगायेंगे. लेकिन पोस्टर फिर नहीं लगे. कल भी शुक्रवार है, स्थिति तनावपूर्ण है. लेकिन इस बीच झारखण्ड की हेमंत सोरेन सरकार के एक निर्णय ने उपद्रवियों में फिर से जोश भर दिया है. पोस्टर लगाने के लिए एसएसपी को गृह सचिव ने कारण बताओ नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण माँगा है. हो सकता है कि कुछ दिनों में उनका ट्रान्सफर हो जाए या और कोई कार्रवाई. अगले दो-तीन दिन में उपद्रवियों के खिलाफ एक्शन लेने वाले इस पुलिस अधिकारी को क्या सजा दी जायेगी, शायद यह तय हो जाए.

यह भी पढ़ें : नरेश पटेल नहीं होंगे कांग्रेस में शामिल, बुजुर्ग समर्थक कर रहे थे विरोध

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

झारखंड में हिंसा करने के लिए उत्तर प्रदेश से गई थी एक टीम

रांची (मा.स.स.). कई जगह यह आरोप लगे हैं कि हिंसा करने वाले बाहर के लोग …