शुक्रवार , अक्टूबर 07 2022 | 11:43:18 PM
Breaking News
Home / व्यापार / मुख्‍य खरीफ फसलों के उत्‍पादन के प्रथम अग्रिम अनुमान जारी

मुख्‍य खरीफ फसलों के उत्‍पादन के प्रथम अग्रिम अनुमान जारी

Follow us on:

नई दिल्ली (मा.स.स.). कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय द्वारा 2022-23 के लिए मुख्‍य खरीफ फसलों के उत्‍पादन के प्रथम अग्रिम अनुमान जारी कर दिये गये हैं। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि खरीफ सीजन में 149.92 मिलियन टन खाद्यान्न उत्पादन का अनुमान है। उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र दिन प्रतिदिन किसानों की अथक मेहनत, वैज्ञानिकों की कुशलता व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार की किसान हितैषी नीतियों के कारण विकसित हो रहा है।

प्रथम अग्रिम अनुमानों के अनुसार, 2022-23 के दौरान मुख्‍य खरीफ फसलों के अनुमानित उत्‍पादन इस प्रकार है:

  • खाद्यान्‍न –92 मिलियन टन
  • चावल – 99 मिलियन टन
  • पोषक/मोटे अनाज – 56 मिलियन टन
  • मक्का – 10 मिलियन टन (रिकॉर्ड)
  • दलहन – 37 मिलियन टन
  • तूर – 89 मिलियन टन
  • तिलहन– 23.57 मिलियन टन
  • मूंगफली – 37 मिलियन टन
  • सोयाबीन –89 मिलियन टन
  • कपास – 19 मिलियन गांठें (प्रति 170 कि. ग्रा.)
  • पटसन एवं मेस्‍टा – 09 मिलियन गांठें (प्रति 180 कि. ग्रा.)
  • गन्‍ना05 मिलियन टन (रिकॉर्ड)

वर्ष 2022-23 के लिए प्रथम अग्रिम अनुमान (केवल खरीफ) के अनुसार, देश में कुल खाद्यान्‍न उत्‍पादन 149.92 मिलियन टन अनुमानित है जो विगत पांच वर्षों (2016-17 से 2020-21) के औसत खाद्यान्‍न उत्‍पादन की तुलना में 6.98 मिलियन टन अधिक है। वर्ष 2022-23 के दौरान खरीफ चावल का कुल उत्‍पादन 104.99 मिलियन टन अनुमानित है। यह विगत पांच वर्षों (2016-17 से 2020-21) के 100.59 मिलियन टन औसत खरीफ चावल उत्‍पादन की तुलना में 4.40 मिलियन टन अधिक है। वर्ष 2022-23 के दौरान देश में मक्का का उत्‍पादन रिकॉर्ड 23.10 मिलियन टन अनुमानित है जो 19.89 मिलियन टन औसत मक्का उत्‍पादन की तुलना में 3.21 मिलियन टन अधिक है।

खरीफ पोषक /मोटे अनाज का उत्पादन 36.56 मिलियन टन अनुमानित है, जो 33.64 मिलियन टन औसत उत्‍पादन की तुलना में 2.92 मिलियन टन अधिक है। वर्ष 2022-23 के दौरान कुल खरीफ दलहन उत्‍पादन 8.37 मिलियन टन अनुमानित है। वर्ष 2022-23 के दौरान देश में कुल खरीफ तिलहन उत्‍पादन 23.57 मिलियन टन अनुमानित है औसत तिलहन उत्‍पादन की तुलना में 1.74 मिलियन टन अधिक है। वर्ष 2022-23 के दौरान देश में गन्‍ने का उत्‍पादन रिकॉर्ड 465.05 मिलियन टन अनुमानित है। 2022-23 के दौरान गन्‍ने का उत्‍पादन, 373.46 मिलियन टन औसत गन्‍ना उत्‍पादन की तुलना में 91.59 मिलियन टन अधिक है।

कपास का उत्‍पादन 34.19 मिलियन गांठें (प्रति 170 किग्रा की गांठे) तथा पटसन एवं मेस्‍ता का उत्‍पादन 10.09 मिलियन गांठें (प्रति 180 किग्रा की गांठे) अनुमानित हैं। वर्ष 2008-09 से आगे के वर्षों के तुलनात्‍मक अनुमानों के साथ वर्ष 2022-23 के लिए प्रथम अग्रिम अनुमानों के अनुसार विभिन्‍न फसलों (केवल खरीफ) के अनुमानित उत्‍पादन का ब्‍यौरा संलग्‍न है।

भारत : 1857 से 1957 (इतिहास पर एक दृष्टि) पुस्तक अपने घर/कार्यालय पर मंगाने के लिए आप निम्न लिंक पर क्लिक कर सकते हैं

https://vyaparapp.in/store/Pustaknama/15

https://www.meesho.com/hindi-paperback-history-books/p/2r4nct

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

सतत वित्त पर विशेषज्ञ समिति ने आईएफएससी को रिपोर्ट सौंपी

नई दिल्ली (मा.स.स.). अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण (आईएफएससीए) द्वारा गठित ‘सतत वित्त पर विशेषज्ञ …