बुधवार , दिसम्बर 07 2022 | 09:18:42 AM
Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / भारत-जापान के बीच आयोजित हुई पहली वित्त वार्ता

भारत-जापान के बीच आयोजित हुई पहली वित्त वार्ता

Follow us on:

नई दिल्ली (मा.स.स.). जापान के अंतर्राष्ट्रीय मामलों के वित्त उप-मंत्री मासातो कांडा और वित्त मंत्रालय के आर्थिक कार्य विभाग के सचिव अजय सेठ के बीच आज नई दिल्ली में पहली भारत-जापान वित्त वार्ता का आयोजन किया गया। हाल के वर्षों में भारत-जापान के बीच संबंधों के बढ़ते महत्व को देखते हुए, उप महानिदेशक के स्तर पर आयोजित की गई भारत-जापान वित्तीय सहयोग पर वार्ता को उप-मंत्री/सचिव के स्तर तक उन्नत किया गया।

जापान के प्रतिनिधिमंडल में वित्त मंत्रालय, वित्तीय सेवा एजेंसी और वित्तीय संस्थानों के प्रतिनिधि शामिल थे। भारतीय पक्ष की ओर से, वित्त मंत्रालय, भारतीय रिजर्व बैंक, भारतीय बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण, भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड तथा वित्तीय संस्थानों के प्रतिनिधियों ने चर्चा में भाग लिया।

प्रतिभागियों ने दोनों देशों में व्यापक आर्थिक स्थिति, वित्तीय प्रणाली, वित्तीय डिजिटलीकरण और निवेश संबंधी वातावरण के बारे में अपने विचारों का आदान-प्रदान किया और पुष्टि की कि दोनों पक्ष एक साथ मिलकर काम करना जारी रखेंगे क्योंकि वे अगले साल जी-20 और जी-7 की अध्यक्षता करेंगे। निजी वित्तीय संस्थानों सहित प्रतिभागियों ने भारत में निवेश के और विस्तार की दिशा में विभिन्न वित्तीय विनियमन मुद्दों पर भी चर्चा की।

दोनों पक्ष वित्तीय सहयोग को और बढ़ावा देने तथा द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए चर्चा जारी रखने पर सहमत हुए और अगले दौर की वार्ता को टोक्यो में आयोजित करने की संभावनाओं पर सहमत हुए।

यह भी पढ़ें : बजरंग दल ने किया शांतिपूर्ण प्रदर्शन, पढ़ी हनुमान चालीसा

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

भारतीय अर्थव्यवस्था के सुदृढ़ीकरण को गति देने में भारतीय नागरिकों के कर्तव्य

– प्रहलाद सबनानी अभी हाल ही में अमेरिका के निवेश के सम्बंध में सलाह देने …