शुक्रवार , अप्रेल 12 2024 | 05:00:32 PM
Breaking News
Home / राष्ट्रीय / रक्षा उत्पादन विभाग ने चलाया स्वच्छता पर विशेष अभियान

रक्षा उत्पादन विभाग ने चलाया स्वच्छता पर विशेष अभियान

Follow us on:

नई दिल्ली (मा.स.स.). रक्षा उत्पादन विभाग ने देश भर में 294 स्थलों पर स्वच्छता अभियान चलाया है। विभाग ने इस अवधि के दौरान संसद सदस्यों से 9 लंबित मुद्दों, प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा बताई गई 1 लोक शिकायत और 231 आम जनता की शिकायतों का भी निपटारा किया है। लगभग 850 भौतिक फाइलों की समीक्षा की जा चुकी है, इनमें से 322 फाइलों को हटा दिया गया है। कबाड़ की बिक्री से अब तक राजस्व में 10,72,00,960 बनाए गए हैं और 75,145 वर्ग फुट जगह खाली कर दी गई है ।

रक्षा उत्पादन विभाग दिनांक 2 अक्टूबर 2022 से नई दिल्ली में स्थित अपने कार्यालयों और सभी क्षेत्रीय कार्यालयों एवं स्थानीय इकाइयों में स्वच्छता पर विशेष अभियान 2.0 चला रहा है। 14 सितंबर से 30 सितंबर, 2022 तक इस अभियान का प्रारंभिक चरण शुरू हुआ, जिस दौरान अभियान अवधि के लिए लक्ष्य निर्धारित किए गए। इस वर्ष फील्ड/ बाहरी कार्यालयों पर विशेष जोर दिया जा रहा है। इस अभियान के दौरान पब्लिक इंटरफेस और सर्विस डिलीवरी के लिए जिम्मेदार कार्यालयों को प्राथमिकता दी जा रही है।

विशेष अभियान 2.0 के दौरान स्वच्छता अभियान के लिए चिन्हित कुल 358 बाहरी स्थलों में से 294 स्थलों को पहले ही कवर किया जा चुका है। ऐसे बाहरी स्थलों में 16 रक्षा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम और कारखाना इकाइयां आदि शामिल हैं। रक्षा उत्पादन विभाग विशेष अभियान 2.0 की कुशल निगरानी सुनिश्चित करने के लिए रक्षा मंत्रालय द्वारा विकसित एक ऑनलाइन डैशबोर्ड/ पोर्टल में भी योगदान दे रहा है।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त राजीव कुमार को दी गई जेड श्रेणी की सुरक्षा

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार को पूरे देश में केन्द्रीय रिजर्व …