शुक्रवार , सितम्बर 30 2022 | 04:11:54 PM
Breaking News
Home / राज्य / महाराष्ट्र / डीएफपीडी के सचिव ने किया मंजरी गांव में वसंतदादा चीनी संस्थान का दौरा

डीएफपीडी के सचिव ने किया मंजरी गांव में वसंतदादा चीनी संस्थान का दौरा

Follow us on:

मुंबई (मा.स.स.). खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग (डीएफपीडी) के सचिव सुधांशु पांडे ने मंजरी गांव में वसंतदादा चीनी संस्थान (वीएसआई) का दौरा किया। अपने इस दौरे के दौरान, सचिव ने गन्ना उद्योग के विभिन्न उत्पादों और उप-उत्पादों को विकसित करने के लिए परिसर में स्थापित एनएबीएल मान्यता प्राप्त प्रयोगशालाओं के कामकाज की समीक्षा की। उन्होंने संस्थान की अनुसंधान और विकास गतिविधियों और तकनीकी सहायता के माध्यम से चीनी उद्योग के विकास में इसके योगदान के लिए संस्थान के कामकाज की भी प्रशंसा की। गौरतलब है कि संस्थान उद्योग के विभिन्न उत्पादों के लिए एफएसएसएआई के अंतर्गत प्रमाणन जारी करता है।

वीएसआई ने कई चीनी मिलों, विशेष रूप से महाराष्ट्र में सहकारी क्षेत्र में परामर्श सेवाएं प्रदान करके महाराष्ट्र में चीनी उद्योग के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इस प्रकार वीएसआई ने 137 लाख मीट्रिक टन से अधिक चीनी के उत्पादन और प्रति वर्ष लगभग 225 करोड़ लीटर इथेनॉल की क्षमता के साथ महाराष्ट्र को भारत का शीर्ष चीनी और इथेनॉल उत्पादक राज्य बनाने में सही मायनों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

यह ध्यान देने योग्‍य है कि महाराष्ट्र में सहकारी चीनी कारखानों के गन्ना उत्पादक सदस्यों द्वारा स्थापित संस्थान, 385 एकड़ क्षेत्र में फैला है और एक ही स्‍थल पर चीनी उद्योग से संबंधित सभी वैज्ञानिक, तकनीकी और शैक्षिक कार्य करता है। यह तीन मुख्य माध्‍यमों जैसे अकादमिक, विस्तार और अनुसंधान एवं विकास के माध्यम से संचालित होता है। सचिव ने वीएसआई के भीतर सभी प्रमुख विभागों और अनुसंधान प्रयोगशालाओं का भी दौरा करते हुए चीनी क्षेत्र और इथेनॉल कार्यक्रम के मुख्य पहलुओं पर चर्चा और इसकी समीक्षा की।

यात्रा के दौरान वीएसआई टीम द्वारा वीएसआई के इतिहास, इसके समग्र संगठनात्मक कामकाज, विभिन्न क्षेत्रों में चल रहे शोध कार्य और उपलब्धियों पर एक प्रस्तुति भी दी गई। इस अवसर पर महाराष्‍ट्र सरकार के चीनी आयुक्त शेखर गायकवाड़, सेवानिवृत्त आईएएस शिवाजीराव देशमुख, वीएसआई के महानिदेशक संभाजी कडुपाटिल, सेवानिवृत्त आईएएस, वीएसआई के ऑफिसर ऑन स्‍पेशल ड्यूटी (ओएसडी) और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

भारत : 1857 से 1957 (इतिहास पर एक दृष्टि) पुस्तक अपने घर/कार्यालय पर मंगाने के लिए आप निम्न लिंक पर क्लिक कर सकते हैं

https://vyaparapp.in/store/Pustaknama/15

https://www.meesho.com/hindi-paperback-history-books/p/2r4nct

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण ने ‘एबीडीएम हैक्थॉन श्रृंखला’ के पहले हैक्थॉन किया प्रारंभ

मुंबई (मा.स.स.). राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (एनएचए) आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन हैक्थॉन श्रृंखला के अंतर्गत अपना …