सोमवार , नवम्बर 28 2022 | 04:02:33 PM
Breaking News
Home / राष्ट्रीय / द्रौपदी मुर्मू यशवंत सिन्हा को बड़े अंतर से हरा कर बनी राष्ट्रपति

द्रौपदी मुर्मू यशवंत सिन्हा को बड़े अंतर से हरा कर बनी राष्ट्रपति

Follow us on:

नई दिल्ली (मा.स.स.). राष्ट्रपति पद के लिए एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू और विपक्ष के संयुक्त प्रत्याशी यशवंत सिन्हा के बीच मुकाबला है. आज मतदान में प्रारंभ से ही मुर्मू को बढ़त हासिल हुई. राज्यसभा और लोकसभा सदस्यों के वोटों की गिनती में मुर्मू को 540 वोट तथा सिन्हा को 208 वोट प्राप्त हुए. 15 सांसदों के वोट अमान्य घोषित हो गए. द्रौपदी को प्राप्त वोटों का मूल्य 3,78,000 तथा यशवंत को मिले वोटों का मूल्य 1,45,600 था.

राष्ट्रपति चुनाव के दूसरे चरण के परिणाम भी आ चुके हैं. इसके साथ ही द्रौपदी मुर्मू ने यशवंत सिन्हा पर एक बड़ा अंतर बना लिया है. मुर्मू को दूसरे चरण में 1349 वोट तथा सिन्हा को 537 वोट मिले. अब तक उनको मिले वोटों का मूल्य 483299 रहा, जबकि यशवंत सिन्हा को 1,89, 876 मूल्य के वोट मिले.

तीसरे दौर की गिनती समाप्त होने के बाद परिणाम आते ही द्रौपदी मुर्मू ने जीत के लिए आवश्यक 50 प्रतिशत से अधिक वोट प्राप्त कर लिए. मुर्मू को जीत के लिए कुल मतदान मूल्य  543261 वोट चाहिए थे. तीसरे दौर में ही उन्हें  कुल 577777 वोट मूल्य मिल गए. यशवंत सिन्हा को सिर्फ 261062 मतदान मूल्य ही मिल सके. इस दौर के परिणाम आने के बाद विपक्षी प्रत्याशी यशवंत सिन्हा ने अपनी हार स्वीकार करते हुए द्रौपदी मुर्मू को बधाई दी.

इस तरह मुर्मू देश की 15वीं राष्ट्रपति चुन ली गईं. वो देश की दूसरी महिला और पहली आदिवासी राष्ट्रपति भी हैं. वर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल पूरा होने के अगले दिन नए राष्ट्रपति का शपथ ग्रहण होगा. कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोविंद को विदाई भोज देंगे.

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

प्रल्हाद जोशी ने भारत के संविधान की प्रस्तावना के ऑनलाइन वाचन और प्रश्नोत्तरी के पोर्टल लॉन्च किए

नई दिल्ली (मा.स.स.). भारत के संविधान को अंगीकृत करने और संविधान निर्माताओं के योगदान के सम्मान …