सोमवार , नवम्बर 28 2022 | 11:29:46 AM
Breaking News
Home / राष्ट्रीय / ओमान और थाईलैंड के राजदूतों ने खादी उत्पादों की विविधता को सराहा

ओमान और थाईलैंड के राजदूतों ने खादी उत्पादों की विविधता को सराहा

Follow us on:

नई दिल्ली (मा.स.स.). खादी की बढ़ती वैश्विक लोकप्रियता ने भारत में थाईलैंड की राजदूत  पट्टारत होंगटोंग, और भारत में ओमान के राजदूत  इस्सा अलशिबानी, जिन्होंने शुक्रवार को 41वें भारत अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला-2022 में खादी इंडिया पवेलियन का दौरा किया। राजदूतों ने खादी की बढ़ती हुई वैश्विक लोकप्रियता की सराहना की और खादी मंडप में सेल्फी पॉइंट पर महात्मा गांधी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के चित्रों के साथ सेल्फी ली। खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग के निदेशक (प्रचार)  संजीव पोसवाल ने उनका स्वागत किया। दोनों राजदूतों ने खादी इंडिया पवेलियन में उत्पादों की व्यापक विविधता और खादी कारीगरों की उत्कृष्ट शिल्प कौशल की सराहना की।

राजदूतों ने चरखे पर सूत कताई, मिट्टी के बर्तन बनाने, अगरबत्ती और हस्तनिर्मित कागज बनाने का लाइव प्रदर्शन देखा, साथ ही उन्होंने बेहतरीन दस्तकारी खादी कपड़े, रेडीमेड वस्त्र, हस्तनिर्मित आभूषण, हर्बल स्वास्थ्य देखभाल उत्पादों और कई ग्रामोद्योग उत्पादों के अन्य स्टालों का भी दौरा किया। थाई राजदूत ने कहा, “मैं खादी और ग्रामोद्योग आयोग को आईआईटीएफ में इतना भव्य खादी इंडिया पवेलियन स्थापित करने के लिए बधाई देती हूं जिसने खादी कारीगरों को अपने उत्पादों को बेचने के लिए एक बड़ा मंच दिया है। खादी भारत और थाईलैंड के बीच एक विशेष संबंध बनाता है और दोनों देश दुनिया भर में खादी को बढ़ावा देने के लिए एक साथ आने के तरीकों पर काम करेंगे।”

 रांची के सांसद  संजय सेठ ने भी दौरा किया खादी पवेलियन में रांची के सांसद  संजय सेठ ने दौरा कर खादी उत्पादों को देखा और प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के साथ सेल्फी प्वाइंट पर सेल्फी भी क्लिक की।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

प्रल्हाद जोशी ने भारत के संविधान की प्रस्तावना के ऑनलाइन वाचन और प्रश्नोत्तरी के पोर्टल लॉन्च किए

नई दिल्ली (मा.स.स.). भारत के संविधान को अंगीकृत करने और संविधान निर्माताओं के योगदान के सम्मान …