शुक्रवार , सितम्बर 30 2022 | 03:47:38 PM
Breaking News
Home / व्यापार / भारतीय रेल ने अगस्त में पिछले 24 महीने की सर्वाधिक मासिक माल ढुलाई की

भारतीय रेल ने अगस्त में पिछले 24 महीने की सर्वाधिक मासिक माल ढुलाई की

Follow us on:

नई दिल्ली (मा.स.स.). भारतीय रेल ने अगस्त 2022 में 119.32 एमटी मासिक माल ढुलाई करके माल ढुलाई के मामले में अब तक के सर्वश्रेष्ठ अगस्त माह के रूप में दर्ज किया है। अगस्त 2022 में वर्ष 2021 के सर्वश्रेष्ठ अगस्त माह में की गई माल ढुलाई के आंकड़ों की तुलना में 8.69 एमटी यानी 7.86 प्रतिशत अधिक माल ढुलाई की गई है। इसके साथ, भारतीय रेल ने माल ढुलाई के मामले में लगातार 24 महीने को सर्वश्रेष्ठ महीनों के रूप में दर्ज किया है।

भारतीय रेल ने कोयले की ढुलाई में 9.2 एमटी की वृद्धि दर्ज की है, इसके बाद उर्वरक में 0.71 एमटी, शेष अन्य सामानों में 0.68 एमटी और 0.62 एमटी कंटेनर शामिल हैं। वित्त वर्ष 2022-23 में ऑटोमोबाइल लोडिंग में वृद्धि माल ढुलाई व्यवसाय का एक और आकर्षण रहा है और वित्त वर्ष 2022-23 में अगस्त तक 2206 रेक लोड किए गए हैं, जबकि पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 1314 रेक यानी 68 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी। 1 अप्रैल, 2022 से 31 अगस्त, 2022 तक कुल मिलाकर माल लदान 620.87 एमटी रहा है, जबकि 2021-22 में 562.75 एमटी हासिल किया गया था, यानी पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 10.32 प्रतिशत की वृद्धि के साथ माल ढुलाई में 58.11 एमटी की वृद्धि दर्ज की गई।

माल ढुलाई एनटीकेएम (नेट टन किलोमीटर) अगस्त 2021 में 63 बिलियन से बढ़कर अगस्त 2022 में 73 बिलियन हो गई है, जिसमें 16 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। पहले पांच महीनों में संचयी एनटीकेएम में भी 18.29 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। बिजली और कोयला मंत्रालय के साथ निकट समन्वय में, बिजली घरों को कोयले की आपूर्ति बढ़ाने के लिए भारतीय रेल के निरंतर प्रयास अगस्त के महीने में माल ढुलाई के प्रदर्शन की प्रमुख विशेषताओं में से एक रहा है। बिजली घरों में कोयले की लदान (घरेलू और आयातित दोनों) अगस्त में 10.46 एमटी की वृद्धि हुई है, जिसमें 44.64 एमटी कोयले को पिछले वर्ष 34.18 एमटी के मुकाबले बिजली घरों में ले जाया गया था, यानी 31 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई।

कुल मिलाकर, वर्ष के पहले पांच महीनों में, भारतीय रेल ने पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 32 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि के साथ 58.41 एमटी से अधिक अतिरिक्त कोयला बिजली घरों के लिए ढुलाई की है। सामग्री के अनुसार वृद्धि की संख्या यह दर्शाती है कि भारतीय रेल ने लगभग सभी सामग्री खंडों में निम्नलिखित वृद्धि दर के साथ प्रभावशाली वृद्धि हासिल की है:

 

सामग्री  वृद्धि (एमटी)  प्रतिशत वृद्धि
 कोयला 9.20 19.26
 उर्वरक 0.71 17.10
शेष अन्य सामग्री 0.68 7.69
कंटेनर 0.62 9.39
पीओएल 0.28 7.80

 

भारत : 1857 से 1957 (इतिहास पर एक दृष्टि) पुस्तक अपने घर/कार्यालय पर मंगाने के लिए आप निम्न लिंक पर क्लिक कर सकते हैं

https://vyaparapp.in/store/Pustaknama/15

 

 

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

कोल इंडिया ने कोयला से रासायनिक उत्पादों के लिए किया समझौता

नई दिल्ली (मा.स.स.). भूतल कोयला गैसीकरण (एससीजी) मार्ग के माध्यम से कोयला-से-रासायनिक परियोजनाओं की स्थापना …