रविवार, मई 19 2024 | 01:19:43 AM
Breaking News
Home / खेल / खेलो इंडिया यूथ गेम्स में पहली बार वाटर स्पोर्ट्स को शामिल किया जाएगा

खेलो इंडिया यूथ गेम्स में पहली बार वाटर स्पोर्ट्स को शामिल किया जाएगा

Follow us on:

भोपाल (मा.स.स.). खेलो इंडिया यूथ गेम्स का आगामी संस्करण मध्य प्रदेश में आयोजित किया जाएगा। इसकी घोषणा राष्ट्रीय राजधानी में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की उपस्थिति में केंद्रीय युवा कार्यक्रम और खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने की। यह खेल प्रतियोगिता 31 जनवरी, 2023 से शुरू होकर 11 फरवरी, 2023 को समाप्त होगी। गुरुवार दोपहर को हुए इस कार्यक्रम में युवा कार्यक्रम एवं खेल राज्य मंत्री निसिथ प्रमाणिक; मध्य प्रदेश सरकार में खेल और युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया; खेल सचिव सुजाता चतुर्वेदी; भारतीय खेल प्राधिकरण के महानिदेशक संदीप प्रधान और केंद्रीय खेल मंत्रालय और भारतीय खेल प्राधिकरण के साथ-साथ मध्य प्रदेश राज्य सरकार के अन्य गणमान्य व्यक्ति भी मौजूद थे।

शिवराज सिंह चौहान ने सभा को संबोधित करते हुए कहा, “मैं मध्य प्रदेश को खेलो इंडिया यूथ गेम्स की मेजबानी का मौका देने के लिए प्रधानमंत्री जी को धन्यवाद देता हूं। हम इसे अब तक के सबसे खास खेलो इंडिया गेम्स बनाने और ‘अतिथि देवो भव’ के अपने दर्शन के लिहाज से इसकी मेजबानी करने का वादा करते हैं।” मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा, “हमारे पास मध्य प्रदेश में शूटिंग और वाटर स्पोर्ट्स अकादमियों जैसे विश्वस्तरीय खेल स्टेडियम हैं। कई अन्य सुविधाएं भी निर्मित हो रही हैं। बुनियादी ढांचे में बढ़ते विकास और खेलो इंडिया यूथ गेम्स की मेजबानी करने के सौभाग्य के साथ, मुझे यकीन है कि मध्य प्रदेश में एक खेल क्रांति होगी।”

स्वदेशी खेल एक बार फिर से आगामी खेलो इंडिया यूथ गेम्स का हिस्सा होंगे इसका जिक्र करते हुए अनुराग सिंह ठाकुर ने कहा, “ओलंपिक खेलों और स्वदेशी खेलों को समान रूप से समर्थन देने का यह विजन प्रधानमंत्री जी का ही था। मैं मध्य प्रदेश को धन्यवाद देता हूं जिसने मल्लखंब को अपना राज्य खेल बनाया है।” केंद्रीय मंत्री ने कहा, “खेल राज्यों का विषय है। मुझे खुशी है कि मध्य प्रदेश जैसे राज्य हमारे खेल इकोसिस्टम के निर्माण में अपनी भूमिका निभाने के लिए आगे आ रहे हैं। सभी राज्यों को इससे सीख लेनी चाहिए और समझना चाहिए कि हमें जिला स्तर से लेकर राज्य स्तर तक खेलों के विकास के लिए समग्र रूप से योगदान देना होगा।” जमीनी स्तर पर खेलों को बढ़ावा देने में उन्होंने खेल महाकुंभ और मुख्यमंत्री कप (मध्य प्रदेश) जैसे खेल आयोजनों की भूमिका की सराहना की। अनुराग सिंह ठाकुर ने दोहराया कि खेलो इंडिया यूथ गेम्स ने देश में खेलों और खिलाड़ियों को बढ़ावा दिया है। उन्होंने कहा, यही कारण है कि हरियाणा में आयोजित पिछले खेलो इंडिया यूथ गेम्स में 12 राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़े गए।

अपनी शुभकामनाएं देते हुए निसिथ प्रमाणिक ने कहा, “मध्य प्रदेश सरकार ने पिछले कुछ वर्षों में एथलीटों का समर्थन करने के लिए हर संभव प्रयास किया है। हर राज्य को इस उदाहरण से प्रेरणा लेनी चाहिए कि कैसे एथलीटों को उनके शिखर तक पहुंचने में मदद करने के लिए पीएम का विजन आकार ले रहा है। मुझे यकीन है कि ‘महाकाल की भूमि’ में होने वाले ये आगामी खेलो इंडिया यूथ गेम्स अब तक के सबसे खास होंगे।”  यशोधरा राजे ने कहा कि सरकार ने भारत में खेलों के लिए सकारात्मक माहौल बनाने का काम किया है। भारतीय खिलाड़ी दुनिया भर में खेलों में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि विशेषकर हमारी बेटियां पदक जीतकर खेलों में भारत का गौरव लगातार बढ़ा रही हैं।

खेलो इंडिया यूथ गेम्स के आगामी संस्करण में कुल 27 स्पर्धाएं होंगी। इन खेलों के इतिहास में पहली बार वाटर स्पोर्ट्स को भी शामिल किया जा रहा है। कनोइ स्लैलम, कायकिंग, कैनोइंग और रोइंग जैसे नए खेल भी दूसरे सामान्य खेलों और स्वदेशी खेलों के साथ-साथ मौजूद होंगे। ये खेल मध्य प्रदेश के आठ शहरों- भोपाल, इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर, जबलपुर, मंडला, खरगोन (महेश्वर) और बालाघाट में आयोजित होंगे।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

डोप टेस्ट न देने के आरोप में नाडा ने बजरंग पूनिया को किया सस्पेंड

नई दिल्ली. टोक्यो ओलंपिक के ब्रॉन्ज मेडल विजेता बजरंग पूनिया पर नेशनल एंट्री डोपिंग एजेंसी …