रविवार, मई 19 2024 | 01:11:59 AM
Breaking News
Home / व्यापार / कल्पतरु-उद्यमशीलता उद्योग केंद्र 4.0 का साझेदारी सर्वोच्च सम्मेलन राष्ट्रीय इस्पात निगम लिमिटेड में किया आयोजित

कल्पतरु-उद्यमशीलता उद्योग केंद्र 4.0 का साझेदारी सर्वोच्च सम्मेलन राष्ट्रीय इस्पात निगम लिमिटेड में किया आयोजित

Follow us on:

नई दिल्ली (मा.स.स.). राष्ट्रीय इस्पात निगम लिमिटेड (आरआईएनएल), केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, आंध्रप्रदेश सरकार तथा सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क्स ऑफ इंडिया (एसटीपीआई) के समूह ने आरआईएनएल, विशाखापत्तनम इस्पात संयंत्र में उद्योग 4.0 (चौथी औद्योगिक क्रांति) पर उद्यमशीलता केंद्र-कल्पतरु (सीओई-कल्पतरु) का गठन किया है। आरआईएनएल में कंपनी के उद्यमशीलता केंद्र के बारे में सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिये शुक्रवार को साझेदारी सर्वोच्च सम्मेलन का आयोजन किया गया।

कल्पतरु, उद्यमशीलता उद्योग केंद्र 4.0 (सीओई) के मुख्य सलाहकार तथा आरआईएनएल के सीएमडी अतुल भट्ट ने कहा कि आरआईएनएल स्थित सीओई देशभर में इस्पात तथा अन्य उद्योगों के लिये कई स्टार्ट-अप को प्रोत्साहित करेगा। उन्होंने भरोसा जताया कि आरआईएनएल स्थित कल्पतरु, उद्यमशीलता उद्योग केंद्र 4.0 (सीओई) भारतीय इस्पात उद्योग को डिजिटल समाधान उपलब्ध कराने का केंद्र होगा। अतुल भट्ट ने आश्वासन दिया कि आरआईएनएल स्थित कल्पतरु, उद्यमशीलता उद्योग केंद्र 4.0 (सीओई) को आगे बढ़ाने के लिये हर संभव सहयोग दिया जायेगा।

इस अवसर पर एसटीपीआई के महानिदेशक अरविन्द कुमार ने साझीदार उद्योगों का स्वागत किया और उनसे आग्रह किया कि वे अपने-अपने संगठनों में उद्योग 4.0 के जल्द क्रियान्वयन करने का लाभ लेने के लिये सीओई के साथ जुड़ जायें। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि आरआईएनएल स्थित कल्पतरु, उद्यमशीलता उद्योग केंद्र 4.0 (सीओई), जो 21वां उद्यमशीलता केंद्र है, वह भारतीय उद्योग के सामने मौजूद विभिन्न चुनौतियों का समाधान उपलब्ध कराने में सफल होगा। अरविन्द कुमार ने कहा, “सरकार का उद्देश्य है कि देशभर में अधिक से अधिक स्टार्ट-अप का सहयोग किया जाये।”

आरआईएनएल के निदेशक (संचालन) और परियोजना प्रबंधन समूह-कल्पतरु के सदस्य ए.के. सक्सेना ने साझीदार उद्योगों का स्वागत किया और उन्हें रायबरेली स्थित आरआईएनएल के फोर्ज्ड व्हील संयंत्र का अवलोकन करने को आमंत्रित किया, जहां उद्योग 4.0 मानकों को क्रियान्वित किया जा रहा है। हिंदुस्तान शिपयार्ड लिमिटेड के सीएमडी कॉमोडोर हेमंत खत्री, एनटीपीसी-सिम्हाद्री के व्यापार इकाई प्रमुख गिरीश चंद्र चौकसे, कुद्रेमुख लौह अयस्क कंपनी लिमिटेड के निदेशक (वाणिज्यिक) महापात्रा, हिंदुस्तान शिपयार्ड लिमिटेड के निदेशक (वित्त) एसवी रामबाबू, एसटीपीआई के निदेशक सीवीडी रामप्रसाद तथा आरआईएनएल और अन्य सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों के वरिष्ठ अधिकारियों ने सम्मेलन में हिस्सा लिया। एसटीपीआई-विशाखापत्तनम के अतिरिक्त निदेशक और प्रभारी अधिकारी डॉ. बी. सुरेश ने परियोजना कल्पतरु के बारे में जानकारी दी।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

एयर इंडिया ने सामूहिक छुट्टी पर जाने वाले 25 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला

मुंबई. टाटा ग्रुप (Tata Group) के स्वामित्व वाली एयर इंडिया एक्सप्रेस (Air India Express) ने …