गुरुवार , दिसम्बर 08 2022 | 03:59:44 PM
Breaking News
Home / राज्य / दक्षिण-भारत / मोदी सरकार ने इनके जीवन में जीने की जीजिविषा जगाने का काम किया है : अमित शाह

मोदी सरकार ने इनके जीवन में जीने की जीजिविषा जगाने का काम किया है : अमित शाह

Follow us on:

चेन्नई (मा.स.स.). केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने आज तमिलनाडु के चेन्नई में इंडिया सीमेंट लिमिटेड के प्लेटिनम जुबली समारोह को संबोधित किया। इस अवसर पर तमिलनाडु के राज्यपाल आर एन रवि सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। अपने संबोधन में केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि कोई भी संस्था अपने क्षेत्र में लीडर के रूप में उभरती है तभी 75 साल की उसकी यात्रा समाप्त होती है। उन्होंने कहा कि खेल संगठन में पारदर्शिता लाने, संभावनाओं को एक्सप्लोर करने और खिलाड़ियों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए निवासन जी ने एक नया रास्ता दिखाया है।

अमित शाह ने कहा कि किसी भी देश को विकसित होने के लिए मूल ज़रूरत है कि उसका इन्फ्रास्ट्रक्चर अच्छा होना चाहिए और इसके लिए ज़रूरी है कि देश सीमेंट के उत्पादन में आत्मनिर्भर बने। उन्होंने कहा कि इंडिया सीमेंट ने सीमेंट के क्षेत्र में संस्थापक उद्योग के नाते बहुत बड़ा योगदान देकर 15.5 मिलियन टन की क्षमता और 10 फैक्ट्री के साथ खुद को इस क्षेत्र की सबसे अग्रणी कंपनियों में से एक बनाया है। केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि पिछले 8 वर्षों में देश के विकास और अर्थतंत्र को मज़बूत करने की दिशा में बहुत अच्छा काम किया गया है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2025 में भारत 5 ट्रिलियन डॉलर वाली अर्थव्यवस्था अवश्य बन जाएगा क्योंकि 8 सालों में भारत की अर्थव्यवस्था ब्रिटेन को पीछे छोड़कर दुनिया में 11वें स्थान से 5वें स्थान पर आ गई है।

उन्होंने कहा कि हाल ही में आई मॉर्गन-स्टेनली की रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2027 में भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा और इसके लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर बहुत ज़रूरी है। शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में सरकार कई क्षेत्रों में पारदर्शी नीतियां लाकर अनेक संभावनाओं के द्वार खोले हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने रक्षा क्षेत्र में निवेश लाने की सबसे अधिक संभावना तमिलनाडु को दी है और इसका एक बेहतरीन उदाहरण तमिलनाडु डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर है जिसमें चेन्नई, तिरूचिरापल्ली, कोयम्बटूर, सलेम और होसुर शामिल हैं। शाह ने कहा कि मोदी जी के नेतृत्व में देश में हर क्षेत्र में पिछले 8 सालों में पारदर्शी नीतियों के कारण कई उपलब्धियां हासिल की गई हैं।

शाह ने कहा कि शोध और अनुसंधान को बढ़ावा देने के लिए भी केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार कई क्षेत्रों में नई नीतियां लाई है। उन्होंने कहा कि कोविड की वैश्विक महामारी के दौरान भारत कुछ चुनिन्दा देशों में से था जिन्होंने सबसे पहले स्वदेशी वैक्सीन बनाई और आज तक हम 225 करोड़ टीके लगा चुके हैं। शाह ने कहा कि 85 देशों को वैक्सीन भेजकर दुनिया को भी सुरक्षित करने का काम भारत ने किया है। उन्होंने कहा कि देश की 60 करोड़ जनता का देश की अर्थव्यवस्था में कोई योगदान नहीं था लेकिन नरेन्द्र मोदी सरकार ने इन 60 करोड़ लोगों को शौचालय, बिजली, घर, गैस सिलिंडर और 5 लाख रूपए तक का स्वास्थ्य का खर्च उठाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि इसके कारण इन 60 करोड़ लोगों का जीवनस्तर ऊपर उठा है और अब एस्पिरेशन के साथ ये लोग देश की अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने के लिए देश के साथ जुड़े हैं। शाह ने कहा कि इन 60 करोड़ लोगों के जीवन में जीने की जीजिविषा जगाने का इतना बड़ा काम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने किया है।

केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि आज भारत राजनीतिक स्थिरता और भ्रष्टाचार मुक्त शासन के कारण द्रुत गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था है और हमारी उपलब्धियों को पूरी दुनिया स्वीकार रही है। उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने भारतीय अर्थव्यवस्था को डार्क जोन में एक ब्राईट स्पॉट बताया है। शाह ने कहा कि मोदी सरकार ने व्यय (एक्सपेंडीचर) पर फोकस किया जिसके चलते 2022-23 का पूंजीगत व्यय (केपिटल एक्सपेंडीचर) पिछले साल की तुलना में 46.8 फीसदी ज्यादा हुआ और जीएसटी कलेक्शन भी 2022 में 1,51,718 करोड़ रुपये था जो अब तक का दूसरा अधिकतम आंकड़ा है। उन्होंने कहा कि अक्टूबर 2022 में यूपीआई ट्रांजेक्शन की वैल्यू 12.11 लाख करोड़ रुपये रही और अक्टूबर में ही वाहनों की बिक्री 21 लाख यूनिट रही जो पिछले साल की तुलना में 7 लाख अधिक है।

अमित शाह ने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार ने तमिलनाडु के विकास को हमेशा प्राथमिकता दी है। वर्ष 2009-14 में जहां तमिलनाडु को टैक्स डेव्यूलेशन के 62 हजार करोड़ रुपये मिलते थे लेकिन पिछले पांच सालों में 91 फीसदी की वृद्धि के साथ अब 1,19,455 करोड़ रुपये तमिलनाडु को मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि ग्रांट-एन-एड को 171 फीसदी की वृद्धि के साथ 35 हजार करोड़ रुपये से बढ़ाकर 95,734 करोड़ रुपये कर दिया गया। वित्तीय वर्ष 2009-10 में तमिलनाडु को वित्त आयोग का अनुदान 928 करोड़ रुपये था जो वित्तीय वर्ष 2022-23 में बढ़कर 6 हजार करोड़ रुपये हो गया। उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने तमिलनाडु में नेशनल हाइवे पर वार्षिक 8700 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। शाह ने कहा कि भारतमाला परियोजना के तहत 91,570 करोड़ रुपये के 2,800 किमी से अधिक के सड़क प्रोजेक्टस् को अप्रूव कर काम शुरु किया गया है और भारत सरकार ने 47,589 करोड़ रुपये के अन्य 64 प्रोजेक्टस् तमिलनाडु को दिए हैं। राज्य में एक हजार मेगावाट की नेवेली थर्मल विद्युत परियोजना शुरु की गयी है और चेन्नई मैट्रो फेज-1 का विस्तार 3,770 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है और इसके साथ ही नरेंद्र मोदी सरकार ने तमिलनाडु को 1450 सीटों के साथ 11 नये मेडिकल कॉलेज भी दिए हैं।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि तमिल भाषा और इसका व्याकरण विश्व की सबसे पुरानी भाषाओं और व्याकरण में से एक है और इसे बढ़ावा देकर समृद्ध करना पूरे देश की जिम्मेदारी है। उन्होंने तमिलनाडु सरकार से अनुरोध किया कि अन्य राज्यों की तरह यहां भी मेडिकल कॉलेजों में तमिल भाषा में पढ़ाई की शुरुआत करे ताकि तमिल मीडियम में पढ़ने वाले बच्चों को मेडिकल साइंस समझने में आसानी हो और वे इस क्षेत्र में रिसर्च और डेवलपमेंट कर देश में अपना योगदान दे सकें। उन्होंने कहा कि अगर तमिलनाडु सरकार मेडिकल और इंजीनियरिंग में तमिल भाषा में पढ़ाई पर ध्यान देगी तो ये तमिल भाषा की बहुत बड़ी सेवा होगी।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

ब्लू इकोनॉमी पहली बार देश की इतनी बड़ी प्राथमिकता बनी है : नरेंद्र मोदी

विशाखापत्तनम (मा.स.स.). प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज विशाखापत्तनम, आंध्र प्रदेश में 10,500 करोड़ रुपये से अधिक कीमत की …