सोमवार , अगस्त 15 2022 | 10:13:01 PM
Breaking News
Home / राष्ट्रीय / नशीली दवाओं की तस्करी और राष्ट्रीय सुरक्षा पर आयोजित हुआ राष्ट्रीय सम्मेलन

नशीली दवाओं की तस्करी और राष्ट्रीय सुरक्षा पर आयोजित हुआ राष्ट्रीय सम्मेलन

Follow us on:

चंडीगढ़ (मा.स.स.). केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में चंडीगढ़ में नशीली दवाओं की तस्करी और राष्ट्रीय सुरक्षा के बारे में राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया गया, जिसमें सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, जम्मू और कश्मीर के उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा पंजाब के राज्यपाल और चंडीगढ़ के प्रशासक बनवारीलाल पुरोहित, गृह सचिव अजय कुमार भल्ला, सामाजिक न्याय और अधिकारिता सचिव, आर. सुब्रह्मण्यम और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के महानिदेशक सत्य नारायण प्रधान ने भी भाग लिया।

इस कार्यक्रम में मंच पर मौजूद सभी गणमान्य व्यक्तियों द्वारा नवचेतना (स्कूली बच्चों के लिए जीवन कौशल और नशीली दवाओं की शिक्षा के बारे में नई चेतना) के कक्षा 6 से 8 और कक्षा 9 से 11 तक के छात्रों के लिए दो मॉड्यूल लॉन्च किए गए, जो मूल रूप से एक शिक्षक प्रशिक्षण मॉड्यूल हैं। ये मॉड्यूल भारत के स्कूलों के छात्रों में जीवन कौशल और नशीली दवाओं के बारे में जागरूकता और शिक्षा में बढ़ोतरी करेंगे। इसके अलावा नवचेतना की पहुंच और प्रभाव को मजबूत करते हुए प्रशिक्षण सामग्री का देश की 12 क्षेत्रीय भाषाओं में अनुवाद किया जा रहा है।

शिक्षक सहायता के रूप में प्रत्येक मॉड्यूल एक वीडियो के रूप में उपलब्ध होगा, जिसे दीक्षा पोर्टल (शिक्षा मंत्रालय का डिजिटल शैक्षिक मंच) पर अपलोड किया जाएगा। मंत्रालय ने एक वर्ष में नवचेतना मॉड्यूल के माध्यम से 10 लाख शिक्षकों और 2.4 करोड़ छात्रों के बीच जागरूकता पैदा करने का लक्ष्य रखा है। इस कार्यक्रम के दौरान नशामुक्त भारत अभियान (एनएमबीए) के बारे में एक फिल्म प्रस्तुत की गई, जो जागरूकता कार्यक्रम की यात्रा को दर्शाती है और यह 3 करोड़ युवाओं, 2 करोड़ महिलाओं और 1 लाख शैक्षणिक संस्थानों सहित 8 करोड़ से अधिक आबादी तक पहुंची है। इस वीडियो के माध्यम से प्रधानमंत्री के संदेश को आम जनता तक पहुंचाया गया।

इसके बाद, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह द्वारा एनएमबीए में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले तीन राज्यों और तीन जिलों को एनएमबीए पुरस्कार प्रदान किए गए। ये राज्य हैं- मध्य प्रदेश (प्रथम पुरस्कार), जम्मू-कश्मीर (दूसरा पुरस्कार) और गुजरात (तीसरा पुरस्कार)। सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले तीन एनएमबीए जिले हैं- दतिया (प्रथम स्थान), थौबल (द्वितीय स्थान) और चंडीगढ़ (तीसरा स्थान)।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

आजादी के अमृत महोत्सव के वर्ष में सकल्प लें कि सहकारिता आंदोलन सदियों तक चले : अमित शाह

नई दिल्ली (मा.स.स.). केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने आज नई दिल्ली के …