शनिवार , अक्टूबर 08 2022 | 12:08:08 AM
Breaking News
Home / राष्ट्रीय / कृषि मंत्रालय ने वर्ष 2021-22 के सम्बंध में प्रमुख फसलों के चौथे अग्रिम अनुमान किये जारी

कृषि मंत्रालय ने वर्ष 2021-22 के सम्बंध में प्रमुख फसलों के चौथे अग्रिम अनुमान किये जारी

Follow us on:

नई दिल्ली (मा.स.स.). केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने वर्ष 2021-22 के सम्बंध में प्रमुख फसलों के चौथे अग्रिम अनुमान जारी कर दिये। देश में रिकॉर्ड 315.72 मिलियन टन खाद्यान्न उत्पादन का अनुमान है, जो 2020-21 के दौरान पैदा होने वाले खाद्यान्न की तुलना में 4.98 मिलियन टन अधिक है। चावल, मक्का, चना, दलहन, सफेद सरसों (रेपसीड) व काली सरसों, तिलहन और गन्ने का रिकॉर्ड उत्पादन होने का अनुमान लगाया गया है। कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि रिकॉर्ड उत्पादन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सक्षम नेतृत्व में केंद्र सरकार की किसान-अनुकूल नीतियों और किसानों तथा वैज्ञानिकों के अथक परिश्रम का नतीजा है।

चौथे अग्रिम अनुमानों के अनुसार, वर्ष 2021-22 के दौरान प्रमुख फसलों का अनुमानित उत्पादन इस प्रकार हैः खाद्यान्न 315.72 मिलियन टन, चावल 130.29 मिलियन टन (रिकॉर्ड उत्पादन), गेहूं 106.84 मिलियन टन, पौष्टिक अनाज/मोटे अनाज 50.90 मिलियन टन, मक्का 33.62 मिलियन टन (रिकॉर्ड उत्पादन), दलहन 27.69 मिलियन टन (रिकॉर्ड उत्पादन), अरहर 4.34 मिलियन टन, चना 13.75 मिलियन टन (रिकॉर्ड), तिलहन 37.70 मिलियन टन (रिकॉर्ड उत्पादन), मूंगफली 10.11 मिलियन टन, सोयाबीन 12.99 मिलियन टन, सफेद और काली सरसों 11.75 मिलियन टन (रिकॉर्ड उत्पादन), गन्ना 431.81 मिलियन टन (रिकॉर्ड उत्पादन), कपास 31.20 मिलियन टन गांठें (प्रत्येक गांठ का वजन 170 किलोग्राम), जूट और मेस्ता 10.32 मिलियन टन गांठें (प्रत्येक गांठ का वजन 180 किलोग्राम)।

वर्ष 2021-22 के दौरान चावल के कुल उत्पादन का अनुमान रिकॉर्ड 130.29 मिलियन टन लगाया गया है। यह पिछले पांच वर्षों के दौरान होने वाले औसत उत्पादन 116.44 मिलियन टन से 13.85 मिलियन टन अधिक है। वर्ष 2021-22 के दौरान गेहूं का कुल उत्पादन 106.84 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। यह पिछले पांच वर्षों के दौरान होने वाले औसत उत्पादन 103.88 मिलियन टन से 2.96 मिलियन टन अधिक है। पौष्टिक अनाज/मोटे अनाज का कुल उत्पादन 50.90 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। यह पिछले पांच वर्षों के दौरान होने वाले औसत उत्पादन 46.57 मिलियन टन से 4.32 मिलियन टन अधिक है। वर्ष 2021-22 के दौरान दलहन का रिकॉर्ड उत्पादन 27.69 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। यह पिछले पांच वर्षों के दौरान होने वाले औसत उत्पादन 23.82 मिलियन टन से 3.87 मिलियन टन अधिक है।

वर्ष 2021-22 के दौरान तिलहन का कुल उत्पादन रिकॉर्ड 37.70 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। यह पिछले पांच वर्षों के दौरान होने वाले औसत उत्पादन 35.95 मिलियन टन से 1.75 मिलियन टन अधिक है। इसके अलावा, वर्ष 2021-22 के दौरान तिलहन का उत्पादन औसत उत्पादन से 5.01 मिलियन टन अधिक है। वर्ष 2021-22 के दौरान गन्ने का कुल उत्पादन रिकॉर्ड 431.81 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। यह औसत उत्पादन 373.46 मिलियन टन से 58.35 मिलियन टन अधिक है। कपास 31.20 मिलियन टन गांठों (प्रत्येक गांठ का वजन 170 किलोग्राम), जूट और मेस्ता 10.32 मिलियन टन गांठों (प्रत्येक गांठ का वजन 180 किलोग्राम) के उत्पादन का अनुमान है।

विभिन्न फसलों के उत्पादन के मूल्यांकन का आधार राज्यों द्वारा प्राप्त आंकड़ें हैं। इसके साथ ही अन्य स्रोतों से प्राप्त सूचना के जरिये उनकी पुष्टि की जाती है। इस तरह दो आधारों पर मूल्यांकन किया जाता है। वर्ष 2021-22 के लिये चौथे अग्रिम अनुमानों के अनुसार विभिन्न फसलों के अनुमानित उत्पादन तथा वर्ष 2007-08 के कालखंड से तुलनात्मक अनुमानों का सम्पूर्ण ब्योरा संलग्न है।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

गर्व के साथ आकाश छू रही भारतीय वायुसेना

– डॉ घनश्याम बादल  भले ही भावनात्मक रूप से कहा जाए कि हर भारतीय देश …